UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा)

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा)

कम्प्यूटर का विकास क्रम

बच्चो, पिछली कक्षा में आपने पढ़ा था कि मनुष्य ने गणना के कार्य को आसान करने के लिए अबाकस जैसा उपकरण बनाया। इसके हजारों साल बाद चार्ल्स बैबेज़ ने डिफरेन्स इंजन के नाम से मशीन बनाई। इसी वजह से उन्हें कम्प्यूटर का जनक कहा गया। (UPBoardSolutions.com) जिस कम्प्यूटर को हम आज प्रयोग करते हैं, उसके विकास क्रम में बहुत से लोगों का महान योगदान रहा है। आइए इस अध्याय में कम्प्यूटर के विकास क्रम को और समझते हैं।

UP Board Solutions

डिफरेन्स इंजन से एनालिटिकल इंजन:
1791 में इंग्लैंड के एक गणितज्ञ ने कुछ समीकरणों को हल करते समय पाया कि वे जिस सारणी का इस्तेमाल कर रहे हैं, उसमें बहुत-सी गलतियाँ हैं। इस गणितज्ञ का नाम चार्ल्स बैबेज़ था। बैबेज़ ने सोचा कि वह एक ऐसी मशीन बनाए, जो समीकरणों के अन्तर का हिसाब ठीक-ठीक तरह से करके उन्हें हल कर सकें। इसलिए उन्होंने एक मैकेनिकल यंत्र बनाया, जिसका नाम डिफरेन्स इंजन रखा। डिफरेन्स इंजन समीकरणों और सारणियों के (UPBoardSolutions.com) संदर्भ में सही फिट बैठा।

इंग्लैंड की सरकार ने इस प्रयास से प्रसन्न होकर सन् 1830 में उन्हें सरकारी मदद प्रदान की और उन्होंने इस मशीन में सुधार करके एनॉलिटिकल इंजन के नाम से एक दूसरी मशीन का डिज़ाइन बनाया।

लेकिन उनकी बढ़ती उम्र और गिरते स्वास्थ्य ने उनके जीते जी यह प्रयास पूरा नहीं होने दिया। इस तरह से उन मशीनों के बनने की शुरुआत हुई, जिनसे गणनाओं का कार्य आसानी से किया जा सके।

हरमन हालिरिथ : टैबुलेटिंग मशीन से आईबीएम तक:
सन् 1880 में अमेरिकन सरकार ने अपने यहाँ जनगणना का कार्य प्रारम्भ कराया। इसमें उन्हें लगभग सात वर्ष लगे। उन्होंने जनगणना की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन किया और उसमें वैज्ञानिकों को उनके द्वारा (UPBoardSolutions.com) बनाई गई मशीनों के साथ आमंत्रित किया गया।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 1

इसमें हरमन हालिरिथ नाम के एक वैज्ञानिक की टैबुलेटिंग मशीन को सर्वश्रेष्ठ चुना गया और उनकी बताई प्रक्रिया की वजह से अमेरिकन सरकार ने सन् 1890 के जनगणना के परिणाम को केवल डेढ़ महीने में ही घोषित कर दिया।

UP Board Solutions

यहाँ पर जब हम बैबेज़ और हालिरिथ की मशीनों के बीच (UPBoardSolutions.com) मूल अन्तर पर नजर डालते हैं तो एक मूल अन्तर इन दोनों मशीनों में पता चलता है। जहाँ बैबेज़ की मशीन यांत्रिक थी, वहीं हालिरिथ की मशीन ने इलेक्ट्रिक शक्ति का प्रयोग किया था।

कम्प्यूटर की पीढ़ियाँ:
कम्प्यूटर की पहली पीढ़ी 1951-1958 के बीच की मानी जाती है। कहते हैं कि व्यावसायिक कम्प्यूटर युग की शुरुआत 14 जून, 1951 को हुई थी। इसी दिन। यूनीवर्सल ऑटोमेटिक कम्प्यूटर का प्रयोग जनगणना के उद्देश्य से किया गया था। (UPBoardSolutions.com)
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 2

इस कम्प्यूटर में वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल हुआ था और इसी दिन पहली बार कम्प्यूटर का इस्तेमाल सेना, वैज्ञानिक और दूसरे इंजीनियरिंग कार्यों के अलावा व्यापार के लिए किया गया।

कम्प्यूटर युग का दूसरी पीढ़ी का समय वैज्ञानिकों ने 1959 से 1964 (UPBoardSolutions.com) तक निर्धारित कर दिया। इस पीढ़ी की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि इसमें वैक्यूम ट्यूब की जगह ट्रांजिस्टर का उपयोग होने लगा था।

UP Board Solutions

प्रसिद्ध बैल प्रयोगशाला के तीन प्रमुख वैज्ञानिकों जेबाडीन, एचडब्ल्यू ब्रिटेन, और डब्ल्यू साकले ने मिलकर ट्रांजिस्टर का विकास किया था।

कम्प्यूटर की तीसरी पीढ़ी के समय को वैज्ञानिकों ने सन 1965 से 1970 के बीच का निर्धारित किया है। वास्तव में हम कम्प्यूटर की तीसरी पीढ़ी को ही क्रांतिकारी समय मान सकते हैं। यह वह समय है इंटीग्रेटेड सर्किट अर्थात् आईसी का प्रयोग कम्प्यूटर (UPBoardSolutions.com) में प्रारंभ हुआ।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 1

चौथी पीढ़ी को लोग 1971 से 1990 के बीच का मानते हैं। (UPBoardSolutions.com) 1970 के दशक इंटीग्रेटेड सर्किट में कम्प्यूटर की कार्य क्षमता में अविश्वसनीय वृद्धि हुई। लेकिन वास्तविक रूप में चौथी पीढ़ी कम्प्यूटरों के तीसरी पीढ़ी का ही विस्तार तकनीक थी।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 2

लेकिन सन् 1971 में पहली बार माइक्रो प्रोसेसर बाजार में आया। माइक्रोप्रसिसर जिसकी वजह से ही कम्प्यूटर की शक्ति में बहुत ही इजाफा हुआ। वर्तमान समय में हम पाँचवीं पीढ़ी के कम्प्यूटरों का प्रयोग कर रहे हैं। इसी के तहत आज पेंटियम प्रोसेसर (UPBoardSolutions.com) बाजार में उपलब्ध है।

UP Board Solutions

मख भाग और कार्य प्रणाली

बच्चो, कम्प्यूटर मूल रूप से तीन भागों में विभाजित होता है। इन्हें आप इनपुट यूनिट, (UPBoardSolutions.com) प्रोसेसिंग और आउटपुट यूनिट के नाम से जानते हैं। निम्न रेखाचित्र में आप इसे देखकर समझ भी सकते हैं –
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 3

इनपुट करने के लिए की-बोर्ड और माउस, प्रोसेसिंग के लिए सीपीयू और आउटपुट के लिए मॉनीटर एवं प्रिंटर का प्रयोग होता है। इसके अलावा वर्तमान समय में इनपुट और आउटपुट के लिए कई नए-नए उपकरणों का प्रयोग किया जाने लगा है।

इनपुट करने के लिए स्कैनर, माइक, ट्रैकबाल, ज्वाय स्टिक और (UPBoardSolutions.com) डिजिटल कैमरों का प्रयोग होने लगा है, वहीं आउटपूट के लिए स्पीकरों और इमेजसेटर जैसी मशीनों का प्रयोग किया जाने लगा है।

UP Board Solutions

माइक के द्वारा आप बोलकर आवाज़ को कम्प्यूटर में इनपुट कर सकते हैं। यह आवाज डिजिटल रूप में इनपुट होती है।

स्कैनर के द्वारा आप कागज पर छपे हुए टेक्स्ट या फोटो को कम्प्यूटर में इनपुट कर सकते हैं।

स्कैनर एक तार से कम्प्यूटर के सीपीयू से जुड़ा रहता है। इस समय (UPBoardSolutions.com) सामान्य तौर पर जिस स्कैनर का प्रयोग हो रहा है उसे फ्लैटबड स्कैनर कहते हैं।

डिजिटल कैमरे से आप फोटो खींचकर उसे सीधे कम्प्यूटर में इनपुट कर सकते हैं। यह फोटो फाइल के रूप में इनपुट होती है। इसे या तो सीधे सीपीयू से जोड़ सकते हैं या फिर इसकी चिप को एक विशेष फ्लॉपी के जरिए प्रयोग करते हैं।

डिजिटल कैमरे के अलावा इंटरनेट की वजह से आजकल वेब कैमरे का प्रयोग भी एक इनपूट डिवाइस के रूप में हो रहा है। यदि आपके कम्प्यूटर में वेब कैमरा है, तो आपको बहुत दूर बैठा व्यक्ति भी अपने मॉनीटर की स्क्रीन पर देख सकता है। (UPBoardSolutions.com) इसी तरह से आप भी उसे अपने कम्प्यूटर के मॉनीटर पर देख सकते हैं। लेकिन इसके लिए इंटरनेट से जुड़ा होना जरूरी है।

UP Board Solutions
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 3

नए आउटपुट उपकरण:
अभी तक आपने केवल मॉनीटर और प्रिंटर जैसे आउटपुट उपकरणों के बारे में ही पढ़ा है। (UPBoardSolutions.com) लेकिन तकनीक के विकास की वजह से अब और भी कई आउटपुट उपकरण प्रयोग होने लगे हैं। इनमें कुछ निम्न हैं –
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 4

स्पीकर भी आज एक आउटपुट उपकरण के रूप में प्रयोग हो रहे हैं। मल्टीमीडिया कम्प्यूटरों में आवाज को सुनने के लिए इनका प्रयोग होता है।

अब प्रिंटर की तरह से ही एक नए आउटपुट उपकरण का प्रयोग होने (UPBoardSolutions.com) लगा है जिसे इमेज़सेटर कहा जाता है। यह उपकरण कागज के स्थान पर फोटो फिल्म पर प्रिंटिंग करता है। इसकी वजह से प्रिंटिंग तकनीक के क्षेत्र में नया बदलाव आया है।

UP Board Solutions
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 5

प्लॉटर नामक उपकरण भी एक नया आउटपुट यंत्र है। इसके द्वारा बड़े-बड़े नक्शों को छापा जाता है। इसकी कार्य-प्रणाली प्रिंटर की तरह से ही होती है, लेकिन इसमें पेनों का प्रयोग किया जाता है।

संचार उपकरण:
वर्तमान समय का कम्प्यूटर केवल गणना करने वाली मशीन नहीं है, बल्कि यह (UPBoardSolutions.com) एक अत्याधुनिक संचार मशीन है। इंटरनेट के जरिए आज संचार के क्षेत्र में इसकी सबसे विशेष भूमिका है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 4

इसके कम्प्यूटर में एक विशेष उपकरण लगाना पड़ता है, जिसे मॉडेम कहते हैं। इसके द्वारा टेलीफोन लाइन का इस्तेमाल करके कम्प्यूटरों को आपस में जोड़ते हैं।

UP Board Solutions

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट:
आपने अभी तक यह पढ़ा है कि कम्प्यूटर के सीपीयू में तीन भाग होते हैं। इन्हें (UPBoardSolutions.com) अर्थमेटिक और लॉजिक यूनिट, कंट्रोल यूनिट और मेमोरी कहते हैं।

कम्प्यूटर की मेमोरी का सीपीयू में बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस समय कम्प्यूटर दो तरह की मेमोरी का प्रयोग करता है। इनमें एक को प्राइमरी मेमोरी कहते हैं। इसकी कार्य प्रणाली हमारे दिमाग की तरह से होती है। इसमें सूचनाएँ तभी तक रह सकती हैं, जब तक कम्प्यूटर ऑन है। कम्प्यूटर के बंद होते ही सब कुछ गायब हो जाता है।

यह प्राइमरी मेमोरी तकनीकी भाषा में रैम (RAM) कहलाती है। इसका पूरा नाम है – रैण्डम एक्सेस मेमोरी। चित्र में आप इसे देख सकते हैं

प्राइमरी मेमोरी में ही एक और तरह की मेमोरी इस्तेमाल होती। है। इसे रोम (ROM) के नाम से जानते हैं। इसका पूरा नाम है
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 5

रीड ओनली मेमोरी:
दूसरी तरह की मेमोरी को सेकंडरी मेमोरी कहते हैं। इसकी कार्यप्रणाली हमारी डायरी की तरह होती है। कम्प्यूटर को बंद करने के बाद भी सभी सूचनाएँ सुरक्षित रहती हैं। फ्लॉपी डिस्क, सीडी और हार्ड डिस्क इसके अंतर्गत आती हैं। इसमें हार्ड डिस्क (UPBoardSolutions.com) का प्रयोग सबसे बड़ी सेकंडरी मेमोरी के तौर पर होता है।

UP Board Solutions

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर:
बच्चो, कम्प्यूटर विज्ञान मूल रूप से दो भागों में विभाजित है। पहले भाग को हार्डवेयर और दूसरे भाग को सॉफ्टवेयर कहते हैं।

हार्डवेयर के अंतर्गत वे सभी वस्तुएँ आती हैं, जिन्हें आप हाथ से छू सकते हैं। की-बोर्ड, मॉनीटर, प्रिन्टर, सीपीयू, सीडी, फ्लॉपी, हार्ड डिस्क, मॉडेम, स्पीकर इत्यादि सभी हार्डवेयर हैं।

सॉफ्टवेयर कम्प्यूटर विज्ञान का वह भाग है जिसे हाथ से छुआ नहीं जा सकता है। (UPBoardSolutions.com) कम्प्यूटर को दिए जाने वाले सभी तरह के निर्देश और इनपुट की जाने वाली सभी तरह की सूचनाएँ और आउटपुट से प्राप्त परिणाम, सब कुछ सॉफ्टवेयर हैं।

इसे एक और उदाहरण से समझते हैं। आपने ऑडियो टेप देखा होगा। जिसमें गाने रिकार्ड होते हैं। यदि हम इस ऑडियो टेप की व्याख्या हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के संदर्भ में करें, तो टेप हार्डवेयर है और उसमें स्टोर गाने सॉफ्टवेयर। हम टेप को हाथ से छू सकते हैं, लेकिन उसमें रिकार्ड गानों को नहीं।

इसी तरह से फ्लॉपी, सीडी और हार्ड डिस्क हार्डवेयर है लेकिन उसमें स्टोर डेटा और निर्देश सॉफ्टवेयर हैं।

आपने ड्रॉइंग बनाने के लिए जिस पेंट नामक प्रोग्राम का प्रयोग किया था वह एक सॉफ्टवेयर है। विंडोज़, एमएस वर्ड और नोटपैड भी सॉफ्टवेयर हैं।

लेकिन कम्प्यूटर के सॉफ्टवेयर भी आगे चलकर दो भागों में विभाजित हो जाते हैं। (UPBoardSolutions.com) पहले भाग को सिस्टम सॉफ्टवेयर और दूसरे भाग को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कहते हैं। पेंट, एमएस वर्ड और नोट पैड एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर हैं। विंडोज, लाइनेक्स, यूनिक्स और डॉस (DOS) सिस्टम सॉफ्टवेयर हैं। इनका विस्तार से अध्ययन आप आगे की कक्षाओं में करेंगे।

कम्प्यूटर तभी काम करता है जब उसमें हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों हों। एक दूसरे के बिना किसी का भी कोई अस्तित्व नहीं है। दोनों एक दूसरे के पूरक हैं।

पेंट प्रोग्राम में काम करने के लिए जब आप कम्प्यूटर को ऑन करते हैं तो सबसे पहले विंडोज़ का डेस्कटॉप आपके सामने आता है। विंडोज़ एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है और पेंट विंडोज़ से जुड़ा हुआ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर।

UP Board Solutions

सिस्टम सॉफ्टवेयर का प्रयोग कम्प्यूटर अपने आपको काम के लायक बनाने के लिए करता है और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में हम अपना काम करते हैं।

जब हम कम्प्यूटर को ऑन करते हैं तो कम्प्यूटर सबसे पहले सिस्टम सॉफ्टवेयर (UPBoardSolutions.com) को खोजता है। जब उसे सिस्टम सॉफ्टवेयर मिल जाता है तो इसके अंतर्गत लिखे निर्देशों को पढ़कर वह अपने आपको काम के लायक बना लेता है। इसी के परिणामस्वरूप हमारे सामने विंडोज़ का डेस्कटॉप आता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना कम्प्यूटर कोई भी काम नहीं कर सकते हैं।

UP Board Solutions

कम्प्यूटर की इकाई

बच्चो, अभी तक आप कम्प्यूटर के प्रमुख और सहायक भागों के साथ-साथ उसकी कार्य प्रणाली के बारे में भी पढ़ चुके हैं। पिछली कक्षा में आपने कम्प्यूटर की इकाई के बारे में थोड़ी सी जानकारी प्राप्त की थी। आइए, इस अध्याय में इसके बारे में कुछ (UPBoardSolutions.com) और जानकारी प्राप्त करते हैं।

बिट और बाइट:
कम्प्यूटर की सबसे छोटी इकाई का नाम है – बिट।
बिट से बड़ी इकाई को बाइट कहते हैं।
बिट मिलकर एक बाइट का निर्माण करती हैं।
जब हम की-बोर्ड से अंग्रेजी भाषा का एक अक्षर टाइप करते हैं तो वह कम्प्यूटर की मेमोरी में 1 बाइट जगह घेरता है।

उदाहरण के लिए यदि आपका नाम कमल है आप तो इसे अंग्रेजी में इस तरह से लिखेंगे

KAMAL इस नाम में कुल अक्षरों की संख्या 5 है। इसका अर्थ है, कि जब आप यह नाम टाइप करेंगे तो यह कंप्यटूर की मेमोरी में 5 बाइट जगह घेरेगा।

यहाँ पर आपको एक बात याद रखनी है कि यदि अक्षरों के बीच (UPBoardSolutions.com) कोई खाली जगह है तो वह भी मेमोरी में जगह घेरेगी।

इसे एक और उदाहरण से समझते हैं। यदि आपका पूरा नाम कमल जैन है तो आप इसे इस तरह से टाइप करेंगे KAMAL JAIN

यहाँ पर आप देख सकते हैं कि कमल में 5 अक्षर हैं, इसके बाद 1 खाली स्थान है और फिर जैन में 4 अक्षर हैं।

तो कुल मिलाकर यह कितनी जगह घेरेंगे – 5 + 1 + 4 = 10

यह कम्प्यूटर की मेमोरी में कुल मिलाकर 10 बाइट जगह घेरेंगे। इस तरह से आप समझ सकते हैं कि मेमोरी में जगह का उपयोग किस तरह से होता है।

UP Board Solutions

बाइट और किलोबाइट:
जैसा कि आपने पढ़ा कि सबसे पहले बिट, फिर बाइट। लेकिन इसके आगे क्या? बच्चो, बाइट से बड़ी इकाई होती है किलोबाइट। यह बिलकुल उसी तरह से है जैसे ग्राम के बाद किलोग्राम। लेकिन किलोग्राम में जहाँ 1000 ग्राम होते हैं, वहीं (UPBoardSolutions.com) किलोबाइट में 1024 बाइट होती हैं। अर्थात् – 1 किलोबाइट = 1024 बाइट।

किलोबाइट और मेगाबाइट:
किलोबाइट से बड़ी इकाई को मेगाबाइट कहते हैं।

जिस तरह से 1024 बाइट मिलकर एक किलोबाइट बनाते हैं ठीक उसी तरह से 1024 किलोबाइट मिलकर एक मेगाबाइट का निर्माण करते हैं।

एक मेगाबाइट में 1024 किलोबाइट होते हैं। यदि इसकी गणना हम बाइट में करें तो कह सकते हैं कि एक मेगाबाइट में 1048576 बाइट होते हैं।

UP Board Solutions

पेंट में ड्रॉइंग बनाना

बच्चो, आप यह तो जानं ही गए होंगे कि पेंट नामक सॉफ्टवेयर में ड्रॉइंग बनाकर उसमें रंग भरा जा सकता है। आप पेंट में बिल्कुल उसी तरह से ड्रॉइंग बना सकते हैं जिस तरह से पेंसिल के द्वारा कागज पर ड्रॉइंग बनाते हैं। इसके अलावा ड्रॉइंग (UPBoardSolutions.com) में मनचाहा रंग भी भर सकते हैं। रंग भरने की प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है। केवल मनचाहे रंग पर क्लिक करते ही बनाई हुई ड्रॉइंग में रंग भर जाता है।

इसके पहले आपने केवल कुछ टूल्स का प्रयोग ही सीखा था। इस- अध्याय में आप इसका पूरी तरह से इस्तेमाल करना सीखेंगे।

पेंट में काम शुरू करना
सबसे पहले आपको विंडोज में टास्कबार पर बने माउस प्वाइंटर को हुए स्टार्ट बटन पर क्लिक करना होगा। इससे इसका। यहाँ पर लाएँ।। एक मेन्यू खुल जाएगा।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 6

UP Board Solutions

इस मेन्यू में आपको प्रोग्राम नामक विकल्प पर माउस प्वाइंटर को (UPBoardSolutions.com) ले जाना है। ऐसा करते ही एक और यह स्टार्ट बटन है, यहाँ पर क्लिक करें।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 7

मेन्यू आपके सामने आएगा। इसमें सबसे ऊपर एसेसरीज़ नामक विकल्प होता है।

अब आपको माउस प्वाइंटर इस एसेसरीज़ विकल्प पर ले जाना है। (UPBoardSolutions.com) इससे एक और मेन्यू आपके सामने खुलेगा और उसमें आपको पेंट नामक विकल्प दिखाई देगा। चित्र में आप इसे देख सकते हैं –

UP Board Solutions

पेंट को शुरू करने के लिए आप इस विकल्प पर क्लिक करें। इससे यह सॉफ्टवेयर क्रियान्वित होकर मॉनीटर की स्क्रीन पर इस पेंट प्रोग्राम को चलाने के लिए यहाँ क्लिक करें। तरह से दिखाई देने लगेगा
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 8

पेंट विंडो:
पेंट विंडो में कई महत्त्वपूर्ण तत्व होते हैं। आइए, एक-एक करके इन सबसे परिचित हों-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 9

UP Board Solutions

टाइटलं बार:
सबसे ऊपर एक समानांतर बार होता है। बाएँ कोने में फाइल और प्रोग्राम का नाम लिखा होता है।

इस टाइटल बार के दाएँ कोने में तीन बटन होते हैं। जिनका यह क्लोज़ बटन है।इस्तेमाल करके प्रोग्राम को बन्द किया जा सकता है, न्यूनतम किया यह मिनिमाइज़ बटन है। -मतान जा सकता है और वापस अधिकतम अवस्था में लाया जा सकता है। यह मैक्सिमाइज़ (UPBoardSolutions.com) बटन है।

चित्र में आप इन बटनों को देख सकते हैं –

मेन्यू बार:
मेन्यू बार टाइटल बार के एकदम नीचे होता है। इसमें फाइल, एडिट, व्यू, इमेज, कलर और हेल्प नामक मेन्यू होते हैं। जब आप माउस प्वाइंटर के द्वारा इनमें से किसी पर भी क्लिक करेंगे, तो यह अपने विकल्पों के साथ खुलकर आपके सामने आ जाएँगे। निम्न र चित्र में फाइल मेन्यू को खोलकर दर्शाया गया है –

UP Board Solutions

ड्रॉइंग बोर्ड:
पेंट के बीचोबीच का खाली क्षेत्र ड्रॉइंग बोर्ड कहलाता है। इसी क्षेत्र में आपको आकृति बनाकर रंग भरना होता है।

स्क्रॉल बार:
पेंट विंडो के दाएँ ओर नीचे की ओर दो बार होते हैं। जिन्हें वर्टिकल स्क्रॉल बार और हॉरिजांटल स्क्रॉल बार के नाम से जानते हैं। इन्हें माउस के द्वारा खिसका कर ड्रॉइंग बोर्ड में बनी हुई इमेज को पूरी तरह से सामने लाया जाता है।

टूल बॉक्स:
पेंट में बायीं ओर फाइल मेन्यू के नीचे एक ट्रल बॉक्स होता है। जिसमें दिए हुए टूल्स (UPBoardSolutions.com) की सहायता से आप ड्रॉइंग बनाते हैं।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 11

UP Board Solutions

कलर बॉक्स:
पेंट विंडो में नीचे की ओर कलर बॉक्स होता है। जिसमें दिए हए रंगों पर क्लिक करके आप उन्हें। इन ऑब्जेक्ट में इस्तेमाल कर सकते हैं।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 12
कलर प्लेट में रंग इस तरह से दिखाई देंगे पर क्लिक करके आप रंग चुन सकते हैं।

खाली ड्रॉइंग विंडो खोलना:
जब कोई ड्रॉइंग बनाना चाहेंगे तो इसके लिए यह जरूरी है कि आप एक नई फाइल बनाएँ। नई फाइल बनाने के लिए आपको पेंट के फाइल मेन्यू के न्यूकमांड का इस्तेमाल करना होगा। जब आप इस न्यू कमांड पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक खाली (UPBoardSolutions.com) ड्रॉइंग विंडो मॉनीटर पर इस तरह से आ जाएगी-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 13

UP Board Solutions

इस खाली ड्रॉइंग विंडो में आप टूल बॉक्स में दिए ट्रल्स की सहायता से ड्रॉइंग खाली ड्रॉइंग विंडो खुलकर इस तरह से सामने आएगी।

सीधी लाइन खींचना:
यदि आप ड्रॉइंग करते समय सीधी लाइन खींचना चाहते हैं तो यह कार्य टूल बार में दिए हुए लाइन टूल के द्वारा कर सकते हैं। सबसे पहले आप लाइन टूल पर माउस के द्वारा क्लिक करिए इसके बाद यह ट्रल सिलेक्ट हो जाएगा।

अब माउस संकेतक को ड्रॉइंग विंडो में लाएँ और बायीं बटन को दबाकर माउस को उस (UPBoardSolutions.com) स्थान तक ले जाएँ, जहाँ तक आप लाइन बनाना चाहते हैं। वांछित स्थान पर पहुंचते ही माउस की बायीं बटन छोड़ दें। आपको इस तरह से बनी हुई सीधी लाइन प्राप्त हो जाएगी-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 14

यदि आप लाइन को 45 डिग्री के कोण पर खींचना चाहते हैं तो माउस ड्रैग करते समय शिफ्ट की को दबा लें।

UP Board Solutions

लाइन की मोटाई कम या ज्यादा करने के लिए टूल बार में दिए हुए मोटाई के (UPBoardSolutions.com) ऑप्शन का इस्तेमाल करें।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 15

फ्री-हैंड लाइन खींचना:
स्वतंत्र अर्थात् फ्री हैंड लाइन खींचने के लिए आपको टूल बार के पेंसिल टूल का इस्तेमाल करना होगा। यह टूल, ब्रश टूल के बगल में होता है। टूल सिलेक्ट करने के बाद जब आप माउस को ड्रॉइंग विंडो पर इधर-उधर करेंगे तो यह लाइन इस तरह से बन जाएगी –

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 16

गोला बनाना:
गोला अर्थात सर्किल बनाने के लिए ट्रल बार में इलिप्टिकल ट्रल दिया गया है। पहले इस टूल को सिलेक्ट करें और फिर लाइन टूल की तरह इसे इस्तेमाल करें। आप पिछली कक्षा में गोला बनाना सीख चुके हैं।

यदि आप 100 प्रतिशत शुद्ध गोला खींचना चाहते हैं तो माउस खींचते समय शिफ्ट की को दबा करके रखें।

आयत और वर्ग बनाना:
आयताकार या वर्गाकार आकृति बनाने के लिए आप पेंट के टूल बार में दिए हुए रेक्टैंगल नामक टूल का इस्तेमाल कर सकते हैं। टूल के इस्तेमाल की विधि लाइन टूल की तरह ही है। वर्ग बनाने के लिए माउस खींचते समय कृपया शिफ्ट की को दबा कर रखें। (UPBoardSolutions.com) आयत और वर्ग बनाना आप पिछली कक्षा में सीख चुके हैं।

UP Board Solutions

पंच भुज या बहु-भुज बनाना:
पाँच भुजाओं या इससे ज्यादा भुजाओं वाली आकृति बनाने के लिए आपको टूल बार में दिए हुए पॉलिगन टूल का इस्तेमाल करना होगा। सबसे पहले इस टूल को सिलेक्ट करें और फिर लाइन टूल की तरह इसे इस्तेमाल करें। मॉनीटर पर इस तरह से पॉलिगन या बहुभुज बनकर आपके सामने आ जाएँगे-

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 17

टेक्स्ट टाइप करना:
टेक्स्ट टाइप करने के लिए टूल बार में A प्रतीक CIRE के साथ एक टूल दिया गया है। (UPBoardSolutions.com) सबसे पहले इस टूल को सिलेक्ट कर लें इसके बाद जिस स्थान पर टेक्स्ट इस ऑप्शन बॉक्स से फिल विकल्प को चुन सकते हैं।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 18

लिखना है उस स्थान पर माउस प्वाइंटर को क्लिक कर दें और टेक्स्ट लिखना प्रारंभ कर दें। लिखा हुआ टेक्स्ट मॉनीटर पर इस तरह से आ जाएगा

UP Board Solutions

खाली ऑब्जेक्ट में रंग भरना:
ड्रॉइंग के निर्माण के समय बनाई हुई आकृति में रंग भरने के लिए पेंट आपको फिल टूल नामक एक टूल प्रदान करता है। आप जिस रंग को भरना चाहें सबसे पहले रंग की पट्टी से वह रंग माउस के द्वारा क्लिक करके चुन लें।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 19

UP Board Solutions

ब्रश से ड्रॉइंग करना:
पेंट में ब्रश का बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान है और यदि आपको इसका इस्तेमाल आता है, (UPBoardSolutions.com) तो आप इस छोटे से सॉफ्टवेयर में शानदार ड्रॉइंग का निर्माण कर सकते हैं। सबसे पहले आप टूल बार में दिए हुए ब्रश टूल नव पर क्लिक करें। ऐसा करने से यह टूल – सिलेक्ट हो जाएगा। अब टूल बार में सबसे नीचे आकर ब्रश की मोटाई चुनें।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 20

जब यह कार्य भी हो जाए तो रंग पट्टी में जाकर मनपसन्द रंग पर क्लिक कर दें। इस तरह से आप रंग सिलेक्ट कर लेंगे। जब यह कार्य हो जाए तो ड्रॉइंग विंडो में जाकर माउस की बायीं बटन को दबाकर ब्रश का इस्तेमाल प्रारम्भ करें।UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 21

UP Board Solutions

इरेज़र टूल से ऑब्जेक्ट मिटाना:
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 22

UP Board Solutions

ऑब्जेक्ट को सिलेक्ट करना:
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 23

सिलेक्ट किए हुए भाग को यदि आप मिटाना चाहते हैं तो केवल की-बोर्ड से (UPBoardSolutions.com) डिलीट की को दबा दें।

ऑब्जेक्ट को बड़ा या छोटा करके देखना:
इमेज को बड़ा और छोटा करके देखने के लिए टूल बार में एक जूम टूल दिया गया है। आप इस टूल को सिलेक्ट कर लें और इमेज पर ले जाकर क्लिक कर दें। इमेज का वह भाग बहुत बड़ा होकर दिखाई देने लगेगा।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 24

यदि आप व्यू मेन्यू का इस्तेमाल करना चाहें तो आप यह कार्य इसके द्वारा भी कर सकते हैं। (UPBoardSolutions.com) व्यू मेन्यू में इस कार्य को करने के लिए जूम नामक एक कमांड दिया गया है। इस कमांड की स्थिति को आप नीचे दिए हुए चित्र में देख सकते हैं-

UP Board Solutions

नया रंग सिलेक्ट करना:
यदि रंग पट्टी में दिए हुए रंग आपकी जरूरत को पूरा नहीं करते हैं, तो आप, पेंट के अन्तर्गत नए रंगों का निर्माण भी कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए आपको पेंट के कलर मेन्यू में जाकर एडिट कलर नामक कमांड का इस्तेमाल करना होगा। जैसे ही आप इस कमांड पर (UPBoardSolutions.com) क्लिक करेंगे आपके सामने यह ऑशन आएगा-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 25

ऊपर दिए हुए ऑप्शन मेन्यू का इस्तेमाल करके आप 16.5 मिलियन रंगों का निर्माण कर सकते हैं। रंग चुनने के बाद आप इसमें ऐड-टू कस्टम कलर नामक ऑप्शन का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से चुना हुआ रंग रंग-पट्टी में जुड़ जाएगा।

UP Board Solutions

इमेज़ का आकार बदलना:
इमेज के आकार जैसे बुनियादी तत्वों में परिवर्तन करने के लिए इमेज मेन्यू में एट्रीब्यूट नामक एक कमांड होता है। जब आप इस कमांड पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने यह मेन्यू आ जाएगा-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 26

इस मेन्यू में दिए हुए ऑप्शन का इस्तेमाल करके आप इमेज के बुनियादी तत्वों (UPBoardSolutions.com) में परिवर्तन कर सकते हैं।

ड्रॉइंग को सेव करना:
बच्चो, आपने जिस ड्रॉइंग को बनाया है, यदि उसे सेव करना है तो इसके लिए आपको फाइल मेन्यू के सेव कमांड का इस्तेमाल करना होगा। जब आप इस कमांड का इस्तेमाल करेंगे तो फाइल का नाम और प्रकार निर्धारित करने का मेन्यू मॉनीटर पर इस तरह से आएगा-

UP Board Solutions
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 27

यहाँ पर आप फाइल को जिस नाम से सेव करना चाहते हैं पहले वह नाम लिख दें। (UPBoardSolutions.com) इसके बाद सेव ऐज़ टाइप नामक ऑप्शन पर आकर फाइल का प्रकार निश्चित कर दें। इसके बाद जैसे ही आप सेव नामक बटन पर क्लिक करेंगे फाइल सेव हो जाएगी।

सेव फाइल को फिर से खोलना:
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 28

UP Board Solutions

इस मेन्यू से आप इसमें बनाई हुई फाइलों को खोल सकते हैं। फाइलों का प्रकार चुनने के लिए आप फाइल्स ऑफ टाइप नामक ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे चुने हुए फार्मेट की फाइलें ही विंडों में दिखाई देंगी।

ड्रॉइंग को प्रिन्ट करना:
ड्रॉइंग प्रिन्ट करने के लिए फाइल मेन्यू में प्रिन्ट नामक एक कमांड होता है। आप ड्रॉइंग (UPBoardSolutions.com) फाइल खोलिए और इस कमांड पर क्लिक कर दीजिए। आपको मॉनीटर पर प्रिन्ट करने का मेन्यू इस तरह से दिखाई देगा –
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 29

इस मेन्यू में आप प्रिन्टर और पेजों का चुनाव करने के बाद जब OK बटन पर क्लिक करेंगे तो बनाई हुई ड्रॉइंग कम्प्यूटर से जुड़े प्रिन्टर के द्वारा प्रिन्ट हो जाएगी। इसमें दिए प्रापर्टीज़ नामक बटन से प्रिन्टर को कस्टमाइज किया जा सकता है।

कम्प्यूटर की भाषाएँ

बच्चो, जब हम आपस में बात करते हैं, तो एक-दूसरे के विचार जानने के लिए किसी-न-किसी भाषा में बात करते हैं। चाहे वह अंग्रेजी हो या हिन्दी या फिर कोई और भाषा।

कई बार ऐसा भी होता है कि हम कुछ ऐसे व्यक्तियों से मिलते हैं जो न तो हमारी भाषा समझते (UPBoardSolutions.com) हैं और न ही हम उनकी। ऐसी स्थिति में हम इशारों में एक दूसरे को अपने विचारों से अवगत करा सकते हैं।

इसी तरह से यदि हम कम्प्यूटर से कोई काम लेना चाहते हैं तो हमें अपने निर्देशों को कम्प्यूटर तक पहँचाना होगा। लेकिन कम्प्यूटर मनष्य नहीं है, बल्कि एक मशीन है। जैसा कि आप पिछली कक्षाओं में पढ़ चुके हैं कि यह मशीन बिजली से चलती है। इसीलिए इसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कहा जाता है।

UP Board Solutions

कम्प्यूटर न तो हिन्दी समझता है न ही अंग्रेजी समझता है और न ही हमारे इशारों को समझ सकता है। अब समस्या यह आती है कि फिर कम्प्यूटर समझता क्या है?

बच्चो, इस सवाल का जबाब है कि कम्प्यूटर विद्युत् प्रवाह की केवल दो स्थितियाँ ही समझता है।

और यह दोनों स्थितियाँ हैं कि या तो कम्प्यूटर में विद्युत् प्रवाह हो रहा है अर्थात् वह ऑन है (UPBoardSolutions.com) या फिर विद्युत् प्रवाह नहीं हो रहा है अर्थात् वह ऑफ है।

कम्प्यूटर के विद्युत् सर्किट में इन्हीं दोनों स्थितियों को समझकर वैज्ञानिकों ने एक कोडिंग सिस्टम के द्वारा कम्प्यूटर को निर्देश देने की प्रक्रिया विकसित की। इसमें ऑन स्थित को 1 से दर्शाया गया और ऑफ स्थित को 0 से।

इस कोडिंग का नाम था – बाइनरी नंबर सिस्टम। इस नंबर सिस्टम का आधार केवल यह दो संख्याएँ ही थी। इनका प्रयोग करके ही वैज्ञानिकों में कम्प्यूटर को निर्देश देकर काम लेना प्रारम्भ किया।

लेकिन काम बहुत ही कठिन था, तथा इसे खास-तौर पर प्रशिक्षित लोग की कर पाते थे।

इस कठिनाई को दूर करने के लिए वैज्ञानिकों में (UPBoardSolutions.com) बाइनरी नंबर सिस्टम को आधार बनाकर अंग्रेजी भाषा में निर्देश देने के लिए उच्च-स्तरीय भाषाओं का विकास किया। इन्हें तकनीकी भाषा में हाई-लेवल लैंग्वेज़ के नाम से जाना जाता है।

इनमें फोरट्रान, कोबोल, बेसिक, पैस्कल, लोगो और सी तथा सी++ प्रमुख हैं।

कम्प्यूटर प्रोग्राम:
उच्च-स्तरीय भाषाओं में लिखे सामूहिक और कमबद्ध निर्देश प्रोग्राम कहलाते हैं। इन प्रोग्रामों को कम्प्यूटर कुछ विशेष सॉफ्टवेयरों की मदद से बाइनरी भाषा में परिवर्तित करके समझता है और फिर कार्य को अंजाम देता है।

लैंग्वेज और कम्प्यूटर के बीच काम करने वाले सॉफ्टवेयर इंटरप्रिन्टर और कम्पाइलर कहलाते हैं।

UP Board Solutions

कम्प्यूटर की सभी भाषाएँ इन दोनों पर आधारित होती हैं। जब हम इन भाषाओं में निर्देश लिखते हैं तो इंटरप्रिन्टर और कंपाइलर इन्हें बाइनरी में बदल देते हैं और कम्प्यूटर निर्देश को समझ लेता है।

कम्प्यूटर की भाषाएँ:
वैसे तो वर्तमान समय में सैकड़ों भाषाओं में कम्प्यूटरों को निर्देश दिए जाते हैं। यह निर्देश प्रोग्राम कहलाते हैं। लेकिन कुछ भाषाएँ ऐसी हैं, जो प्रोग्रामिंग सीखने के लिए आज भी उतनी ही उपयोगी हैं जितनी अपने शुरुआती दौर में थीं। आइए ऐसी ही कुछ भाषाओं के बारे में जानकारी प्राप्त (UPBoardSolutions.com) करें –

LOGO
बच्चों को कम्प्यूटर पर प्रोग्रामिंग का प्रशिक्षण देने में आज भी इस भाषा का. सबसे ज्यादा उपयोग होता है। इसका पूरा नाम है – लैंग्वेज़ ओरियेन्टिड, ग्राफिक ओरियेन्टिड। इसमें कमांड लिखकर आप तरह-तरह की डिजाइनों, को स्क्रीन पर बना सकते हैं।

BASIC
इस भाषा का पूरा नाम है – बिगनर्स ऑल परपस सिम्बालिक इंस्ट्रक्शन कोड। इसमें बहुत सरलता से निर्देशों को लिखकर आप कम्प्यूटर से कोई भी काम ले सकते हैं। इसे भी प्रारम्भिक प्रशिक्षण भाषा के तौर पर प्रयोग किया जाता है।

UP Board Solutions

COBOL:
इस भाषा का पूरा नाम है – कॉमन बिजनेस ओरियेन्टेड लैंग्वेज़। इसमें बहुत (UPBoardSolutions.com) सरलता से निर्देशों को लिखकर आप कम्प्यूटर से कोई भी काम ले सकते हैं। इसे व्यावसायिक कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है।

FORTRAN:
इस भाषा का पूरा नाम है – फार्मूला ट्रांसलेटर। इसका प्रयोग वैज्ञानिक और गणितीय समस्याओं को हल करने के लिए किया जाता है।

इसी तरह से सी, सी ++ और पैरकल जैसी भाषाओं को भी व्यावसायिक कार्यों में प्रयोग होने वाले सॉफ्टवेयरों के निर्माण के लिए प्रयोग किया जा रहा है। आप इस पुस्तक में आगे लोगो भाषा में प्रोग्रामिंग करना सीखेंगे।

लोगों में प्रोग्रामिग

अभी आपने कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर के बारे में पढ़ा कि यह दो प्रकार के होते हैं। इन दोनों प्रकारों के सॉफ्टवेयरों का निर्माण कम्प्यूटर द्वारा समझी जाने वाली भाषाओं में होता है। जैसा कि सॉफ्टवेयर को परिभाषित करते हुए कहते हैं कि निर्देशों के समूह को सॉफ्टवेयर कहते हैं, तो यह निर्देश कम्प्यूटर भाषाओं में लिखे जाते हैं।

इन भाषाओं को कम्प्यूटर कम्पाइलर या इंटरप्रिन्टर के द्वारा समझता है क्योंकि हम सब निर्देशों (UPBoardSolutions.com) को लिखते हैं तो वह सामान्य अंग्रेजी भाषा में होते हैं और कम्प्यूटर केवल मशीनी भाषा को समझता है जो शून्य और एक होती है। कम्पाइलर और इंटरप्रिन्टर हमारे द्वारा लिखे निर्देशों को इस मशीनी भाषा में बदल देते हैं।

कम्प्यूटर को निर्देश देने के लिए जो भाषाएँ प्रयोग की जाती हैं वह हाई-लेवल लैंग्वेज़ कहलाती हैं। इन भाषाओं में बेसिक, कोबोल, पॉरकल, लोगो ओर फोरट्रान प्रमुख हैं। इन सब भाषाओं में लोगो सबसे सरल भाषा है और आप इसमें कम्प्यूटर को सबसे आसानी से निर्देश दे सकते हैं।

UP Board Solutions

लोगो परिचय:
लोगो को कम्प्यूटर की प्राइमरी प्रोग्रामिंग भाषा माना जाता है। इसके द्वारा दुनियाभर में छोटे बच्चों को प्रोग्रामिंग अर्थात् कम्प्यूटर को निर्देश देना सिखाते हैं। लोगो वास्तव में लैंग्वेज़ ओरियेंटिड और ग्राफिक ओरियेंटिड का संक्षिप्त नाम है। (UPBoardSolutions.com) इसमें प्रोग्रामिंग करके आप तरह-तरह की आकृतियों को बना सकते हैं।

एक तरह से आप इस भाषा में से खेल-खेल में प्रोममिंग सीख सकते हैं। लोगो के कमांड्स को आम बोलचाल की भाषा में प्रिमिटिव कहते हैं। इसके द्वारा आप गोला, वर्ग, आयत और जो चाहें बना सकते हैं। इसके अलावा आप गणितीय कार्यों के लिए भी इसमें प्रोग्रामिंग कर सकते हैं। नीचे दिए चित्र में लोगो में बनने वाली कुछ आकृतियों को प्रस्तुत किया गया है-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 30

पुस्तक के इस अध्याय में आप लोगों भाषा में प्रोग्राम लिखकर तरह-तरह की आकृतियों (UPBoardSolutions.com) को बनाना सीखेंगे।

लोगो कमांड:
प्रत्येक प्रोग्रामिंग भाषा में कम्प्यूटर को निर्देश देने के लिए कुछ कमांड होते हैं। इन्हीं के द्वारा प्रोग्रामिंग का कार्य किया जाता है। जब यह कमांड कम्प्यूटर की मेमोरी में जाते हैं तो कम्प्यूटर को अपने अनुसार नियंत्रित करके कार्य लेते हैं।

UP Board Solutions

लोगो भाषा में भी ऐसे ही कमांड होते हैं जिनके द्वारा प्रोग्रामिंग का कार्य किया (UPBoardSolutions.com) जाता है। इन कमांडों को लोगो भाषा में प्रिमटिव कहते हैं। लोगो भाषा में प्रोग्रामिंग के लिए प्रयोग होने वाले मुख्य कमांड निम्न हैं –
FD: इस कमांड से टर्टल आगे की ओर जाता है।
BK: इस कमांड से टर्टल पीछे की ओर जाता है।
RT: इससे टर्टल दायीं ओर जाता है।
LT: इससे टर्टल बायीं ओर जाता है।
ST: इससे टर्टल दिखाई देने (UPBoardSolutions.com) लगता है।
HT: इससे टर्टल अदृश्य हो जाता है।
CS: इससे स्क्रीन को साफ करते हैं।
CT: इससे टेक्स्ट विंडो को साफ करते हैं।
PU: इससे पेन को ऊपर ले जाते हैं।
PD: इससे पेन को नीचे लाते हैं।
HOME: इससे टर्टल अपने घर में पहुँच जाता है।

लोगो भाषा में कर्सर को टर्टल कहते हैं। इसका कारण यह है कि जब लोगो भाषा (UPBoardSolutions.com) का प्रथम संस्करण बाजार में आया था, तो इसका प्रयोग एक इलेक्ट्रॉनिक रोबोट में किया गया था। यह रोबोट देखने में एक टर्टल (कछुए) की तरह से था।

लोगो का टर्टल:
लोगो एक प्रोग्रामिंग भाषा है। आपने अभी पढ़ा कि इस भाषा का प्रयोग खेल-खेल में प्रोग्रामिंग सीखने के लिए किया जाता है। इस भाषा में कर्सर को टर्टल कहते हैं। जब हम इस भाषा में कमांड लिखकर एंटर करते हैं तो टर्टल इन्हीं कमांड्स के अनुसार स्थानान्तरित होता है। टर्टल के स्थानान्तरण की वजह से आकलियों का निर्माण होता है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 31

UP Board Solutions

लोगो भाषा में स्क्रीन पर नीचे बाएँ कोने में एक प्रश्नवाचक चिहन होता है। (UPBoardSolutions.com) इसे कमांड प्राम्प्ट कहते हैं।

इसी जगह से आप लोगो को कमांड दे सकते हैं।

चूँकि यह कमांड लिखकर दिए जाते हैं इसलिए इसे टेक्स्ट एरिया भी कहते हैं।

टर्टल स्क्रीन के बीचोबीच होता है और इस बीच वाले भाग को ग्राफिक एरिया कहते हैं।

यदि आप लोगो के कमांड प्राम्प्ट पर ST अर्थात् शो टर्टल कमांड को टाइप करके एंटर की को दबाएँगे तो टर्टल मॉनीटर स्क्रीन के बीचोंबीच दिखाई देने लगेगा। यदि आप लोगो के कमांड प्राम्प्ट पर HT अर्थात् टर्टल कमांड को टाइप करके एंटर की को दबाएँगे तो टटेल मॉनीटर स्क्रीन से गायब हो जाएगा।

टर्बल को आगे-पीछे ले जाने वाले कमांड:

FD कमांड फारवर्ड कमांड का संक्षिप्त नाम है। इस कमांड का प्रयोग टर्टल को आगे की ओर ले जाने के लिए होता है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 32

UP Board Solutions

BK कमांड बैकवर्ड कमांड का संक्षिप्त नाम है। इस कमांड का प्रयोग टर्टल (UPBoardSolutions.com) को पीछे की ओर ले जाने के लिए होता है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 33

इन दोनों कमांड्स को प्रयोग करके आप टर्टल को कमांड के साथ लिखी संख्या के अनुसार आगे या पीछे कर सकते हैं।

उदाहरणः

  • यदि आप कमांड लिखते समय FD 50 लिखकर एंटर की को दबाते हैं तो टर्टल 50 कदम आगे की ओर चला जाएगा।
  • यदि आप कमांड लिखते समय BK 50 लिखकर एंटर की को दबाते हैं तो टर्टल 50 कदम पीछे की ओर चला जाएगा।
  • जैसा कि आप पढ़ चुके हैं कि प्रोग्राम कम्प्यूटर को क्रमबद्ध तरीके से दिए (UPBoardSolutions.com) जाने वाले कमांड्स के समूह को कहते हैं।
  • कम्प्यूटर इन्हीं निर्देशों के आधार पर समस्याओं का समाधान करता है। लोगो में एक प्रोग्राम को लिखते समय बहुत से प्रिमिटिव का प्रयोग किया जाता है।

UP Board Solutions

टर्टल को दाएं-बाएं ले जाने वाले कमांड:
RT कमांड के साथ जब आप संख्या के रूप में स्टेप लिखते हैं तो वह टर्टल। को अंश या डिग्री में घुमा देता है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 34

RT और LT कमांड केवल टर्टल को आवश्यक दिशा में घुमा ही सकते हैं, और यह दशा या तो दायीं होगी या फिर बायीं।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 35

UP Board Solutions

लोगो में वर्ग बनाना:
आपने इन चारों कमांडों के बारे में पढ़ा। आइए, अब इन्हीं कमांडों से (UPBoardSolutions.com) पचास स्टेप का प्रयोग करके एक वर्ग बनाना सीखें:
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 36

जब आप कमांड को स्टेप के साथ टाइप करें तो कमांड पूरा होने के बाद एंटर की को दबा दें। जब वर्ग पूरा हो जाए तो HT कमांड के टर्टल को गायब कर दें। इसी तरह से स्टेप्स को बदलकर और आकृतियों का निर्माण करके लोगो में अभ्यास करें।

ऑपरेटिंग सिस्टम (विंडोज)

बच्चो, आप अभी तक कम्प्यूटर सॉफ्टवेयरों से कुछ तो परिचित हो ही गए हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर दो भागों में विभाजित होते हैं। एक को सिस्टम सॉफ्टवेयर और दूसरे को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कहते हैं।

पेंट जैसे सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयरों की श्रेणी में आता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम भी कहलाते हैं। इस विंडोज़ नामक सिस्टम सॉफ्टवेयर का प्रयोग अपने देश में सर्वाधिक होते हैं। इसके कई संस्करण प्रयोग किए जाते हैं। (UPBoardSolutions.com) आइए इस अध्याय में हम इसके 98 संस्करण से परिचित हों।

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 98:
विंडोज़ का निर्माण माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन अमेरिका के द्वारा किया गया है। विंडोज़ से पहले पर्सनल कम्प्यूटर पर एमएस-डॉस माइक्रोसॉफ्ट डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम नामक ऑपरेटिंग सिस्टम प्रयोग होता था। यह कमांड आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम था और इसमें कम्प्यूटर पर कोई भी कार्य करने के लिए कमांड दिए जाते थे।

UP Board Solutions

मैकंटोश कम्प्यूटर को टक्कर देने के लिए उन्होंने पर्सनल कम्प्यूटर अर्थात् पीसी के लिए ग्राफिक यूज़र इंटरफेस अर्थात् GUI तकनीक पर आधारित एक ऑपरेटिंग सिस्टम विकसित किया और इसके विकास का कार्य सन् 1995 में पूरा हुआ।

सन् 1998 में इसका 98 संस्करण जब बाजार में आया, तो यह पूरी तरह मैकंटोश कम्प्यूटर को टक्कर देने में सक्षम था। इसीलिए आज भी पेंटियम-4 प्रोफेसर के साथ बहुत से कम्प्यूटर प्रयोगकर्ता विंडोज़ 98 का ही प्रयोग करते हैं।

यदि आपने कभी भी विंडोज़ का इस्तेमाल नहीं किया है और आप डॉस यूजर हैं तो आपको विंडोज़ में प्रोग्राम चलाते समय बहुत ही आश्चर्य होगा क्योंकि डॉस माहौल में प्रोग्राम में क्रियान्वित करने के लिए आपको केवल डॉस प्रॉम्प्ट पर प्रोग्राम की कमांड लाइन (UPBoardSolutions.com) टाइप करके एंटर की को दबाना होता था और प्रोग्राम क्रियान्वित हो जाता था। लेकिन विंडोज़ माहौल में ऐसा नहीं है।।

इसमें सारा काम माउस के द्वारा संपन्न होता है और आपको लम्बे-लम्बे कमांड लिखने की कोई जरूरत नहीं है। जब आपका कम्प्यूटर ऑन होगा तो विंडोज़ का डेस्कटॉप दिए हुए चित्र के अनुसार आपके सामने आएगा-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 37

UP Board Solutions

डेस्कटॉप के प्रमुख में विंडोज़ का टास्कबार, स्टार्ट बटन, माई कम्प्यूटर नामक आइकॉन और रिसाइकिल बिन होते हैं। यह विंडोज़ के अनिवार्य अंग हैं। इनमें टास्कबार सबसे नीचे की ओर होता है और टास्कबार के बाएँ कोने में स्टार्ट बटन दिखाई देती रहती है।

माई कम्प्यूटर नामक आइकॉन डेस्कटॉप में बायीं ओर सबसे ऊपर होता है। (UPBoardSolutions.com) इसमें आपके कम्प्यूटर के सभी कम्पोनेंट होते हैं, जो हार्डवेयर से लेकर सिस्टम सॉफ्टवेयर के बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराते हैं।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 48
My Computer कंप्यूटर नामक आइकॉन इस तरह से दिखाई देता है:

कम्प्यूटर की क्या क्षमता है और उसका कौन-सा भाग ठीक से काम नहीं कर (UPBoardSolutions.com) रहा है आप इस आइकॉन से यह पता लगा सकते हैं। कम्प्यूटर के प्रोसेसर से लेकर माई उसकी गति तथा मेमोरी के बारे में सही जानकारी आप यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।।

फाइल मैनेजमेंट से लेकर उपकरण जोड़ने की क्षमता भी इसमें समाहित होती है।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 49
Recycle Bin रिसाइकिल बिन नामक आइकॉन इस तरह दिखाई देता है:

रिसाइकिल बिन डेस्कटॉप का दूसरा सबसे अनिवार्य आइकॉन होता है। इसे आप डस्टबिन या कचरे का डिब्बा कह सकते हैं। आप जो फाइलें डिलीट करेंगे वह डिलीट होकर इसी में जाएँगी।

यदि फाइलें गलती से डिलीट हो गई हैं तो आप इस डस्टबिन से उन्हें वापस रिसाइकिल (UPBoardSolutions.com) बिन अन-डिलीट भी कर सकते हैं।

UP Board Solutions

विंडोज़ में रिसाइकिल बिन नामक यह आइकॉन डेस्कटॉप से हटाया नहीं जा डेस्कटॉप पर सकता है। लेकिन आप इसकी क्षमता में परिवर्तन करके इसमें बदलाव जरूर कर सकते हैं।

डिलीट हुई फाइलों के लिए यह आपकी हार्ड डिस्क में 10 प्रतिशत स्थान रिजर्व रखता है। (UPBoardSolutions.com) लेकिन आप यह स्पेस कम या ज्यादा कर सकते हैं। _माई डॉक्यूमेंट नामक ऑइकॉन डेस्कटॉप पर आपके द्वारा बनायी फाइलों को सेव करने के लिए होता है।

वास्तव में यह एक बड़ा-सा फोल्डर होता है, जिसमें आप अपनी फाइलों को वर्गीकृत करके सेव कर सकते हैं।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 39
My Documents माई डॉक्यूमेंट नामक आइकॉन डेस्कटॉप पर इस तरह से दिखाई देता है:

इस काम के लिए इसमें फाइलों के प्रकार (टाइप) के अनुसार फोल्डर बने रहते माई डॉक्यूमेंट हैं जिनमें फाइलों को स्टोर करते हैं। माई डॉक्यूमेंट नामक यह ऑइकॉन भी आपके नामक आइकॉन डेस्कटॉप पर मुख्य हार्डडिस्क में ही जगह घेरता है।

इसकी खासियत यह है कि जब आप किसी एप्लीकेशन साफ्टवेयर में फाइलों को दिखाई (UPBoardSolutions.com) देता है। सेव करेंगे तो डिफॉल्ट सेटिंग होने की वजह से सेव कमांड के बाद माई डॉक्यूमेंट फोल्डर ही आता है।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 40
Internet Explorer इंटरनेट एक्सप्लोरर आइकॉन:

इंटरनेट के बढ़ते चलन की वजह से आपको देस्कटॉप पर इंटरनेट एक्सप्लोरर का आइकॉन भी जरूर मिलेगा। आप इसी आइकॉन से मेट पर जा सकेंगे क्योंकि यह नेट ब्राउजर को रन कर देता है।

विंडोज़ 95 संस्करण में यह आइकॉन नहीं होता है और एक्सप्लोरर को इंस्टॉल करना इंटरनेट पड़ता है। लेकिन 98 से सभी के सभी संस्करणों में यह पहले से मौजूद रहता है।

विंडोज़ में प्रोग्राम चलाने के लिए सबसे पहले यह तो जरूरी है कि आपने विंडोज़ के आइकॉन अंतर्गत अपने प्रोग्राम इंस्टॉल किए हों।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 41
Start विंडोज़ की स्टार्ट बटन जो टास्कबार के बाएँ कोण पर होती है:

विंडोज़ में प्रोग्राम को इंस्टॉल करने के लिए आपको इसके स्टार्ट बटन पर क्लिक (UPBoardSolutions.com) करना होगा। वैसे तो विंडोज़ में प्रत्येक कार्य की शुरुआत स्टार्ट बटन विंडोज की स्टार्ट पर क्लिक करके ही करते हैं। अन्यथा आप विंडोज़ में कार्य नहीं कर पाएंगे।

स्टार्ट बटन मेन्यू शट डाउन से शुरू होता है और प्रोग्राम तक जाता है।
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 42

UP Board Solutions

यहाँ से आप अपने काम की शुरुआत कर सकते हैं। प्रोग्राम चालू करने से लेकर नए प्रोग्राम इंस्टॉल करने जैसे सभी कार्य यहाँ से हो सकते हैं। कई प्रोग्रामों के आइकन आपको डेस्कटॉप पर भी मिल सकते हैं।

विंडोज़ में फाइल और फोल्डर:
हम कम्प्यूटर में जो भी काम करते हैं यदि उसे स्थायी रूप से सेव करना है तो एक फाइल के रूप में सेव करना पड़ेगा। प्रत्येक प्रोग्राम में सेव नामक कमांड होता है, जो हमारे द्वारा इनपुट की गई और कम्प्यूटर द्वारा प्रोसेस की गई सूचनाओं को फाइल के (UPBoardSolutions.com) रूप में सेव करता है।

सेव की गई फाइल कम्प्यूटर में लगी हार्ड-डिस्क, फ्लॉपी डिस्क या फिर सीडी में स्टोर हो जाती है।

फाइल के बाद नंबर आता है फोल्डर का। फाइलों को वर्गीकृत करके उन्हें आसानी से खोजा जा सके, इसके लिए फोल्डर बनाने की सुविधा प्रत्येक ऑपरेटिंग सिस्टम में होती है। यदि आप डॉस से परिचित हैं तो यह जरूर जानते होंगे कि डॉस माहौल में फोल्डर को डायरेक्टरी और सब-डायरेक्टरी के नाम से जाना जाता है।

विंडोज़ में फाइलों को समेटकर रखने के लिए फोल्डर नामक सुविधा का प्रयोग करते हैं। एक फोल्डर में आप अलग-अलग नाम से सैकड़ों फाइलों को रख सकते हैं।

एक डिस्क में आप सैकड़ों फोल्डर बना सकते हैं। इसके अलावा फोल्डर के अन्दर भी फोल्डर बना सकते हैं। विंडोज़ माहौल में यह काम कैसे करेंगे, आइए इसे समझते हैं।

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 43
Red-Fort:
UP Board Solutions

विंडोज माहौल में इस कार्य को करने के लिए आप मुख्य रूप से दो तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं। पहले तरीके के तहत आप स्टार्ट बटन के प्रोग्राम मेन्यू में दिए हुए विंडोज़ एक्सप्लोरर कमांड के द्वारा और दूसरे तरीके के तहत आप विंडोज़ वातावरण डेस्कटॉप (UPBoardSolutions.com) पर दिए हुए माई कम्प्यूटर के द्वारा।

में फोल्डर हमेशा आइए, इस प्रक्रिया में सबसे पहले हम माई कम्प्यूटर आइकॉन के प्रयोग के इसी निशान के फाइल मैनेजमेंट के संदर्भ में समझते हैं। आप माउस प्वाइंटर को डेस्कटॉप पर द्वारा दर्शाए दिखाई दे रहे माई कम्प्यूटर आइकॉन पर ले जाकर डबल क्लिक करें। जाते हैं।

ऐसा करते ही आपके कम्प्यूटर में लगी ड्राइवों और कुछ सहायक उपकरणों का लेखा-जोखा दिए हुए चित्र के अनुसार आपके सामने आ जाएगा-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 44
UP Board Solutions

इस चित्र में फ्लॉपी डिस्क ड्राइव, सीडी-रोम ड्राइव इत्यादि ड्राइवें हमारे सामने एक प्रतीक चिह्न के रूप में दिखाई दे रही हैं। इन्हें चित्र में रेखांकित करके भी दर्शाया गया है।

इसके अलावा प्रिन्टर्स, कंट्रोल पैनल और डायलअप नेटवर्किंग के नाम से फोल्डर दिखाई दे रहे हैं।

फोल्डरों की रूपरेखा पूरे विंडो माहौल में बिल्कुल ऐसी ही होती है। केवल इनके नीचे लिखा हुआ नाम अन्दर स्टोर फाइलों या प्रोग्रामों के अनुसार बदलता रहता है।

विंडोज़ वातावरण में फाइलें किस निशान द्वारा प्रदर्शित होंगी यह फाइल (UPBoardSolutions.com) बनाने वाले प्रोग्राम पर निर्भर है। यह नोटपैड की फाइल का सिम्बल है।

नया फोल्डर बनाना:

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 45
UP Board Solutions

UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 46

यहाँ पर आपको नए फोल्डर का निर्माण करना है। इसलिए आप इसमें दिए हुए फोल्डर नामक विकल्प पर क्लिक कर दें। यह विकल्प सबसे ऊपर होता है, क्लिक करते ही नया फोल्डर बन जाएगा और स्क्रीन पर इस तरह से दिखाई देगा-
UP Board Solutions for Class 7 Computer Education (कम्प्यूटर शिक्षा) 47

जब भी आप नया फोल्डर बनाएँगे तो वह आपके सामने इस तरह से बनकर आयेगा।

अभी इसका नाम न्यू फोल्डर ही है। यह नाम अपनी जरूरत के मुताबिक नया टाइप (UPBoardSolutions.com) कर सकते हैं। फोल्डर का नाम यदि अशोक प्रकाशन लिखते हैं और माउस के द्वारा कहीं बाहर क्लिक कर देते हैं तो बनाए गए फोल्डर का नाम अशोक प्रकाशन हो जाएगा।
UP Board Solutions

इस फोल्डर को खोलने के लिए आप इसके ऊपर डबल क्लिक करें। यह फोल्डर खुल जाएगा। पेन्ट जैसे प्रोग्राम में बनायी फाइल को आप इसमें स्थायी रूप से सेव कर सकते हैं।

UP Board Solutions for Class 7

UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित

UP Board Class 7 Maths Model Paper are part of UP Board Class 7 Model Papers. Here we have given UP Board Class 7 Maths Model Paper.

Board UP Board
Class Class 7
Subject Maths
Model Paper Paper 1
Category UP Board Model Papers

UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित

सत्र परीक्षा प्रश्न-पत्र ।
कक्षा-7
विषय-गणित

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
क्या सभी भिन्नै परिमेय संख्याएँ हैं?
हल:
हाँ, सभी भिन्ने परिमेय संख्याएँ हैं।

प्रश्न 2.
[latex]\frac { 4 } { 5 } + \left( \frac { – 2 } { 5 } \right)[/latex]को सरल कीजिए।
हल:
[latex]\frac { 4 }{ 5 } -\frac { 2 }{ 5 } =\frac { 4-2 }{ 5 } =\frac { 2 }{ 5 } [/latex]

प्रश्न 3.
[latex]\frac { -8 }{ 10 } [/latex]को सरलतम रूप में लिखिए।
हल:
[latex]\frac { -8 }{ 10 } =\frac { -8\div 2 }{ 10\div 2 } =\frac { -4 }{ 5 } [/latex]

प्रश्न 4.
4x × (-7x) का मान बताइए।
हल:
4x × (-7x)
= -4 × 7 × x × x = -28 [latex]{ x }^{ 2 }[/latex]

प्रश्न 5.
[latex]{ (x+5) }^{ 2 }[/latex] का मान बताइए।
हल:
[latex]{ (x+5) }^{ 2 }[/latex] = [latex]({ x) }^{ 2 }[/latex] +2 × x × 5 + [latex]{ (5 })^{ 2 }[/latex] = [latex]{ x }^{ 2 }[/latex] + 10x + 25

प्रश्न 6.
पावं चित्र में, ∠B समकोण है, भुजा CA की माप ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 1

प्रश्न 7.
किसी त्रिभुज की माध्यिकाएँ कैसी होती हैं?
हल:
त्रिभुज की माध्यिकाएँ संगामी होती हैं।
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 2

प्रश्न 8.
[latex]2 – \left( \frac { – 3 } { 4 } \right)[/latex] को सरल कीजिए।
हल:
[latex]2 – \left( \frac { – 3 } { 4 } \right) = 2 + \frac { 3 } { 4 } = \frac { 8 + 3 } { 4 } = \frac { 11 } { 4 } = 2 \frac { 3 } { 4 }[/latex]

प्रश्न 9.
(x + 4) (x – 4) का गुणनफल ज्ञात कीजिए।
हल:
[latex]( x + 4 ) ( x – 4 ) = x ^ { 2 } – 4 ^ { 2 } = x ^ { 2 } – 16[/latex]

प्रश्न 10.
पाइथागोरस प्रमेय क्या है?
हल:
किसी समकोण त्रिभुज में कर्ण पर बने वर्ग का क्षेत्रफल शेष दोनों भुजाओं पर बने वर्गों के क्षेत्रफल के योगफल के बराबर होता है।

प्रश्न 11.
[latex]\left( – \frac { 1 } { 8 } \right) \div \frac { 3 } { 4 }[/latex] को हल कीजिए।
हल:
[latex]- \frac { 1 } { 8 } \times \frac { 4 } { 3 } = – \frac { 1 } { 2 } \times \frac { 1 } { 3 } = – \frac { 1 } { 6 }[/latex]

प्रश्न 12.
5 × 2x का गुणनफल बताइए।
हल:
5 × 2x = 10x

प्रश्न 13.
[latex]\left( \frac { – 2 } { 3 } \right) \frac { – 5 } { 3 }[/latex] को हल कीजिए।
हल:
[latex]\left( \frac { – 2 } { 3 } \right) \frac { – 5 } { 3 } = \frac { – 2 } { 3 } \times \frac { – 5 } { 3 } = \frac { 10 } { 9 } = 1 \frac { 1 } { 9 }[/latex]

प्रश्न 14.
[latex]3 x ^ { 2 } y \times 7 x y ^ { 2 }[/latex] का गुणनफल ज्ञात कीजिए।
हल:
[latex]3 x ^ { 2 } y \times 7 x y ^ { 2 } = 21 x ^ { 3 } y ^ { 3 }[/latex]

प्रश्न 15.
न्यूनकोण त्रिभुज का परिकेन्द्र त्रिभुज के————में स्थित होता है। वाक्य पर्ण कीजिए।
हल:
न्यूनकोण त्रिभुज का परिकेन्द्र त्रिभुज के अन्तःक्षेत्र में स्थित होता है।

प्रश्न 16.
[latex]( x – 7 ) ^ { 2 }[/latex] का मान ज्ञात कीजिए।
हल:
[latex]( x – 7 ) ^ { 2 } = ( x ) ^ { 2 } – 2 \times x \times 7 + ( 7 ) ^ { 2 } = x ^ { 2 } – 14 x + 49[/latex]

प्रश्न 17.
समकोण त्रिभुज की सबसे बड़ी भुजा को क्या कहते हैं?
हल:
समकोण त्रिभुज की सबसे बड़ी भुजा को कर्ण कहते हैं।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 18.
[latex]\left( \frac { – 5 } { 6 } \right) + \frac { 17 } { 10 } + \left( \frac { 7 } { – 12 } \right)[/latex] का मान ज्ञात कीजिए
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 3

प्रश्न 19.
दो परिमेय संख्याओं का गुणनफल [latex]\left( \frac { – 5 } { 6 } \right)[/latex] है यदि इनमें से एक संख्या [latex]\left( \frac { – 7 } { 12 } \right)[/latex] है दूसरी संख्या ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 4

प्रश्न 20.
[latex]\left( 5 x ^ { 2 } – 6 x + 9 \right)[/latex] में [latex]( 2 x – 3 )[/latex] से गुणा कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 5

प्रश्न 21.
एक आयताकार मैदान की लम्बाई (2x + 1) मी तथा चौड़ाई (2x-1) मी है तो आयत का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
हल:
आयताकार मैदान की लम्बाई = (2x + 1) मी
आयताकार मैदान की चौड़ाई = (2x- 1) मी
आयताकार मैदान का क्षेत्रफल = लं. ४ चौ.
= (2x + 1) (2x-1)
= [latex]( 2 x ) ^ { 2 } – ( 1 ) ^ { 2 }[/latex] मी²
= [latex]\left( 4 x ^ { 2 } – 1 \right)[/latex] मी²

प्रश्न 22.
एक समकोण त्रिभुज ABC खींचिए, जिसमें ∠c समकोण हो। AB का बिन्दू O ज्ञात कीजिए। केन्द्र O और त्रिज्या OA वाला एक वृत्त खींचिए। क्या यह C से होकर जाता है? AABC के सन्दर्भ
में, बिन्दु O को क्या कहते हैं?
हल:
हाँ, केन्द्र O और त्रिज्या OA वाला वृत्त C से होकर जाता है। Δ ABC के सन्दर्भ में, बिन्दु O को परिकेन्द्र कहते हैं।
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 6

प्रश्न 23.
[latex]\frac { 2 } { 5 } , \frac { 4 } { 7 } , \frac { 5 } { 9 } , \frac { 1 } { 6 }[/latex] को अवरोही क्रम में लिखिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 7
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 24.
10 मीटर लम्बी सीढ़ी एक दीवार से 8 मीटर दूरी पर लगाई गई है। इस दीवार पर सीढी कितनी ऊँचाई तक पहुँचेगी?
हल:
मान लीजिए कि सीढी दीवार पर h मी ऊँचाई तक पहुँची।
पाइथागोरस प्रमेय से,
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 8
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 9

प्रश्न 25.
एक रेलगाड़ी की चाल [latex]\left( 2 x ^ { 2 } + x + 4 \right)[/latex] किमी प्रति घण्टा है। ज्ञात कीजिए :
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 10

प्रश्न 26.
5 सेमी का एक रेखाखण्ड MN खींचिए। रेखाखण्ड MN पर एक बिन्दु P लेकर, बिन्दु P से रेखाखण्ड MN पर एक लम्ब डालिए।
हल:
रचना – सर्वप्रथम MN एक रेखाखण्ड
खींचा, उस एक बिन्दु P लिया।
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 11
बिन्दु Pसे एक चाप लगाया जो रेखाखण्ड MN को Rs बिन्दुओं पर काटता है। Rसे RP से बड़ी त्रिज्या लेकर चाप लगाया।S से उसी त्रिज्या का दूसरा चाप लगाया। दोनों चाप बिन्दु पर काटते हैं। बिन्दु L तथा Pको दोनों ओर बढ़ाया। अत: LP रेखा MN पर लम्ब है।

प्रश्न 27.
एक त्रिभुज के अन्तः कोण क्रमशः 3x°, (2x + 20)° तथा (5x-40)° हैं। सिद्ध कीजिए कि यह एक समबाहु त्रिभुज है।
हुल:
त्रिभुज के तीनों कोणों का योग 180° होता है।
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 12

प्रश्न 28.
[latex]\frac { 3 } { 7 } – \frac { 8 } { 7 }[/latex] को संख्या रेखा की सहायता से सरल करके परिमेय संख्या ज्ञात कीजिए।
हुल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 13

अर्धवार्षिक परीक्षा प्रश्न-पत्र
कक्षा-7
विषय-गणित

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
[latex]2 ^ { 3 } \times 2 ^ { 2 }[/latex] को सरल कीजिए।
हल:
[latex]2 ^ { 3 } \times 2 ^ { 2 } = 2 ^ { 3 + 2 } = 2 ^ { 5 } = 2 \times 2 \times 2 \times 2 \times 2 = 32[/latex]

प्रश्न 2.
[latex]\frac { -4 }{ 9 } [/latex]  को किस संख्या से गुणा करें कि गुणनफल (-1) प्राप्त हो जाए?
हल:
माना संख्या = x
[latex]\therefore \quad \left( \frac { – 4 } { 9 } \right) \times x = ( – 1 ) \Rightarrow x = ( – 1 ) \times \frac { 9 } { – 4 } = \frac { 9 } { 4 } = 2 \frac { 1 } { 4 }[/latex]

प्रश्न 3.
[latex]\frac { – 5 } { 4 }[/latex] को दशमलव रूप में बदलिए।
हल:
[latex]\frac { – 5 } { 4 } = \frac { – 5 \times 25 } { 4 \times 25 } = \frac { – 125 } { 100 } = – 1.25[/latex]

प्रश्न 4.
0.0001 को 0.01 पर घात के रूप में लिखिए।
हल:
0.0001 = 0.01 x 0.01
= [latex]( 0.01 ) ^ { 2 }[/latex]

प्रश्न 5.
[latex]2.5 \times 10 ^ { 4 }[/latex] को साधारण संख्या के रूप में लिखिए।
हल:
[latex]2.5 \times 10 ^ { 4 } = 2.5 \times 10000 = 25000[/latex]

प्रश्न 6.
[latex]3 ^ { 4 } \times 3 ^ { 5 } \times 3 ^ { – 9 }[/latex] का मान ज्ञात कीजिए।
हुल:
[latex]3 ^ { 4 } \times 3 ^ { 5 } \times 3 ^ { – 9 } = 3 ^ { 4 + 5 – 9 } = 3 ^ { 9 – 9 } = 3 ^ { \circ } = 1[/latex]

प्रश्न 7.
वर्ग के विकर्ण …………. पर समद्विभाजित करते हैं। वाक्य पूर्ण कीजिए।
हल:
वर्ग के विकर्ण समकोण पर समद्विभाजित करते हैं।

प्रश्न 8.
संख्या 0.000045 रूप में लिखिए।
हल:
0.000045 = [latex]\frac { 4.5 } { 100000 } = \frac { 4.5 } { 10 ^ { 5 } } = 4.5 \times 10 ^ { – 5 }[/latex]

प्रश्न 9.
3125 का घातीय संकेतन क्या हैं?
हल:
3125 = 5 × 5 × 5 × 5 × 5 = [latex]5 ^ { 5 }[/latex]

प्रश्न 10.
42500000 को वैज्ञानिक संकेतन के रूप में लिखिए।
हल:
42500000 = [latex]4.25 \times 10 ^ { 7 }[/latex]

प्रश्न 11.
आयते के विकर्ण ………… होते हैं। वाक्य पूर्ण कीजिए।
हल:
आयत के विकर्ण बराबर होते हैं।

प्रश्न 12.
किसी वृत्त में यदि उसके किसी लघुचाप का अंशमाप 70° है, तो उसके दीर्घचाप को अंशमाप कितना होगा?
हल:
लघुचाप का अंशमाप = 70° दीर्घचाप का अंशमाप = 360° -70° = 290°

प्रश्न 13.
पाश्र्व चित्र में, 9 वृत्त का केन्द्र है। चाप A×B की अंशमाप बताइए।
हल:
∠APB = 35°
चाप A×B का अंशमाप =∠AOB = 2∠APB = 2 × 35° = 70°
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 14

प्रश्न 14.
[latex]( – 4 ) ^ { – 4 }[/latex] किस संख्या का गुणात्मक प्रतिलोम है?
हल:
[latex]( – 4 ) ^ { – 4 }[/latex] का गुणात्मक प्रतिलोम = [latex]\frac { 1 } { ( – 4 ) ^ { – 4 } } = ( – 4 ) ^ { 4 } = ( 4 ) ^ { 4 }[/latex]

प्रश्न 15.
व्यंजक 3ab + 2ac + 3ad का गुणनखण्ड कीजिए।
हल:
3ab + 2ac + 3ad = a (3b + 2c + 3d)

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 16.
[latex]\left\{ ( 4 \times 5 ) ^ { – 2 } \div \left( \frac { 1 } { 10 } \right) ^ { 2 } \right\} + \frac { 3 } { 4 }[/latex]को सरल कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 15

प्रश्न 17.
[latex]a b ^ { 2 } – ( a – c ) b – c[/latex] का गुणनखण्ड ज्ञात कीजिए।
हल:
[latex]a b ^ { 2 } – ( a – c ) b – c[/latex]
= [latex]a b ^ { 2 } – a b + b c – c = a b ( b – 1 ) + c ( b – 1 ) = ( a b + c ) ( b – 1 )[/latex]

प्रश्न 18.
किसी चतुर्भुज के अन्तः कोण बराबर हैं। प्रत्येक कोण का मान ज्ञात कीजिए।
हल:
माना चतुर्भुज का प्रत्येक कोण = x°
प्रश्नानुसार, [latex]x ^ { \circ } + x ^ { \circ } + x ^ { \circ } + x ^ { \circ } = 360 ^ { \circ }[/latex]
⇒ [latex]4 x ^ { \circ } = 360 ^ { \circ }[/latex]
⇒ [latex]x ^ { \circ } = \frac { 360 } { 4 } = 90 ^ { \circ }[/latex]
अतः प्रत्येक कोण का मान 90° है।

प्रश्न 19.
उस समान्तर चतुर्भुज का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए, जिसका आधार 7 सेमी तथा ऊँचाई 4.3 सेमी हो।
हुल:
समान्तर चतुर्भुज का क्षेत्रफल
= आधार × ऊँचाई = 7 ×4.3 वर्ग सेमी = 30.1 वर्ग सेमी

प्रश्न 20.
एक हॉल की लंबाई 11 मीटर, चौड़ाई 8 मीटर तथा ऊँचाई 5 मीटर है। हाल की चारों दीवारों का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
हल:
हॉल की लंबाई (l) = 11 मीटर, चौड़ाई (b) = 8 मीटर तथा ऊँचाई (1) = 5 मीटर
चारों दीवारों का क्षेत्रफल = 2(लंबाई + चौड़ाई) × ऊँचाई
= 2(11 + 8)×5 मी²
= 10 × 19 मी = 190 मी²

प्रश्न 21.
[latex]2 ^ { 38 } \times 5 ^ { 32 }[/latex] का मान ज्ञात कीजिए तथा बताइए इसमें कुल कितने अंक हैं।
हल:
[latex]2 ^ { 38 } \times 5 ^ { 32 } = 2 ^ { 6 } \times 2 ^ { 32 } \times 5 ^ { 32 } = 2 ^ { 6 } \times ( 2 \times 5 ) ^ { 32 }[/latex]
= [latex]64 \times 10 ^ { 32 } = 64 \times 10 ^ { 32 } \times \frac { 10 } { 10 }[/latex]
=[latex]6.4 \times 10 ^ { 33 }[/latex]
अतः कुल अंक 1 + 33 = 34

प्रश्न 22
एक इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान [latex]9.107 \times 10 ^ { – 28 }[/latex] ग्राम है इसे साधारण वशमलव भिन्न में बदलने पर दशमलव बिन्तु (.) तथा अंक 9 के बीच कितने शुन्य होंगे?
हल:
[latex]9.107 \times 10 ^ { – 28 } = .9107 \times 10 ^ { – 2341 } = 0.9107 \times 10 ^ { – 27 }[/latex]
अतः दशमलव बिन्दु तथा 9 के बीच 27 शून्य होंगे।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 23.
[latex]a ^ { 3 } – b ^ { 3 }[/latex] का गुणनखंड ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 16

प्रश्न 24.
[latex]\left( \frac { 3 } { 4 } \right) ^ { 2 } \times \left( \frac { 3 } { 4 } \right) ^ { 10 } \div \left( \frac { 3 } { 4 } \right) ^ { 8 }[/latex] का मान ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 17

प्रश्न 25.
x (y-z) + y (z-४) + z (x-y) को सरल कीजिए।
हल:
x (y-2) + y (z-x) + z (x – y)
= xy – xz + yz -yx + zx-zy
= xy-xz + yz-xy+xz-yz
= xy xy ty2-yz-xz + xz
= 0

प्रश्न 26.
पावं चित्र में, o वृत्त का केन्द्र है। ∠OBC = 40°, तो ∠BAC का मान ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 18
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 19

प्रश्न 27.
[latex]3 x ^ { 2 } – b x ^ { 2 } + b y ^ { 2 } – 3 y ^ { 2 }[/latex] का गुणनखंड कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 20

प्रश्न 28.
एक समद्विबाहु त्रिभुज ABC का शीर्ष कोण 40° है। त्रिभुज की भुजा AB और AC के मध्य बिन्दु क्रमशः M और N हैं। बिन्दुओं M और N को मिलाइए। इस प्रकार बने चतुर्भुज BMNC के अन्त:कोण BMN तथा कोण CNM का योग ज्ञात कीजिए। इनका अलग-अलग मान भी ज्ञात कीजिए।
हल:
समद्विबाहु त्रिभुज ABC में,
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 21

प्रश्न 29.
[latex]a b \left( c ^ { 2 } + d ^ { 2 } \right) – a ^ { 2 } c d – b ^ { 2 } c d[/latex] को सरल कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 22

प्रश्न 30.
समान्तर चतुर्भुज की दो संलग्न भुजाओं का अनुपात 1: 2 है। यदि इसका परिमाप 30 सेमी हो, तो प्रत्येक भुजा की माप ज्ञात कीजिए।
हल:
माना समान्तर चतुर्भुज की दो संलग्न भुजाएँ x तथा 2x सेमी हैं। प्रश्नानुसार,
x + 2x + x + 2x = 30
6x = 30
[latex]x = \frac { 30 } { 6 } = 5[/latex] सेमी
2x = 2 x 5 = 10 सेमी
अतः समान्तर चतुर्भुज की प्रत्येक भुजा की माप = 5 सेमी, 10 सेमी
5 सेमी, 10 सैमी

वार्षिक परीक्षा प्रश्न-पत्र
कक्षा-7
विषय-गणित

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
x- 5 = 9 को हल कीजिए।
हल:
x-5 + 5 = 9 +5
x = 9 + 5 = 14

प्रश्न 2.
वह राशि ज्ञात कीजिए जिसका 35% = 280 है।
हल:
माना राशि x है।
x का 35% = 280
[latex]\Rightarrow \quad x \times \frac { 35 } { 100 } = 280[/latex]
[latex]\Rightarrow \quad x = \frac { 280 \times 100 } { 35 } = 800[/latex]

प्रश्न 3.
किसी कक्षा में 5 विद्यार्थियों ने गणित परीक्षा में क्रमशः 40, 50, 68, 70, 72 अंक प्राप्त किए। प्राप्तांकों का समान्तर माध्य ज्ञात कीजिए।
हल:
समान्तर माध्य = [latex]\frac { 40 + 50 + 68 + 70 + 72 } { 5 } = \frac { 300 } { 5 } = 60[/latex] अंक

प्रश्न 4.
⇒ 3x-5 = 4 को हल कीजिए।
हल:
⇒ 3x-5 = 4
⇒ 3x = 4+5
⇒ 3x = 9
⇒ x = [latex]\frac { 9 } { 3 }[/latex] =3

प्रश्न 5.
150 रु का 4% वार्षिक ब्याज की दर से 1 वर्ष का साधारण ब्याज ज्ञात कीजिए।
हल:
<UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 23

प्रश्न 6.
घन के प्रत्येक कोर की लंबाई 4% सेमी है, तो उस घन का सम्पूर्ण पृष्ठ ज्ञात कीजिए।
हल:
दिया है भुजा a = 4 सेमी
घन के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = [latex]6 a ^ { 2 }[/latex]
= 6 ×4 × 4 = 96 वर्ग सेमी

प्रश्न 7.
एक त्रिभुज का आधार 5 सेमी और संगत ऊँचाई 6 सेमी है। त्रिभुज का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
हलं:
त्रिभुज का आधार = 5 सेमी तथा ऊँचाई = 6 सेमी।
त्रिभुज का क्षेत्रफल = [latex]\frac { 1 } { 2 }[/latex] × आधार × ऊँचाई
= [latex]\frac { 1 } { 2 }[/latex] 5 × 6 वर्ग सेमी = 15 वर्ग सेमी

प्रश्न 8.
यदि एक कार 45 किमी प्रति घण्टा की चाल से जाती है तो 1 सेकंड में कितनी दर जाएगी?
हल:
कार द्वारा 1 सेकंड चली गई दूरी ।
[latex]= \frac { 45 \times 1000 } { 60 \times 60 } = \frac { 45 \times 10 } { 36 } = 12.5[/latex] मीटर

प्रश्न 9.
एक आयत का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए, जिसकी लम्बाई तथा चौड़ाई क्रमशः 12 मी तथा 5 मी है।
हल:
आयत का क्षेत्रफल = लंबाई × चौड़ाई
= 12 मी × 5 मी = 60 वर्ग मीटर

प्रश्न 10.
एक वर्ग की भुजा 7 सेमी है तो इसका परिमाप ज्ञात कीजिए।
हल:
वर्ग का परिमाप = 4 × भुजा = 4 × 7 सेमी = 28 सेमी

प्रश्न 11.
18 – 5x = 3x-6 को हल कीजिए।
हल:
18 – 5x = 3x – 6
⇒ – 5x-3x = – 6 – 18
[latex]- 8 x = – 24 \Rightarrow x = \frac { – 24 } { – 8 } = 3[/latex]

प्रश्न 12.
[latex]\frac { 1 } { 3 } x + 5 = 6[/latex] को हल कीजिए।
हल:
[latex]\frac { 1 } { 3 } x + 5 = 6[/latex]
[latex]\Rightarrow \quad \frac { 1 } { 3 } x = 6 – 5[/latex]
[latex]\Rightarrow \quad \frac { 1 } { 3 } x = 1 \Rightarrow x = 1 \times 3 = 3[/latex]

प्रश्न 13.
यदि किसी संख्या x में 5 से भाग देने पर भागफल 7 आता है, तो वह संख्या क्या होगी?
हल:
x + 5 = 7 ⇒ x = 7 × 5 = 35

प्रश्न 14.
18 सेमी भुजा वाले घन का सम्पूर्ण पृष्ठ ज्ञात कीजिए।
हल:
घन का सम्पूर्ण पृष्ठ = 6 × भुजा
= 6 × (18)
= [latex]6 \times ( 18 ) ^ { 2 } = 6 \times 324[/latex] सेमी²
= 1944 सेमी²

प्रश्न 15.
अर्द्धवृत्त में बने कोण का माप कितना होता है?
हल:
अर्द्धवृत्त में बने कोण का माप 90° (समकोण) होता है।

प्रश्न 16.
यदि एक विषम संख्या 2x + 1 है, तो दूसरी क्रमागत विषम संख्या क्या होगी?
हल:
दूसरी क्रमागत विषम संख्या = (2x + 1) + 2 = 2x + 3

प्रश्न 17.
एक त्रिभुज का क्षेत्रफल 48 सेमी है। यदि उसकी ऊँचाई 8 सेमी हो, तो त्रिभुज को आधार बताइए।
हल:
त्रिभुज का क्षेत्रफल = 48 सेमी तथा त्रिभुज की ऊँचाई = 8 सेमी
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 24

प्रश्न-18.
एक वर्गाकार टाइल की एक भुजा 12 सेमी है उसका क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
हल:
वर्गाकार टाइल की एक भुजा = 12 सेमी
टाइल का क्षेत्रफल = 12 × 12 = 144 वर्ग सेमी

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 19.
उस घनाभ का सम्पूर्ण पृष्ठ ज्ञात कीजिए, जिसकी लम्बाई 10 सेमी, चौड़ाई 8 सेमीतथा ऊँचाई 5 सेमी है।
हल:
दिया है, l= 10 सेमी, b = 8 सेमी, h = 5 सेमी
अतः घनाभ का सम्पूर्ण पृष्ठ = (lb + bh + hl)
=2 (10 × 8 + 8 × 5 + 10 × 5) सेमी² = 2 (80 + 40 + 50) सेमी²
= 2 × 170 सेमी² = 340 सेमी²

प्रश्न 20.
कक्षा 7 के 10 शिक्षार्थियों के भार (किग्रा में) क्रमशः 56, 42, 40, 38, 52, 48, 45, 45, 44 तथा 40 किग्रा हैं। उनके भार को समान्तर माघ्य ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 25

प्रश्न 21.
रमेश के कृषि फार्म की लम्बाई 240 मीटर और चौड़ाई 110 मीटर है। कृषि फार्म को क्षेत्रफल हेक्टेयर में ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 26

प्रश्न 22.
उस त्रिभुज की ऊँचाई ज्ञात कीजिए जिसका क्षेत्रफल 45 सेमी है तथा आधार 15 सेमी है।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 27

प्रश्न 23.
वो संख्याओं को योगफल 710 है। जब बड़ी संख्या की छोटी संख्या से भाग दिया | जाता है, तो भागफल 12 और शेषफल 8 आता है। बड़ी संख्या ज्ञात कीजिए।
हल:
माना छोटी संख्या b है, तो बड़ी संख्या 710 – b होगी।
प्रश्नानुसार, 12b + 8 = 710 – b
13b = 710-8 = 702
[latex]\Rightarrow \quad b = \frac { 702 } { 13 }[/latex]
b = 54
बड़ी संख्या = 710 – 54 = 656

प्रश्न 24.
एक सिलाई मशीन का अंकित मूल्य 830 रुपये है। यदि दुकानदार ग्राहकों को 20% का बट्टा देता है, तो मशीन का विक्रय मूल्य ज्ञात कीजिए।
हल:
सिलाई मशीन का अंकित मूल्य = ₹ 830
बट्टे की प्रतिशत दर = 20%
बट्टा = [latex]830 \times \frac { 20 } { 100 }[/latex] = ₹ 166
अतः सिलाई मशीन का विक्रय मूल्य = अंकित मूल्य – बट्टा
= 830 – 166 = 664

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 25.
एक कमीज का अंकित मूल्य 50 रुपये था और वह 45 रुपये में उपलब्ध थी। उस पर किस प्रतिशत दर से बढ़ा दिया गया?
हल:
कमीज का अंकित मूल्य = 50 रुपये
विक्रय-मूल्य = 45 रुपये
बट्टा = अंकित मूल्य-विक्रय मूल्य
= 50 रुपये – 45 रुपये = 5 रुपये
बट्टा प्रतिशत = [latex]\frac { 5 } { 50 } \times 100 = 10 \%[/latex]
अतः बट्टे की दर 10%

प्रश्न 26.
एक रेलगाड़ी की लंबाई 270 मीटर है; एक खम्भे को 9 सेकंड में पार कर लेती है। उसकी चाल किमी प्रति घण्टा में ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 28

प्रश्न 27.
3000 रुपये का 10% वार्षिक ब्याज की दर से 3 वर्ष बाद चक्रवृद्धि मिश्रधन तथा चक्रवृद्धि ब्याज ज्ञात कीजिए।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 29

प्रश्न 28.
एक मीनार की ऊँचाई 100 मीटर है। धरातल पर स्थित किसी बिन्दु से उसके शिखर का उन्नयन कोण यदि 30° हो, तो धरातल बिन्दु से मीनार के पाद की दूरी ज्ञात कीजिए, जहाँ पर 10 मी = 1 सेमी।
हल:
UP Board Class 7 Maths Model Paper गणित 30

We hope the UP Board Class 7 Maths Model Paper, help you. If you have any query regarding UP Board Class 7 EMaths Model Paper, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

UP Board Class 7 Agricultural Science Model Paper कृषि विज्ञान

UP Board Class 7 Agricultural Science Model Paper are part of UP Board Class 7 Model Papers. Here we have given UP Board Class 7 Agricultural Science  Model Paper.

Board UP Board
Class Class 7
Subject Agricultural Science
Model Paper Paper 1
Category UP Board Model Papers

UP Board Class 7 Agricultural Science Model Paper कृषि विज्ञान

सत्र-परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय – कृषि विज्ञान

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
प्रकृति में जल किन-किन रूपों में पाया जाता है?
उत्तर:
प्रकृति में जल ठोस (बर्फ), द्रव (पानी) तथा गैस (पाप) के रूप में पाया जाता है।

प्रश्न 2.
उर्वरकों के लगातार अधिक प्रयोग से मृदा ………. हो जाती है। वाक्य पूर्ण कीजिए।
उत्तर:
उर्वरकों के लगातार अधिक प्रयोग से मृदा खराब हो जाती है।

प्रश्न 3.
पहाड़ों पर किस प्रकार की खेती होती है?
उत्तर:
पहाड़ों पर सीढ़ीदार खेती होती है।

प्रश्न 4.
ढालू खेतों में फसलों का उत्पादन कम क्यों होता है?
उत्तर:
ढालू खेतों में भू-क्षरण अधिक होने से उनकी उपजाऊ क्षमता घटती रहती है।

प्रश्न 5.
मृदा संरक्षण का क्या अर्थ है?
उत्तर:
मृदा संरक्षण का अर्थ-मृदा को क्षरण से बचाना है।

प्रश्न 6.
खेत व नालों से बहते पानी को रोकने के हेतु क्या करते हैं?
उत्तर:
खेतों व नालों में बहते हुए पानी को रोकने के लिए रोक बाँध’ (चेक डैम) बनाना पड़ता है, जिससे भू-क्षरण पर रोक लगती है।

प्रश्न 7.
मृदा अपरदन किसे कहते हैं?
उत्तर:
भूमि के कणों का अपने मूल स्थान से हटने एवं दूसरे स्थान पर एकत्र होने की क्रिया को मृदा अपरदन कहते हैं।

प्रश्न 8.
खेत को समतल एवं मेंड़बंदी करने से क्या लाभ होता है?
उत्तर:
खेतों को समतल करके उसके चारों ओर मेड़बंदी करने से खेत का पानी बाहर नहीं जाता है जिससे भू-क्षरण नहीं होता है।

प्रश्न 9.
पौधे ran”को आसानी से ग्रहण करते हैं। वाक्य पूर्ण कीजिए।
उत्तर:
पौधे केशिको जल को आसानी से ग्रहण करते हैं।

प्रश्न 10.
मृदा कणों के वितरण या सजावट को क्या कहते हैं?
उत्तर:
मृदा विन्यास या मृदा संरचना।

प्रश्न 11.
हमारे देश की वार्षिक वर्षा का कितना भाग पानी बहकर नदी-नालों में चला जाता है?
उत्तर:
एक तिहाई भाग।

प्रश्न 12.
किस मृदा में रंध्रावकाश अधिक होता है?
उत्तर:
मोटे कण वाली मृदा में।

प्रश्न 13.
जल विज्ञान में किसका अध्ययन किया जाता है?
उत्तर:
न जल चक्र का।

प्रश्न 14.
मृदा में जल संरक्षित क्यों किया जाता है?
उत्तर:
फसलों की अच्छी पैदावार के लिए।

प्रश्न 15.
सैंडड्यून क्या है?
उत्तर:
रेतीली भूमि में तेज हवा के कारण बने बड़े-बड़े बालू के टीलों को सैंडड्यून कहते हैं।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 16.
गहरी जुताई क्यों की जाती है? यदि गहरी जुताई न की जाए तो क्या नुकसान होगा?
उत्तर:
भूमि की 40 सेमी या इससे अधिक गहराई तक की जुताई को गहरी जुताई कहते हैं। इसका उद्देश्य नमी को सुरक्षित रखना एवं भूमि की निचली सतह से कमजोर परत तोड़ना होता है। गहरी जुताई न करने से भूमि में नमी सुरक्षित रखना संभव नहीं हो पाएगा।

प्रश्न 17.
मृदा संरक्षण के महत्त्व पर प्रकाश डालिए।
उत्तर:
मृदा की सुरक्षा करना हमारा परम कर्तव्य है। इसके लिए हमें उचित मृदा संरक्षण विधियाँ अपनाना आवश्यक है। यदि भूमि पर घास वनस्पतियाँ नहीं हैं, तो भू-क्षरण अधिक होता है। जिससे नदी, नालों में मिट्टी जमा होने से उनकी जल धारण क्षमता घटती हैं और बाढ़ का कारण बनती है।

प्रश्न 18.
मृदा विन्यास किस-किस चीजों से प्रभावित होता है?
उत्तर:
भूपरिष्करण (जुताई, गुड़ाई, निराई आदि) से, कार्बनिक खाद (चूना, जिप्सम आदि) से, फसल चक्र द्वारा, मिट्टी की दशा एवं किस्म से, उर्वरकों के प्रयोग तथा जल निकास से आदि।

प्रश्न 19.
रंध्रावकाश पौधों के लिए किस प्रकार महत्त्वपूर्ण है?
उत्तर.
निम्न कारणों से रंध्रावकाश पौधों के लिए महत्त्वपूर्ण है

  1. रंध्रावकाश पौधों को समुचित जल, वायु एवं पोषक तत्व उपलब्ध कराने में सहायता करता है।
  2. मृदा के लाभदायक जीवों की वृद्धि में सहायक होता है।
  3. पौधों की वृद्धि के लिए आवश्यक घुलनशील तत्वों की वृद्धि में सहायता करता है।
  4. जड़ों के समुचित विकास में सहयोग करता है।

प्रश्न 20.
जल ही जीवन है कैसे? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
हमें अपने जीवन के सभी कार्यों के लिए जल की आवश्यकता होती है, जैसे-खाना बनाने, सफाई, सिंचाई, खेती आदि कार्यों में। इसके बिना हम कोई भी कार्य नहीं कर सकते हैं। इसलिए जल हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण है।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 21.
भू-क्षरण किन-किन कारकों द्वारा होता है? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
भू-क्षरण के कारक- भू-क्षरण की क्रिया वर्षा या वायु को मृदा से संपर्क होते ही प्रारंभ होती है। जैसे जैसे वर्षा या वायु वेग घटता-बढ़ता है, वैसे-वैसे भू-क्षरण का रूप और प्रकार बदलता रहता है। भू-क्षरण मुख्य रूप से दो कारकों द्वारा होता है, जल एवं वायु के द्वारा होने वाले भू क्षरण को क्रमश: जलीय भू-क्षरण एवं वायु भू-क्षरण कहते हैं।

प्रश्न 22.
मृदा विन्यास कितने प्रकार का होता है? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
मृदा विन्यास चार प्रकार के होते हैं

  1. स्तंभी विन्यास
  2. तिर्यक (तिरछा) विन्यास
  3. संहत (सघन) विन्यास
  4. दानेदार (कणीय) विन्यास

स्तंभी विन्यास वाली मृदा भुरभुरी व मुलायम होती है। यह मृदा खेती के लिए उत्तम व उपजाऊ होती है। तिर्यक विन्यास वाली मृदा में रंध्रावकाश कम होने से पैदावार कम होती है। संहत (सघन) विन्यास वाली मृदा में जल और वायु का संचार मुश्किल से होता है। दानेदार (कणीय) विन्यास सर्वोत्तम होता है। चिकनी दोमट एवं दोमट मृदाओं में यह पाया जाता है।

प्रश्न 23.
उर्वरकों के अधिक प्रयोग से भूमि पर होने वाले हानिकारक प्रभावों का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
उर्वरकों के अधिक प्रयोग से मृदा में असन्तुलन की स्थिति उत्पन्न हो गई जिसका प्रभाव प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से मृदा जल एवं कृषि उत्पादों पर पड़ता है।
प्रत्यक्ष प्रभाव-

  1. मृदा अम्लीय व ऊसर हो जाती है।
  2. लाभदायक जीव जन्तु, जैसेकेंचुए, जीवाणु आदि नष्ट हो जाते हैं।
  3. पोषक तत्वों का सन्तुलन बिगड़ जाता है।
  4. कृषि उत्पादों की गुणवत्ता घट जाती है।
  5. मृदा-विन्यास खराब हो जाता है।
  6. मृदा की जल धारण क्षमता कम हो जाती है।

अप्रत्यक्ष कुप्रभाव-

  1. वर्षा जल के साथ उर्वरकों के अंश नदी, तालाब में चले जाते हैं, जो मत्स्य विकास और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं।
  2. फलों, सब्जियों, दलहनों, अनाजों के पोषक तत्वों पर कुप्रभाव से उनके स्वाद व गुणवत्ता में कमी आ जाती है।
  3. अधिक नमी से उर्वरक के कुछ अंश नीचे चले जाते हैं, जिससे भूमिगत जल की गुणवत्ता प्रभावित होती है।

प्रश्न 24.
भू-क्षरण की परिभाषा दीजिए। जलीय भू-क्षरण के प्रकारों का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
भूमि के कणों का अपने मूल स्थान से हटने एवं दूसरे स्थान पर एकत्र होने की क्रिया को भू-क्षरण या मृदा अपरदन कहते हैं। बरसात में जल के द्वारा होने वाले भू-क्षरण को जलीय भू-क्षरण कहते हैं। यह निम्न प्रकार का होता है-

  1. वर्षा-बूंद भू-क्षरण
  2. परत भू क्षरण
  3. अल्पसरिता भू-क्षरण
  4. खड्ड या अवनालिका भू क्षरण
  5. बीहड़ भू-क्षरण
  6. नदी तट भू-क्षरण
  7. समुद्रतट भू-क्षरण
  8. हिमनद भू-क्षरण
  9. भूस्खलन भू-क्षरण जो पहाड़ों पर चट्टानों के खिसकने से होता है जिससे नीचे के खेत, सड़क व बस्तियाँ दब जाती हैं।

 

अद्र्धवार्षिक परीक्षा प्रश्न-पत्र
कक्षा-7
विषय – कृषि विज्ञान

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
भूमि का कटाव किस क्रिया द्वारा कम होता है?
उत्तर:
भूमि का कटाव भू-परिष्करण द्वारा कम होता है।

प्रश्न 2.
राइजोबियम बैक्टीरिया मृदा में …………. स्थिर करता है। वाक्य पूर्ण कीजिए।
उत्तर:
राइजोबियम बैक्टीरिया मृदा में नाइट्रोजन स्थिर करता है।

प्रश्न 3.
कंदवाली फसलों के नाम लिखिए।
उत्तर:
शकरकंद, आलू, अरबी, बंडा आदि कंदवाली फसलें हैं।

प्रश्न 4.
वायुमण्डल में नाइट्रोजन कितने प्रतिशत पाया जाता है?
उत्तर:
वायुमण्डल में नाइट्रोजन 78 प्रतिशत पाया जाता है।

प्रश्न 5.
त्वरित भू-क्षरण किसके द्वारा होता है?
उत्तर:
त्वरित भू-क्षरण मनुष्य द्वारा होता है।

प्रश्न 6.
देशी हल का प्रयोग कहाँ होता है?
उत्तर:
देशी हल का प्रयोग मिट्टी की जुताई के लिए होता है।

प्रश्न 7.
मृदा की जैविक उर्वरता बढ़ाने के लिए क्या प्रयोग किया जाता है?
उत्तर:
मृदा की जैव उर्वरक बढ़ाने के लिए नाइट्रोजन का प्रयोग किया जाता है।

प्रश्न 8.
मृदा परीक्षण उर्वरता निर्धारण करने की ……………. विधि है। वाक्य पूर्ण कीजिए।
उत्तर:
मृदा परीक्षण उर्वरता निर्धारण करने की एक रासायनिक विधि है।

प्रश्न 9.
बीहड़ (रेवाइन) किन स्थानों पर पाया जाता है?
उत्तर:
बीहड़ (रेवाइन) नदी या नालों के किनारे व आस-पास पाया जाता है।

प्रश्न 10.
ज्वार की खेती किस भूमि पर की जाती है?
उत्तर:
ज्वार की खेती बलुई-दोमट भूमि पर की जाती है।

प्रश्न 11.
अरहर की पैदावार प्रति हेक्टेयर कितनी होती है?
उत्तर:
अरहर की पैदावार प्रति हेक्टेयर 20-25 कुंतल होती है।

प्रश्न 12.
फूलगोभी की अगेती किस्म की नर्सरी की बुआई किस माह में होती है?
उत्तर:
फूल गोभी की अगेती किस्म की नर्सरी की बुआई जून माह में होती है।

प्रश्न 13.
बाजरे की फसल में दीमक का नियंत्रण किस कीटनाशक से करते हैं?
उत्तर:
बाजरे की फसल में दीमक का नियंत्रण BHC 20 EC नामक कीटनाशक से करते हैं।

प्रश्न 14.
कम समय में पकने वाली अरहर की प्रजातियों के नाम बताइए।
उत्तर:
कम समय में पकने वाली अरहर की प्रजातियाँ-

  1. टाइप-21
  2. यू.पी.ए,एस, 120 तथा
  3. प्रभात।

प्रश्न 15.
अरहर की अच्छी फसल के लिए कितनी खाद देनी चाहिए?
उत्तर:
अरहर की अच्छी फसल के लिए 15-20 किग्रा नाइट्रोजन और 40-50 किग्रा फॉस्फोरस देना चाहिए।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 16.
मृदा में नाइट्रोजन की कमी का पौधों पर प्रभाव बताइए।
उत्तर:
मृदा में नाइट्रोजन की कमी से पौधों में वृद्धि रुक जाती है। पौधों की पत्तियों पीली पड़ जाती हैं। फल छोटे-छोटे और कम हो जाते हैं और पकने से पूर्व गिर जाते हैं।

प्रश्न 17.
जैव उर्वरक क्या है?
उत्तर:
जैव उर्वरक सूक्ष्म कल्चर होते हैं। जो मृदा में नाइट्रोजन बढ़ाने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। कुछ जीव फॉस्फोरस बढ़ाने के लिए प्रयोग किए जाते हैं, तो कुछ कार्बनिक पदार्थ को शीघ्र सड़ाने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। जैव उर्वरक बहुत सस्ते होते हैं। इनका प्रयोग बहुत आसान होता है और इनके प्रयोग में 50 से 80 रु प्रति हेक्टेयर खर्च होता है।

प्रश्न 18.
खाद को परिभाषित कीजिए।
उत्तर:
वे कार्बनिक पदार्थ जिनसे पौधों के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति की जाती है, खाद कहलाते हैं। खाद में पौधों के लिए सभी आवश्यक तत्व पाए जाते हैं। कम्पोस्ट की खाद, मल मूत्र व गोबर की सड़ी-गली खाद, जैविक खाद तथा हरी खाद इसके अंतर्गत आती है।

प्रश्न 19.
फूलगोभी के बोने का समय तथा बीज की मात्रा का विवरण दीजिए।
उत्तर:
बुआई का समय तथा बीज की मात्रा-फूलगोभी की विभिन्न किस्मों के बीज की नर्सरी में बुआई का उचित समय निम्न प्रकार है

  1. अगेती किस्में – जून माह में
  2. मध्यम किस्में – जुलाई-अगस्त
  3. पछेती किस्में – सितम्बर-अक्टूबर

अगेती तथा मध्यम किस्मों की एक हेक्टेयर में रोपाई के लिए लगभग 500-600 ग्राम बीज की पौध पर्याप्त होती हैं।

प्रश्न 20.
बाजरे की संकर प्रजातियों, उनके पकने का समय तथा उपज बताइए।
उत्तर:
बाजरे की संकर प्रजातियों में पूसा-322, पूसा-23 व आई. सी. एम. एच. 451 है। इनके पकने में 85-90 दिन लगते हैं। इनसे 25-30 कुंतल उपज प्रति हेक्टेयर होती है।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 21.
मिश्रित उर्वरक से आप क्या समझते हैं? उसके लाभ एवं हानि बताइए।
उत्तर:
दो या दो से अधिक उर्वरकों के मिश्रण को मिश्रित उर्वरक कहते हैं। मिश्रित उर्वरक तीन मानक (ग्रेड) के होते हैं

(i) कम मानक – इसमें नाइट्रोजन, फॉस्फोरस एवं पोटाश की कम प्रतिशत मात्रा होती है, इसका प्रतिशत योग 14 से कम होता है; जैसे – 2-8 2, 2-4-6 ग्रेड।
(ii) मध्यम मानक – इसमें तीनों को योग 15-25 तक होता है।
(iii) उच्च मानक – इसमें तीनों को योग 25 से अधिक होता है।

लाभ –

  1. किसान सरलता से प्रयोग कर सकता है
  2. इसे सुगमता से रखा जा सकता है।

हानियाँ-

  1. जब मृदा में एक या दो तत्वों की कमी हो, तो प्रयोग लाभकारी नहीं होता है।
  2. इसमें एक तत्व की अधिकता जबकि दूसरे तत्व की कमी होती है।

प्रश्न 22.
नाइट्रोजन उर्वरक का वर्गीकरण कीजिए।
उत्तर:
नाइट्रोजन उर्वरक का वर्गीकरण- रासायनिक आधार पर नाइट्रोजन उर्वरकों को निम्न वर्गों में बाँटा गया है
(i) नाइट्रेट उर्वरक-

  • (क) सोडियम नाइट्रेट- 16% नाइट्रोजन
  • (ख) कैल्सियम नाइट्रेट 15% नाइट्रोजन उर्वरकों का प्रयोग खड़ी फसल में छिड़काव के रूप में किया जाता है।

(ii) अमोनियम उर्वरक-

  • (क) अमोनियम सल्फेट- 20% नाइट्रोजन
  • (ख) डाई अमोनियम फॉस्फेट 18% नाइट्रोजन। नाइट्रोजन अमोनियम रूप में मिलता है। इन उर्वरकों को मिट्टी में मिलाया जाता है।

(iii) अमोनियम और नाइट्रेट उर्वरक-

  • (क) अमोनियम नाइट्रेट 33.5% नाइट्रोजन
  • (ख) अमोनियम सल्फेट नाइट्रेट-26% नाइट्रोजन। इन उर्वरकों को बोआई के समय खेत में मिलाया जाता है।

प्रश्न 23.
निम्नलिखित का मिलान कीजिए- ( मिलान करके)
(i) ज्वार – (क) वी. के. 560
(ii) बाजरा – (ख) मऊरानीपुर
(iii) उकठा रोग – (ग) सरकोस्पोरा फर्फेद
(iv) पत्ती का धब्बा रोग – (घ) फ्यूजेरियम उडम फर्कैद
(v) अरहर – (ङ) दलहनी फसल
(vi) गेहूँ। – (च) वर्षा ऋतु की फसल
(vii) धान – (छ) रबी की फसल
उत्तर:
(i)  (ख) मऊरानीपुर
(ii) (क) वी. के. 560
(iii) (घ) फ्यूजेरियम उडम फर्कैद
(iv) (ग) सरकोस्पोरा फर्फेद
(v) (ङ) दलहनी फसल
(vi) (छ) रबी की फसल
(vii) (च) वर्षा ऋतु की फसल

 

वार्षिक परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7 
विषय – कृषि विज्ञान

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
फल तथा सब्जियों को बिना खराब हुए कितने दिनों तक सुरक्षित रखा जा सकता
उत्तर:
इन्हें परिरक्षक द्वारा बहुत दिनों तक सुरक्षित रखा जा सकता है।

प्रश्न 2.
प्राकृतिक आपदा किन-किन रूपों में आती हैं?
उत्तर:
प्राकृतिक आपदा बाढ़, सूखा, भू-स्खलन, सुनामी आदि रूपों में आती है।

प्रश्न 3.
बोतल बंदी में पात्र को खौलते पानी में क्यों उबालते हैं?
उत्तर:
उबालने से पात्र के अन्दर और बाहर के जीवाणु नष्ट हो जाते हैं।

प्रश्न 4.
किन्हीं तीन लताओं के नाम लिखिए।
उत्तर:
तीन लताओं के नाम-

  1. वोगन वीलिया
  2. ऐंटीगोनन लेप्टोपस
  3. बिगनोनियां

प्रश्न 5.
स्क्वैश किससे तैयार किया जाता है?
उत्तर:
स्क्वैश नींबू से तैयार किया जाता है।

प्रश्न 6.
बैक्टीरिया तथा कवक किस ताप पर नष्ट हो जाते हैं?
उत्तर:
बैक्टीरिया तथा कवक 71.4°C ताप पर नष्ट हो जाते हैं?

प्रश्न 7.
फलों में रंग परिवर्तन किसके कारण होता है?
उत्तर:
फलों में रंग परिवर्तन एंजाइम के कारण होता है।

प्रश्न 8.
कायिक प्रवर्धन के कितने तरीके हैं?
उत्तर:
कायिक प्रवर्धन के दो तरीके हैं-

  1. कलम लगाना
  2. दाब लगाना।

प्रश्न 9.
केले का जन्म स्थान कहाँ माना जाता है?
उत्तर:
मलाया।

प्रश्न 10.
नाशपाती के लिए कैसी जलवायु होनी चाहिए?
उत्तर:
शीतोष्ण जलवायु।

प्रश्न 11.
फलों और सब्जियों में परिरक्षक के रूप में किस रसायन का उपयोग किया जाता है?
उत्तर:
पोटैशियम मेटाबाईसल्फाइट, सोडियम बेंजोएट, सोडियम मेटाबाई सल्फाइट।

प्रश्न 12.
नाशपाती के वृक्ष पर फल कब लगते हैं?
उत्तर:
5 से 8 वर्ष में।

प्रश्न 13.
प्रत्येक साल फल देने वाली आम की कौन-सी प्रजाति है?
उत्तर:
आम्रपाली और मल्लिका।

प्रश्न 14.
ऊतक कोशिकाएँ विभाजन द्वारा किसका निर्माण करती हैं?
उत्तर:
कैलस (Callus) का।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 15.
बाढ़ आने के क्या कारण हो सकते हैं? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
वनों की अंधाधुंध कटाई तथा बड़े-बड़े उद्योगों द्वारा अत्यधिक मात्रा में कार्बन डाइ ऑक्साइड गैस छोड़े जाने के कारण पृथ्वी के ताप में अत्यधिक वृद्धि होती है जिससे पहाड़ों की बर्फ पिघलने लगती है और बाढ़ का कारण बनती है।

प्रश्न 16.
पोटैशियम मेटाबाई सल्फाइड क्या है? इसकी प्रयोग विधि बताइए।
उत्तर:
यह एक रवेदार गंधक लवण है, यह अम्लीय व क्षारीय माध्यम से प्रभावित नहीं होता है फलों के रसों में उपस्थित सिट्रिक अम्ल के प्रभाव से पोटैशियम साइट्रेट में बदल जाता हैं। सल्फर डाइऑक्साइड गैस पानी से मिलकर सल्फ्यूरिक अम्ल बनाती है, जो परिरक्षक का कार्य करती है।

प्रश्न 17.
भू-स्खलन के क्या कारण हैं? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
कभी-कभी कोयले की खानों से अत्यधिक मात्रा में खनिज पदार्थ निकाल लिए जाते हैं, जिससे उसका आधार समाप्त हो जाता है और जमीन धंसने लगती है। इसके अतिरिक्त वर्षा या बाढ़ आने पर बड़ी-बड़ी नदियों के किनारे भारी मात्रा में कटाव हो जाने से भी भू-स्खलन होता है।

प्रश्न 18.
प्राकृतिक आपदाओं से सुरक्षा के क्या उपाय हैं?
उत्तर:
प्राकृतिक आपदाओं से सुरक्षा के निम्नलिखित उपाय हैं

  1. अधिकाधिक वृक्षारोपण।
  2. वनों का संरक्षण।
  3. उद्योगों से निकली कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा घटाना।
  4. आपदाओं के संबंध में पूर्व सूचना मिलना।
  5. आपदाओं से संबंधित सूचनाओं को प्रसारण।
  6. सूखा प्रभावित क्षेत्रों में बाँध बनाना, जलाशयों को गहरा करना।
  7. सिंचाई के लिए नहरें बनाना, बिजली पैदा करना।

प्रश्न 19.
निम्नलिखित का मिलान कीजिए
(i) गुलमोहर – (क) लतर
(ii) चमेली – (ख) अलंकृत पौधा
(iii) केला – (ग) मौसमी पौधा
(iv) गेंदा – (घ) फल का पौधा
उत्तर:
(i) (ख) अलंकृत पौधा
(ii) (क) लतर
(iii) (घ) फल का पौधा
(iv) (ग) मौसमी पौधा

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 20.
बीज प्रवर्धन किसे कहते हैं? इन प्रवर्धनों से होनेवाले लाभ तथा हानियों के बारे में लिखिए।
उत्तर:
बीज द्वारा जब बहुत से पौधे तैयार किए जाते हैं, तब हम इस क्रिया को बीज प्रवर्धन कहते हैं।
बीज प्रवर्धन के लाभ

  1. पेड़ अधिक ऊँचे तथा फैलने वाले होते हैं।
  2. पेड़ों की आयु अधिक होती है।
  3. पेड़ बहुत मजबूत होते हैं
  4. बीमारियों तथा मौसम के प्रकोप को सहन करने की इनमें शक्ति होती है।
  5. प्रति पेड़ उपज अधिक होती है।
  6. यह सबसे सरल एवं सस्ती विधि हैं।

बीज प्रवर्धन से हानि

  1. पौधे मातृ वृक्ष के समान नहीं होते हैं।
  2. वृक्ष अधिक ऊँचा होने के कारण फलो की तुड़ाई में कठिनाई होती है।
  3. फल अच्छी गुणवत्ता वाले नहीं होते हैं।
  4. फल देर से लगता है।

प्रश्न 21.
आँवले का मुरब्बा कैसे बनाया जाता है?
उत्तर:
सर्वप्रथम आँवले को धोकर स्टील के काँटों से गोदते हैं। 20% फिटकरी के उबलते घोल में 5-10 मिनट पकाते हैं। भगौने में एक किलोग्राम आँवले के लिए डेढ़ किलोग्राम चीनी डालते हैं। पहले भगौने में चीनी की तह, फिर आँवले की तह लगाते जाते हैं। आँवले को चीनी की तहों में चौबीस घंटे रखते हैं। दूसरे दिन आँवले निकाल कर चीनी की चाशनी बनाकर आँवलों को चौबीस घंटे उसमें छोड़ देते हैं। तीसरे दिन आँवले निकालकर चीनी को 70 % करने के लिए पकाते हैं। आँवले गर्म चाशनी में डाल देते हैं। 20-25 दिन में मुरब्बा खाने योग्य हो जाता है।

प्रश्न 22.
वृक्षारोपण से आप क्या समझते हैं? इसका क्या महत्त्व है?
उत्तर:
वृक्षारोपण के अंतर्गत फलों के अलावा कुछ विशेष स्थानों पर विशेष प्रकार के वृक्ष । लगाए जाते हैं जो उपयोगी होते हैं। वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देने के लिए वन महोत्सव जैसे कार्यक्रम प्रचलित किए गए हैं। हमारे जीवन निर्वाह के लिए वृक्षारोपण के महत्त्व
निम्न प्रकार हैं

  • वृक्ष हमें फल देते हैं।
  • वृक्षारोपण से हमें इमारती, फर्नीचर तथा ईंधन की लकड़ी मिलती है।
  • पेड़ हमें हरियाली, छाया व पर्यावरण सुरक्षा देते हैं।
  • प्राकृतिक सौंदर्य की वृद्धि और वर्षा में सहायक है।
  • बाढ़ और भू-क्षरण को रोकते हैं।
  • प्राणवायु (ऑक्सीजन) उपलब्ध कराते हैं।

प्रश्न 23.
नींबू अथवा सन्तरा स्कवैश बनाने की विधि का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
नींबू का स्क्वैश बनाना – ताजे नींबू धोकर, छिलका उतारकर जूसर से जूस निकालते हैं और छलनी से छानते हैं।

आवश्यक सामग्री – नींबू रस – 1 लीटर, पानी – 2 ली, चीनी – 2 किग्रा, सिट्रिक अम्ल – 10 ग्राम, पोटैशियम मेटाबाई सल्फाइट – 3 ग्राम

विधि – स्टील के भगौने में पानी में चीनी डालकर गर्म करते हैं और बीच-बीच में रस को चलाते रहते हैं। एक उबाल पर उतारकर चाशनी ठंडी होने पर नींबू का रस और पौटेशियम मेटाबाई सल्फाइट को मिला दिया जाता है। परिरक्षक पहले थोड़े पानी में घोलते हैं, तब जूस में मिलाते हैं। स्क्वैश तैयार होने पर बोतल में 3 सेमी जगह छोड़कर भरते हैं और ढक्कन लगाकर सील कर देते हैं।

We hope the UP Board Class 7 Agricultural Science Model Paper (कृषि विज्ञान), help you. If you have any query regarding UP Board Class 7 Agricultural Science Model Paper (कृषि विज्ञान), drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper खेलकूद : खेल और स्वास्थ्य

UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper are part of UP Board Class 7 Model Papers. Here we have given UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper.

Board UP Board
Class Class 7
Subject Sports and Fitness
Model Paper Paper 1
Category UP Board Model Papers

UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper खेलकूद : खेल और स्वास्थ्य

सत्र परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय-खेल और स्वास्थ्य

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-1.
शरीर फुर्तीला तथा नीरोगी कैसे बनता है?
उत्तर:
व्यायाम करने से।

प्रश्न-2.
व्यायाम कहाँ करना चाहिए?
उत्तर:
खुले स्थान में।

प्रश्न-3.
किस आसन से कद की वृद्धि होती है?
उत्तर:
पश्चिमोत्तनासन से।

प्रश्न-4.
राष्ट्रगान किसका प्रतीक है?
उत्तर:
राष्ट्रगान राष्ट्र की एकता का प्रतीक हैं।

प्रश्न-5.
हमारे राष्ट्रध्वज में उपस्थित चक्र में कितनी तीलियाँ होती हैं?
उत्तर:
24 तीलियाँ।

प्रश्न-6.
राष्ट्रगान की रचना किसने की थी?
उत्तर:
गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने।

प्रश्न-7.
राष्ट्रध्वज कब फहराया जाता है?
उत्तर:
15 अगस्त एवं 26 जनवरी को।

प्रश्न-8.
मार्किंग से हमें क्या शिक्षा मिलती है?
उत्तर:
मार्चिग से हमें अनुशासन में रहने की शिक्षा मिलती है।

प्रश्न-9.
देश में राष्ट्रीय शोक के समय राष्ट्रध्वज का क्या किया जाता है?
उत्तर:
राष्ट्रध्वज को नियमानुसार झुकाया जाता है।

प्रश्न-10.
राष्ट्रगान कितने सेकंड में पूरा होना चाहिए?
उत्तर:
52 सेकंड में।

प्रश्न-11.
राष्ट्रध्वज किसका प्रतीक होता है?
उत्तर:
राष्ट्रध्वज देश की पहचान का प्रतीक होता है।

प्रश्न-12.
अंगों के सुधार हेतु क्या करना चाहिए?
उत्तर:
अंगों के सुधार हेतु नियमित योग, प्राणायाम, व्यायाम या पी०टी० करनी चाहिए।

प्रश्न-13.
जीतने या हारने पर अपने ऊपर नियन्त्रण रखने से कौन-सा गुण विकसित होता है?
उत्तर:
अनुशासन का।

प्रश्न-14.
सबसे लम्बी दौड़ कितने मीटर की होती है?
उत्तर:
600 मीटर की।

प्रश्न-15.
कौन-सा आसन सभी आसनों का राजा है?
उत्तर:
शीर्षासन।

प्रश्न-16.
ओलम्पिक खेलों को प्रारम्भ कहाँ हुआ?
उत्तर:
यूनान में।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-17.
शारीरिक शिक्षा की आवश्यकता क्यों होती है?
उत्तर:

  1. शारीरिक अंगों के सुधार हेतु
  2. अपनी रक्षा हेतु
  3. शरीर को फुर्तीला बनाने हेतु
  4. मनोरंजन हेतु

प्रश्न-18.
माचिंग क्या है?
उत्तर:
मार्चिग वह क्रिया है, जिसे एक निश्चित क्रम से किया जाता है। इसमें आदेशों को सुनते हुए ध्यान से क्रियाकलाप किए जाते हैं।

प्रश्न-19.
प्राथमिक चिकित्सा क्या है?
उत्तर:
जब कोई घटना घटती है, तब डॉक्टर के आने से पहले घायल व्यक्ति का जो उपचार किया जाता है, उसे प्राथमिक चिकित्सा कहते हैं।

प्रश्न-20.
राष्ट्रगान की रचना किसने की थी? यह कब स्वीकार किया गया?
उत्तर:
राष्ट्रगान की रचना गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने की थी। राष्ट्रगान ‘जन-गण-मन’ 24 जनवरी सन 1950 को स्वीकार किया गया।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-21.
राष्ट्रगान गाते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?
उत्तर:
राष्ट्रगान गाते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए

  1. राष्ट्रगान के समय सावधान की मुद्रा में खड़ा होना चाहिए।
  2. राष्ट्रगान गाते समय न हिले-डुलें और न बात करें।
  3. राष्ट्रगान को सही-सही गाएँ।
  4. राष्ट्रगान का सम्मान करें।
  5. राष्ट्रगान 52 सेकंड में पूरा होना चाहिए।

प्रश्न-22.
शारीरिक शिक्षा से क्या लाभ है?
उत्तर:
शारीरिक शिक्षा से निम्नलिखित लाभ हैं

  1. यह शरीर और मस्तिष्क को स्वस्थ व मजबूत बनाती है।
  2. इसके द्वारा स्फूर्ति, आनन्द व ऊर्जा प्राप्त होती है।
  3. हार-जीत के द्वारा अपने पर नियन्त्रण व अनुशासन का गुण उत्पन्न होता है।
  4. नैतिक मूल्यों जैसे सहयोग, दृढ़ता, संयम आदि का विकास होता है।
  5. शारीरिक शिक्षा से समय के सदुपयोग की प्रेरणा मिलती है।

प्रश्न-23.
मार्चिग क्या है? मार्चिग करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?
उत्तर:
मार्चिग वह क्रिया है, जिसमें आदेशों को सुनते हुए ध्यान से मार्च किया जाता है, जैसे सेना व पुलिस के जवानों का कदम-ताल करते हुए चलना व विद्यालयों में बच्चों की ड्रिल। माचिंग करते समय निम्न बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है-सावधान की मुद्रा में खड़ा होना, गर्दन सीधी व आँखें सामने की ओर खुली रखना। विश्राम की अवस्था में दोनों हाथ पीछे करना, हाथों और पैरों को ढीला छोड़ना। बात करना, पीछे मुड़ना व रूमाल प्रयोग करना मना है।

प्रश्न-24.
शारीरिक शिक्षा क्यों आवश्यक हैं?
उत्तर:
शारीरिक शिक्षा शरीर को स्वस्थ और मजबूत बनाने के साथ-साथ बालक के मानसिक, सामाजिक तथा नैतिक मूल्यों के विकास के लिए आवश्यक है। यह शिक्षा शारीरिक अंगों के विकास के साथ, खेल व तैराकी सिखाने, अपनी रक्षा करने, शरीर को स्वस्थ रखने, फुर्तीला बनाने तथा मनोरंजन हेतु आवश्यक है।

प्रश्न-25.
‘किसी कार्य को करने के लिए शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ होना आवश्यक है।’ इस कथन की पुष्टि कीजिए। उत्तर शरीर और मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए जो सीख, ज्ञान और क्रियाएँ कराई जाती हैं, वही शारीरिक शिक्षा कहलाती है। पढ़ना और ज्ञान प्राप्त करना मानसिक कार्य के अन्तर्गत आते हैं। शरीर को मजबूत बनाने के लिए जो व्यायाम किए जाते हैं, वे सब शारीरिक कार्य के अन्तर्गत आते हैं। किसी भी कार्य को करने के लिए शारीरिक एवं मानसिक रूप से विकसित होना आवश्यक है। पढ़ने लिखने आदि सभी कार्यों में हमारा मस्तिष्क और शरीर दोनों एक साथ कार्य करते हैं। जैसे क्रिकेट में गेंद को पकड़ने (कैच) के लिए मस्तिष्क और शरीर दोनों का प्रयोग करते हैं।

अर्धवार्षिक परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय-खेल और स्वास्थ्य

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-1.
किस आसन को करने से स्मरण शक्ति का विकास होता है?
उत्तर:
शीर्षासन को।

प्रश्न-2.
शारीरिक तथा मानसिक विकास कैसे होता है?
उत्तर:
शरीरिक क्रियाओं द्वारा।

प्रश्न-3.
पोस्ट लाइन किस खेल से सम्बन्धित है?
उत्तर:
खो-खों से।

प्रश्न-4.
योग के कितने अंग होते हैं?
उत्तर:
आठ

प्रश्न-5.
गले सम्बन्धी रोगों में कौन-सा आसन उपयोगी है?
उत्तर:
सिंहासन

प्रश्न-6.
प्राण किसे कहते हैं?
उत्तर:
श्वास को

प्रश्न-7.
मनुष्य एक बार में कितनी बार श्वास लेता है?
उत्तर:
सोलह से अट्ठारह बार

प्रश्न-8.
फेफड़े कैसे मजबूत होते हैं?
उत्तर:
प्राणायाम करने से।

प्रश्न-9.
राष्ट्र ध्वज का केसरिया रंग किसका प्रतीक है?
उत्तर:
त्याग तथा बलिदान का।

प्रश्न-10.
ऊँची कूद में प्रत्येक खिलाड़ी द्वारा कितने प्रयास किए जाते हैं?
उत्तर:
तीन

प्रश्न-11.
सिगरेट में कौन-सा विषैला रासायनिक तत्व पाया जाता है?
उत्तर:
निकोटिन

प्रश्न-12.
ओलम्पिक खेल कितने वर्षों के अन्तराल में आयोजित होता है?
उत्तर:
चार वर्षों के

प्रश्न-13.
डिस्कस किस आकार का होता है?
उत्तर:
वृत्ताकार

प्रश्न-14.
मल्ल युद्ध को वर्तमान में किस नाम से जाना जाता है?
उत्तर:
कुश्ती

प्रश्न-15.
ओलम्पिक के ध्वज में कितने गोले हैं?
उत्तर:
पाँच

प्रश्न-16.
‘रूस्तम-ए-जहाँ’ किसे कहा जाता है?
उत्तर:
गामा पहलवान को

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-17.
व्यायाम से आप क्या समझते हैं ।
उत्तर:
मनुष्य की ऐसी क्रियाएँ, जिनसे शरीर की मांसपेशियाँ अच्छी तरह विकसित और मजबूत हो जाती हैं तथा शरीर निरोग हो जाता है, व्यायाम कहलाता है। खेलकूद व विभिन्न आसन इसके अन्तर्गत आते हैं।

प्रश्न-18.
योग का क्या अर्थ है?
उत्तर:
योग शब्द युज’ से बना है। युज का अर्थ होता है जोड़ना या मिलाना। योग के द्वारा कार्य करते समय शरीर व मन में ताल-मेल बैठता है। योग एक प्रकार का आसन करने का अभ्यास है। योगाभ्यास करने से शरीर और मस्तिक दोनों स्वस्थ रहते हैं।

प्रश्न-19.
भस्त्रिका प्राणायाम कैसे किया जाता हैं? इसके चरण बताएँ।
उत्तर:
भस्त्रिका प्राणायाम 3 से 5 मिनट तक किया जाता है। इसे करने के लिए सर्वप्रथम वज्रासन में बैठ जाएँ, दोनों नासिकाओं से साँस अन्दर खींचे तथा बिना अन्दर रोके पूरी ताकत से बाहर निकालें।

प्रश्न-20.
अन्तरराष्ट्रीय खेल से आप क्या समझते हैं?
उत्तर:
राष्ट्रीय स्तर पर योग्य खिलाड़ी अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर खेलों में भाग लेकर खेलते हैं, उन्हें अन्तरराष्ट्रीय खेल कहते हैं। अन्तरराष्ट्रीय खेलों में ओलम्पिक, एशियाड एवं सैफ खेल प्रमुख हैं।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-21.
व्यायाम करते समय कौन-कौन सी सावधानियाँ बरतनी चाहिए?

प्रश्न-22.
किन्हीं दो व्यायाम के विभिन्न चरणों को लिखिए?

प्रश्न-23.
प्राणायाम किसे कहते हैं? प्राणायाम के कोई पाँच लाभ बताएँ।

प्रश्न-24.
खेल भावना से आप क्या समझते हैं?

प्रश्न-25.
नशीले पदार्थों का सेवन करने से शरीर पर क्या दुष्प्रभाव पड़ता है?

वार्षिक परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय-खेल और स्वास्थ्य

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-1.
क्रिकेट की गेंद को पकड़ने के लिए किसका प्रयोग होता है?
उत्तर:
शरीर तथा मस्तिष्क का।

प्रश्न-2.
रक्त संचार कैसे बढ़ता है?
उत्तर:
अंगों की गति से।

प्रश्न-3.
कौन-सा आसान थायराइड को सक्रिय एवं स्वस्थ बनाता है?
उत्तर:
सवांगासन

प्रश्न-4.
किस आसन से मोटापा दूर होता है?
उत्तर:
पद्ममयूरासन

प्रश्न-5.
किस प्राणायाम से हृदय रोग दूर हो जाते हैं?
उत्तर:
भ्रामरी प्राणायाम

प्रश्न-6.
भारतीय संविधान ने राष्ट्रध्वज का प्रारूप कब अपनाया था?
उत्तर:
22 जुलाई 1947 की।

प्रश्न-7.
कुश्ती के गब्वे की ऊँचाई कितने मीटर होती है?
उत्तर:
मीटर

प्रश्न-8.
डिस्कस किस चीज का बना होता है?
उत्तर:
फाइबर या लकड़ी का

प्रश्न-9.
वालीबॉल में एक टीम के कितने खिलाड़ी होते हैं?
उत्तर:
बारह

प्रश्न-10.
राष्ट्रकुल खेल कितने वर्ष में अन्तराल पर आयोजित होते हैं?
उत्तर:
चार वर्ष के

प्रश्न-11.
टेक ऑफ किस खेल से सम्बन्धित है?
उत्तर:
लम्बी कूद

प्रश्न-12.
अर्जुन पुरस्कार किसे दिया जाता है?
उत्तर:
अच्छे खिलाड़ियों को।

प्रश्न-13.
द्रोणाचार्य पुरस्कार किस वर्ष से प्रारम्भ किया गया?
उत्तर:
वर्ष 1985 से

प्रश्न-14.
राष्ट्रीय स्तर का सर्वोच्च पुरस्कार कौन-सा है?
उत्तर:
राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

प्रश्न-15.
खो-खो में एक पाली कितने मिनट की होती हैं?
उत्तर:
7 मिनट की।

प्रश्न-16.
उत्तर प्रदेश शासन द्वारा महिला खिलाड़ियों को दिए जाने वाले पुरस्कार का नाम लिखिए।
उत्तर:
रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-17.
योग के कितने अंग होते हैं?
उत्तर:
योग के आठ अंग होते हैं

  1. यम
  2. नियम
  3. आसन
  4. प्राणायाम
  5. प्रत्याहार
  6. धारणा
  7. ध्यान
  8. समाधि।

प्रश्न-18.
चक्रासन से होने वाले लाभ बताइए।
उत्तर:
चक्रासन से निम्नलिखित लाभ होते हैं

  1. यह रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाकर वृद्धावस्था नहीं आने देता तथा दाँतों को सक्रिय बनाता है।
  2. शरीर में स्फूर्ति एवं शक्ति बढ़ाता है।
  3. यह श्वास रोग, सिरदर्द, नेत्र विकार, सर्वाइकल तथा स्पोंडोलाइसिस में विशेष हितकारी हैं।
  4. यह हाथों तथा पैरों की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

प्रश्न-19.
सिंहासन या व्याघ्रासन की स्थिति समझाइए।
उत्तर:
सिंहासन या व्याघ्रासन करते समय यदि सम्भव हो तो सूर्य की ओर मुख करके वज्रासन में बैठकर घुटनों को थोड़ा खोलकर रखें। हाथों की अंगुलियाँ पीछे की ओर करके पैरों के बीच सीधा रखें। श्वास अन्दर भरकर जिह्वा को बाहर निकाले। सामने देखते हुए श्वास को बाहर निकालते हुए सिंहवत् गर्जना कीजिए। यह क्रिया 3-4 बार करनी चाहिए।

प्रश्न-20.
खेल उपकरण समिति क्या कार्य करती हैं?
उत्तर:
खेल उपकरण समिति सहायक समिति होती है। यह खेल के मैदान को सही तरीके से व्यवस्थित कराती है। मैदान को साफ-सुथरा तथा खेलने योग्य बनाती है। यह खिलाड़ियों के लिए सभी उपकरणों की व्यवस्था भी करती है।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न-21.
किन्हीं दो व्यायाम के विभिन्न चरणों को लिखिए।

प्रश्न-22.
सर्वाग आसन करने का तरीका बताइए।

प्रश्न-23.
प्राणायाम करने के सामान्य नियम क्या हैं? किन्हीं पाँच नियमों को बताइए।

प्रश्न-24.
खेल प्रबन्धन से तुम क्या समझते हो?

प्रश्न-25.
अन्तर विद्यालयीय प्रतियोगिता से होने वाले लाभ बताइए।

We hope the UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper, help you. If you have any query regarding UP Board Class 7 Sports and Fitness Model Paper, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

UP Board Class 7 Home Craft Model Paper गृहशिल्प

UP Board Class 7 Home Craft Model Paper are part of UP Board Class 7 Model Papers. Here we have given UP Board Class 7 Home Craft  Model Paper.

Board UP Board
Class Class 7
Subject Home Craft
Model Paper Paper 1
Category UP Board Model Papers

UP Board Class 7 Home Craft Model Paper गृहशिल्प

सत्र-परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय – गृह शिल्प

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
आवश्यकता से अधिक पोषक तत्व मिलने पर व्यक्ति कौन-सी बीमारी का शिकार हो जाता है?
उत्तर:
अतिपोषण का।

प्रश्न 2.
लौह तत्व शरीर में किसकी कमी को पूरा करते हैं?
उत्तर:
हीमोग्लोबिन की।

प्रश्न 3.
विटामिन ‘ए’ की कमी से होने वाले एक रोग का नाम लिखिए।
उत्तर:
रतौंधी।

प्रश्न 4.
विटामिन- B-3 का दूसरा नाम क्या हैं?
उत्तर:
निकोटिनिक एसिड।

प्रश्न 5.
कुपोषण से होने वाली बीमारी का नाम बताइए।
उत्तर:
सूखा रोग या रिकेट्स।

प्रश्न 6.
प्रोटीन की कमी से होने वाले रोग का नाम लिखिए।
उत्तर:
क्वाशरकोर।

प्रश्न 7.
विटामिन B-3 की कमी से कौन-सा रोग होता है?
उत्तर:
पेलैग्रा।

प्रश्न 8.
पेलैग्रा क्या है?
उत्तर:
यह एक चर्म रोग है।

प्रश्न 9.
प्रोटीन तथा कार्बोहाइड्रेट की कमी से होने वाले रोग का नाम लिखिए।
उत्तर:
मेरास्मस।

प्रश्न 10.
विटामिन ‘ई’ का दूसरा नाम क्या है?
उत्तर:
टोकोफिरॉल।

प्रश्न 11.
हैजा फैलाने में कौन सबसे अधिक सहायक है?
उत्तर:
मक्खियाँ।

प्रश्न 12.
जीवन रक्षक घोल किस को मिश्रण है?
उत्तर:
पानी, चीनी एवं नमक का।

प्रश्न 13.
जल के माध्यम से होने वाले किन्हीं दो रोगों के नाम लिखिए।
उत्तर:
टायफाइडे, अतिसार।

प्रश्न 14.
आयोडीन की कमी से होने वाले रोग का नाम लिखिए।
उत्तर:
घेघा।

प्रश्न 15.
विटामिन ‘ए’ युक्त दो सब्जियों के नाम लिखिए।
उत्तर:
गाजर, गोभी।

प्रश्न 16.
विटामिन-बी युक्त दो सब्जियों के नाम लिखिए।
उत्तर:
मटर, सेम।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 17.
विटामिन- सी के कोई दो कार्य लिखिए।
उत्तर:

  1. दाँतों एवं मसूड़ों को मजबूती प्रदान करना।
  2. घाव को शीघ्र भरने में सहायता करना।

प्रश्न 18.
मानव शरीर के लिए जल के कोई दो उपयोग लिखिए।
उत्तर:
जल मानव शरीर में पाचन क्रिया को सही रखता है और खून को तरल बनाता है।

प्रश्न 19.
संतुलित आहार क्या है?
उत्तर:
सन्तुलित आहार वह आहार है जिसमें सभी पोषक तत्त्व जैसे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, विटामिन, खनिज लवण एवं जल आदि एक निश्चित मात्रा में पाए जाते हैं।

प्रश्न 20.
टाइफाइड रोग के कोई दो लक्षण लिखिए।
उत्तर:

  1. शरीर कमजोर हो जाता है। कभी-कभी शरीर पर दाने दिखाई देते हैं।
  2. उल्टी, दस्त या कब्ज रहता है।

प्रश्न 21.
रतौंधी क्या है?
उत्तर:
रात में कम दिखाई देने की बीमारी।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 22.
टायफाइड रोग के क्या लक्षण हैं और उनसे कैसे बचा जा सकता है?

प्रश्न 23.
भोजन संबंधी अच्छी आदतों से आप क्या समझते हैं? अपने शब्दों में लिखिए।

प्रश्न 24.
कुपोषण से क्या-क्या हानियाँ हैं? इनसे बचाव के क्या उपाय हैं?
उत्तर:
कुपोषण से हमारा शारीरिक स्वास्थ्य कमजोर होने के साथ-साथ मानसिक विकास भी अवरूद्ध होता है, जो हमारे जीवन को प्रभावित करता है। कुपोषण से होनेवाली हानियाँ निम्नांकित हैंशरीर की प्रतिरोधक क्षमता में कमी, वजन का निरंतर कम होना मांसपेशियों का क्षरण होना, पढ़ाई में पिछड़ना, पढ़ाई में मन कम लगना, बार-बार दस्त और बुखार का लगना आदि। इससे बचाव के लिए हमें अपनी उम्र तथा आवश्यकतानुसार पोषक तत्वों से निर्मित भोज्य पदार्थों जैसे-दाल, रोटी, चावल, सलाद, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, दूध, दही, अंकुरित अन्न एवं मौसमी फलों का अपने भोजन एवं नाश्ते में सम्मिलित करना।

प्रश्न 25.
अतिसार और हैजा रोग किन कारणों से होता है?

प्रश्न 26.
वायु प्रदूषण कैसे होता है? उसके बचाव के उपाय बताइए।

 

अद्र्धवार्षिक-परीक्षा प्रश्न पत्र
कक्षा-7
विषय-गृह शिल्प

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
संतुलित आहार के विभिन्न पोषक तत्वों के नाम लिखिए।
उत्तर:
प्रोटीन, वसा, कार्बोहाईड्रेट।

प्रश्न 2.
प्रदूषित जल से होने वाले रोगों के नाम लिखिए।
उत्तर:
हैजा, खुजली, पेचिश, पाचन एवं त्वचा संबंधी रोग।

प्रश्न 3.
ताजमहल का रंग धूमिल क्यों पड़ता जा रहा है?
उत्तर:
वायु में मिली सल्फर डाईऑक्साइड के कारण।

प्रश्न 4.
प्रदूषण की जननी कौन है?
उत्तर:
जनसंख्या।

प्रश्न 5.
पेटीकोट काटने के लिए कौन-कौन-सी तीन नाप लेते हैं?
उत्तर:
कमर, लम्बाई, घेरा।

प्रश्न 6.
समीज किसे कहते हैं?
उत्तर:
फ्रॉक के नीचे पहनने वाले वस्त्र को समीज कहते हैं।

प्रश्न 7.
घर पर वस्त्रों की सिलाई का एक लाभ बताइए।
उत्तर:
धन की बचत।

प्रश्न 8.
नमूना कैसी पेंसिल से उतारना चाहिए?
उत्तर:
नुकीली पेंसिल से।

प्रश्न 9.
कार्बन पेपर न मिलने पर कौन-सी विधि से नमूना ट्रेस कर सकते हैं?
उत्तर:
गेरू द्वारा नमूना छापने की विधि से।

प्रश्न 10.
रनिंग स्टिच का दूसरा नाम क्या है?
उत्तर:
कढ़ाई कथा।

प्रश्न 11.
स्टेम स्टिच से क्या बनाते हैं?
उत्तर:
स्टेम स्टिच से तना और डाल बनाते हैं।

प्रश्न 12.
फिश बोन स्टिच को और क्या कहते हैं?
उत्तर:
मछली काँटा स्टिच।

प्रश्न 13.
कपड़े पर नमूना कैसे स्थान पर रखकर छापना चाहिए?
उत्तर:
समतल स्थान पर।

प्रश्न 14.
कढ़ाई का उभार अच्छा दिखने के लिए किस बात का ध्यान रखना चाहिए?
उत्तर:
वस्त्र के रंग का।

प्रश्न 15.
पत्ती के लिए कौन-से रंग का चुनाव करना चाहिए?
उत्तर:
हरे रंग का।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 16.
पत्तियाँ भोजन कैसे बनाती हैं?
उत्तर:
हरी पत्तिय सूर्य के प्रकाश तथा क्लोरोफिल की उपस्थिति में वायुमण्डल से कार्बन डाइऑक्साइड तथा भूमि से जल प्राप्त करके भोजन बनाने की क्रिया संपन्न करती हैं।

प्रश्न 17.
नाप लेने की प्रत्यक्ष विधि क्या है?
उत्तर:
इसमें शरीर के प्रत्येक अंग जैसे-गले का पुट, आस्तीन पाँयचे, म्यानी, सीने का नाप लिया जाता है।

प्रश्न 18.
छाती की नाप किस प्रकार लेते हैं?
उत्तर:
छाती की नाप लेने के लिए नापने का फीता बच्चे या व्यक्ति के दायीं ओर खड़े होकर लेना चाहिए।

प्रश्न 19.
घर पर वस्त्रों की सिलाई से होने वाले लाभ कितने प्रकार के होते हैं?
उत्तर:
तीन प्रकार के

  1. व्यावसायिक लाभ
  2. पारिवारिक लाभ
  3. आन्तरिक लाभ

प्रश्न 20.
फूलों के लिए कढ़ाई में कैसे रंग का चुनाव करना चाहिए?
उत्तर:
लाल, गुलाबी, पीला, नारंगी, बैगनी आदि विभिन्न हल्के गहरे रंगों का प्रयोग करना चाहिए।

प्रश्न 21.
मिलान कीजिए
(i) प्राथमिक उपचार पेटिका में  – (क) नमक + चीनी का घोल।
(ii) निर्जलीकरण में – (ख) बुखार नापने में।
(iii) थर्मामीटर – (ग) + चिह्न का निशान बना होता है।
(iv) प्राथमिक उपचार पेटिका के ऊपर – (घ) दवाएँ, रुई, मरहम पट्टियाँ आदि रखी होती हैं।
उत्तर –
(i) – (घ) दवाएँ, रुई, मरहम पट्टियाँ आदि रखी होती हैं।
(ii) – (क) नमक + चीनी का घोल।
(iii) – (ख) बुखार नापने में।
(iv) – (ग) + चिह्न का निशान बना होता है।

प्रश्न 22.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए
(क) फ्रेम लगाकर काढ़ने से ……… नहीं आती।
(ख) मछली काँटा स्टिच को उलटी ओर से काढ़ने पर ………… की कढ़ाई बनती है।
(ग) कढ़ाई का नमूना ………….. से उतारना चाहिए।
(घ) कढ़ाई …………… रंग के धागे से नहीं करनी चाहिए।
उत्तर:

  • (क) सिलवट
  • (ख) शैडोवर्क
  • (ग) नुकीली पेंसिल
  • (घ) कच्चे।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 23.
प्राथमिक उपचार में घरेलू वस्तुओं का उपयोग बताइए।
उत्तर:
परिवार के सदस्यों को प्राय: कुछ सामान्य तकलीफें हो जाती है, जैसे–पेट दर्द होना, निर्जलीकरण होना, खाँसी आना आदि। इनका उपचार घरेलू उपलब्ध सामग्रियों से तैयार कर सकते हैं।

  1. अतिसार या दस्त- इस अवस्था में सॉफ, धानिया और जीरा, इन तीनों को समान मात्र में लेकर बरीक चूर्ण बना लें और उसमें थोड़ा नमक मिलाकर दिन में तीन बार छाछ के साथ सेवन करें।
  2. वमन अथवा उल्टी- वमन या उल्टी आने पर हरी धानिया और पुदीने की चटनी का सेवन दिन में कई बार करें। नींबू पर काला नमक लगा कर चूसें।
  3. पुराना बुखार- नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर काढ़ा बना लें और छानकर अवस्थानुसार सेवन करें।
  4. खाँसी- खाँसी आने पर शहद के साथ पिसी काली मिर्च मिलाकर चाटने से आराम मिलता है। तुलसी, अदरक, काली मिर्च और चुटकी भर नमक मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से भी लाभ मिलता है। बार-बार खाँसी आने पर अदरक को भूनकर थोड़ा नमक लगाकर उसका भी सेवन कर सकते हैं।
  5. जुकाम- दूध में हल्दी डालकर खूब उबाल लें फिर गरम-गरम पिएं।

प्रश्न 24.
मृदा प्रदूषण न हो, इसके लिए आप लोगों को क्या सुझाव देंगे? वर्णन कीजिए।

प्रश्न 25.
चने जैसी बुनाई के नमूने की विधि लिखिए।

 

वार्षिक-परीक्षा प्रश्न पत्र 
कक्षा-7
विषय – गृह शिल्प

अति लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1.
बुनाई करके हम क्या-क्या बना सकते हैं?
उत्तर:
काडगन, स्वेटर, मोजे, स्कार्फ आदि।

प्रश्न 2.
भोजन परोसने के बर्तन कैसे होने चाहिए?
उत्तर:
स्वच्छ एवं आकर्षक

प्रश्न 3.
सर्वाधिक रोगों को जन्म देने वाले कीट का नाम लिखिए।
उत्तर:
मक्खी

प्रश्न 4.
मच्छर की प्रमुख प्रजातियों के नाम लिखिए।
उत्तर:

  1. क्यूलेक्स
  2. एनाफिलीज
  3. एडीज।

प्रश्न 5.
मच्छर के काटने से कौन-कौन-सी बीमारियाँ हो जाती हैं?
उत्तर:
मलेरिया एवं फाइलेरिया

प्रश्न 6.
जैएँ निकालने के लिए कैसी कंघी का प्रयोग करना चाहिए?
उत्तर:
महीन दाँत वाली कंघी

प्रश्न 7.
कढ़ाई में नमूना किसके अनुरूप होना चाहिए?
उत्तर:
वस्त्र के अनुरूप।

प्रश्न 8.
नील किन वस्त्रों में लगाते हैं?
उत्तर:
सूती सफेद वस्त्रों में

प्रश्न 9.
मक्खियों के न आने के लिए क्या करना चाहिए?
उत्तर:
चूने का छिड़काव करना चाहिए।

प्रश्न 10.
अनाज में कीड़े न पड़े इसके लिए क्या करना चाहिए?
उत्तर:
नीम की पत्तियों को सुखाकर अनाज के साथ रखना चाहिए।

प्रश्न 11.
घरों में कैसे कीट पाए जाते हैं?
उत्तर:
खटमल, मच्छर, जें, दीमक।

प्रश्न 12.
घर में किस चीज की उचित व्यवस्था होनी चाहिए?
उत्तर:
धूप की।

प्रश्न 13.
मच्छर कैसा कीट है?
उत्तर:
हानिकारक।

प्रश्न 14.
खिड़की-दरवाजों पर क्या प्रयोग करना चाहिए?
उत्तर:
महीन जाली का।

प्रश्न 15.
खरीदारी करने से पूर्व किस बात का पूर्वानुमान रखना चाहिए?
उत्तर:
घर के खर्च का पूर्वानुमान।

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 16.
जीवन रक्षक घोल कैसे और कब बनाते हैं?
उत्तर:
जब किसी व्यक्ति को अतिसार रोग हो जाए तो निर्जलीकरण को रोकने के लिए जीवन रक्षक घोल (एक गिलास पानी में एक चम्मच चीनी और एक चुटकी नमक मिलाकर) एवं इलेक्ट्राल देना चाहिए।

प्रश्न 17.
किन्हीं चार बुनाइयों के नाम लिखिए।
उत्तर:

  1. चने की बुनाई
  2. साबुदाने की बुनाई
  3. कनखजूरे की बुनाई
  4. चौकोर खानों वाली बुनाई।

प्रश्न 18.
दीमक किन-किन स्थानों पर पाया जाता है? इससे क्या हानियाँ हैं?
उत्तर:
दीमक अक्सर सीलनयुक्त घरों की नींव व दीवारों में रहता है। यह कागज और लकड़ी के । सामानों को खा-खाकर अन्दर से खोखला कर देता है।

प्रश्न 19.
ऊनी, सूती एवं रेशमी वस्त्रों को अलग-अलग विधि से क्यों धोना चाहिए?
उत्तर:
क्योंकि ऊनी, सूती एवं रेशमी वस्त्रे अलग-अलग धागों द्वारा बने होते हैं।

प्रश्न 20.
मच्छरों से बचाव के उपाय लिखिए।
उत्तर:
मच्छर से बचाव के उपाय

  • (क) सोते समय हमेशा मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिए।
  • (ख) खिड़की-दरवाजों पर महीन जाली का प्रयोग करना चाहिए।
  • (ग) घर के आसपास पानी का भराव न होने दें।

प्रश्न 21.
रेशमी वस्त्रों में चमक लाने के लिए क्या करना चाहिए?
उत्तर:
रेशमी वस्त्रों में चमक लाने के लिए अंदाज से पानी लेकर थोड़ा-सा सिरका डालकर वस्त्र को डुबोकर तुरंत निकाल लें।

प्रश्न 22.
इस्त्री करने से क्या लाभ है?
उत्तर:
इस्त्रे करने से लाभ

  • (क) वस्त्रों की सिलवटें दूर होती हैं।
  • (ख) वस्त्र आकर्षक और सुंदर लगते हैं।
  • (ग) वस्त्रों में चमक आ जाती है।
  • (घ) कपड़ों में क्रीज बनी रहती हैं।

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 23.
ऊनी वस्त्र धोते समय किन बातों को ध्यान रखना चाहिए?

प्रश्न 24.
तहरी बनाने की विधि लिखिए।

प्रश्न 25.
भोजन परोसते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

We hope the UP Board Class 7 Home Craft Model Paper (गृहशिल्प), help you. If you have any query regarding UP Board Class 7 Home Craft Model Paper (गृहशिल्प) drop a comment below and we will get back to you at the earliest.