UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड)

UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड)

These Solutions are part of UP Board Solutions for Class 10 Hindi. Here we have given UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड).

अवतरणों का ससन्दर्भ हिन्दी अनुवाद

प्रश्न 1.
॥ ॐ ॥ श्वेतकेतुहरुणेय आस तं ह पितोवाच श्वेतकेतो वस ब्रह्मचर्यं न वै सोम्यास्मत्कुलीनोऽननूच्य ब्रह्मबन्धुरिव भवतीति ॥1॥
उत्तर
[आरुणेय = आरुणि का पुत्र। आस = था। पितोवाच = पिता ने कहा। वस ब्रह्मचर्यम् = ब्रह्मचर्य का पालन करो। वै = क्योंकि। कुलीनोऽननूच्य = कुल (परिवार) में कोई ऐसा (व्यक्ति) नहीं हुआ। ब्रह्मबन्धुरिव = ब्रह्मबंधु के समान।]

सन्दर्भ-प्रस्तुत श्लोक हमारी पाठ्य-पुस्तक ‘हिन्दी’ के ‘संस्कृत-खण्ड’ के ‘छान्दोग्य उपनिषद् । षष्ठोध्यायः’ पाठ से उद्धृत है।

प्रसंग—इस श्लोक में आरुणि अपने पुत्र श्वेतकेतु को ज्ञान (UPBoardSolutions.com) की बातें बता रहे हैं। [विशेष—इस पाठ के अन्य सभी श्लोकों के लिए यही सन्दर्भ व प्रसंग प्रयुक्त होगा।

व्याख्या–आरुणि का पुत्र श्वेतकेतु था। उससे एक बार पिता ने कहा-“हे श्वेतकेतु! तुम ब्रह्मचर्य का पालन करो क्योंकि हमारे कुल में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं हुआ, जो ब्रह्मबन्धु के समान ने लगता हो।

(जो ब्राह्मण अपने को ब्राह्मण समझता हो लेकिन ब्राह्मणोचित आचरण न करता हो उसे गुरुकुल जाना आवश्यक है। उसे गुरुकुलावास आवश्यक प्रतीत होता है।)

UP Board Solutions

प्रश्न 2.
स ह द्वादशवर्ष उपेत्य चतुर्विंशतिवर्षः सर्वान्चेदानधीत्य महामना अनूचानमानी स्तब्ध एयाय तं ह पितोवाच ॥2॥
उत्तर
[द्वादशवर्षम् उपेत्य = बारह वर्ष पर्यन्त। सर्वान्वेदानधीत्य = समस्त वेदों को (UPBoardSolutions.com) पढ़कर। मेहामना = पांडित्यमना। अनूचानमानी = स्वाभिमानी, अहंकार युक्त होकर। स्तब्ध = शान्त होकर। एयाय = लौटा।] |

व्याख्या-बारह वर्ष पर्यन्त आश्रम जाकर चौबीस वर्ष आयु पर्यन्त श्वेतकेतु समस्त वेदों को पढ़कर स्वाभिमानी, पाण्डित्यमना, अहंकार युक्त होकर लौटा तो उसके पिता ने कहा।

प्रश्न 3.
श्वेतकेतो यन्नु सोम्येदं महामना अनूचानमानी स्तब्धोऽस्युत तमादेशमप्राक्ष्य: येनाश्रुतं श्रुतं भवत्यमतं मतमविज्ञातं विज्ञातमिति कथं नु भगवः स आदेशो भवतीति ॥3॥
उत्तर
[स्तब्धोऽस्युत = किंकर्तव्यविमूढ़ होते हुए। तमादेशमप्राक्ष्यः = तुमने कौन-सी विशेषता पायी है। येनाश्रुतम् = जिसके द्वारा (समझ लेने पर) जो सुना न गया हो ऐसा पदार्थ। अविज्ञातम् = जो ज्ञात न हुआ हो। कथं नु भगवः = क्या आपने पूछा है।]

व्याख्या-हे श्वेतकेतु! तुम जो इस तरह से अमनस्वी, पाण्डित्यमना और अभिमान से युक्त हो, तुमने कौन-सी विशेषता पायी है? क्या तुम जानते हो कि कौन-सा ऐसा पदार्थ है जिसके समझ लेने पर अश्रुत पदार्थ का ज्ञान हो जाता है, जो अतार्किक है उसे (UPBoardSolutions.com) तार्किक भी याद हो जाये और अविज्ञात भी ज्ञात होता है? अनिश्चित भी निश्चित हो जाता है। क्या तुमने गुरु से पूछा है?

UP Board Solutions

प्रश्न 4.
यथा सोम्यैकेन मृत्पिण्डेन सर्वं मृन्मयं विज्ञातं स्याद्वाचारम्भणं विकारो नामधेयं मृत्तिकेत्येव सत्यम् ॥4॥
उत्तर
[मृत्पिण्डेन = मिट्टी से बने पदार्थ विशेष के द्वारा। मृन्मयम् = मिट्टी से युक्त। आचारम्भणम् = आवरण। मृत्तिकेत्येव = मिट्टी ही है।]

व्याख्या-पिता आरुणि ने कहा-“हे श्वेतकेतु! जिस प्रकार (मिट्टी के बने) पात्रों को देखकर उनके मिट्टी द्वारा बने होने का आभास नहीं किया जा सकता है किन्तु वास्तव में वे मिट्टी के बने होते हैं। अर्थात् पात्रों में मृत्तिकत्व है यही सत्य है।

प्रश्न 5.
यथा सोम्यैकेन लोहमणिना सर्वं लोहमयं विज्ञातं स्याद्वाचारम्भणं विकारो नामधेयं लोहमित्येव सत्यम् ॥5॥
उत्तर
[यथा = जैसे। लोहमणिना = चुम्बक। लोहमयम् =लौहत्व। ]

व्याख्या–पिता आरुणि ने कहा-“हे श्वेतकेतु! जिस प्रकार चुम्बक को (UPBoardSolutions.com) देखकर उसके लोहे द्वारा बने होने का आभास नहीं किया जा सकता है किन्तु वास्तव में वह लोहे का बना होता है। अर्थात् चुम्बक में लौहत्व है यही सत्य है।

UP Board Solutions

प्रश्न 6.
यथा सोम्यैकेन नखनिकृन्तनेन सर्वं काष्र्णायसं विज्ञातं स्याद्वाचारम्भणं विकारो नामधेयं कृष्णायसमित्येव सत्यमेवं सोम्य स आदेशो भवतीति ॥6॥
उत्तर
[नखनिकृन्तनेन = नाखून काटने का यंत्र विशेष (नेलकटर)। काष्र्णायसम् =काँसे की धातु का।]

व्याख्या–पिता आरुणि ने आगे कहा–“हे श्वेतकेतु! जिस प्रकार नेलकटर को देखकर उसके काँसे द्वारा बने होने का आभास नहीं किया जा सकता है किन्तु वास्तव में वह काँसे का बना होता है। अर्थात् नेलकटर में काँसत्व है यही सत्य है।

प्रश्न 7.
न वै नूनं भगवन्तस्त एतदवेदिषुर्यध्द्येतदवेदिष्यन्कथं मे नावक्ष्यन्निति भगवांस्त्वेव मे तदबीविति तथा सोम्येति होवाच ॥7॥
उत्तर
[न वै नूनम् =ऐसा कहे जाने पर। भगवांस्त्वेव =आप ही मेरे।]

व्याख्या-पिता के ऐसा कहने पर श्वेतकेतु ने कहा-“आप ही (UPBoardSolutions.com) मेरे पूजनीय गुरुजी हैं। जिसने उसे इस प्रकार का आत्म-बोध कराया।

UP Board Solutions

अतिलघु-उत्तरीय संस्कृत प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1
श्वेतकेतुः कस्य पुत्रः आसीत्?
या
श्वेतकेतुः कः आसीत?
उत्तर
श्वेतकेतुः आरुणेयपुत्रः आसीत्।

UP Board Solutions

प्रश्न 2
कः द्वादशवर्षम् उपेत्य चतुर्विंशतिवर्षः वेदानधीत्य आगतः? ।
उत्तर
श्वेतकेतुः द्वादशवर्षम् उपेत्य चतुर्विंशतिवर्ष: वेदानधीत्य आगतः।

प्रश्न 3
श्वेतकेतुः कतिवर्षाणि सर्वान् वेदान् अपठत्?
उत्तर
श्वेतकेतुः द्वादशवर्षाणि (UPBoardSolutions.com) सर्वान् वेदान् अपठत्।

UP Board Solutions

प्रश्न 4
अनूचानमानी कः अभवत्?
उत्तर
अनूचानमानी श्वेतकेतुः अभवत्।

प्रश्न 5
मृत्पिण्डेन किं विज्ञातम्?
उत्तर
मृत्पिण्डेन सर्वं मृण्मयं विज्ञातम्।

प्रश्न 6
कुत्र लोहमयं विज्ञातम्?
उत्तर
लोहमणिनी लोहमयं विज्ञातम्।

प्रश्न 7
कः आरुणिं गुरुरूपेण स्वीकरोति?
उत्तर
श्वेतकेतुः आरुणिं गुरुरूपेण (UPBoardSolutions.com) स्वीकरोति।

UP Board Solutions

अनुवादात्मक

प्रश्न 1.
निम्नलिखित वाक्यों का संस्कृत में अनुवाद कीजिए-
उत्तर
UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड) img-1

UP Board Solutions

व्याकरणत्मक

प्रश्न 1
निम्नलिखित संधि पदों का संधि-विच्छेद कीजिए-
उत्तर
UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड) img-2

UP Board Solutions

प्रश्न 2
निम्नलिखित शब्दों में से उपसर्ग अथवा प्रत्यय अलग कीजिए
उत्तर
UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड) img-3

We hope the UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड) help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 10 Hindi Chapter 7 छान्दोग्य उपनिषद् षष्ठोध्यायः (संस्कृत-खण्ड), drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

 

UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 क्यों – क्यों लड़की (मंजरी)

UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 क्यों – क्यों लड़की (मंजरी)

These Solutions are part of UP Board Solutions for Class 6 Hindi. Here we have given UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 क्यों – क्यों लड़की (मंजरी)

महत्त्वपूर्ण गद्याश की व्याख्या

और वाकई, वह अक्टूबर ……………. मिलते हैं।

संदर्भ – प्रस्तुत गद्यांश हमारी पाठ्यपुस्तक ‘मंजरी’ में लेखिका महाश्वेता देवी द्वारा लिखित पाठ ‘क्यों-क्यों लड़की से लिया गया है।

प्रसंग – इसमें लेखिका ने एक आदिवासी लड़की मोइना, जो एक अच्छी किन्तु जिद्दी लड़की है, के विषय में लिखा है। मोइना अपनी एक पोशाक लेकर समिति में लेखिका के साथ रहने पहुँच जाती है। समिति की शिक्षिका ने लेखिका को बताया कि मोइना क्यों-क्यों कहने की आदत के कारण बार-बार प्रश्न पूछेगी और आपको तंग करेगी।

व्याख्या – लेखिका अक्टूबर के पूरे महीने में मोइना के प्रश्न पूछने के ढंग ‘क्यों-क्यों से परेशान हो उठी। मोइना पूछती कि मैं अपने मालिक की बकरियाँ क्यों चराती हूँ; जबकि वह स्वयं यह काम कर सकता है। उसमें (UPBoardSolutions.com) जिज्ञासा है, जिसे शांत करने के लिए वह पूछती है कि मछलियाँ बोलती क्यों नहीं, तारे छोटे क्यों नजर आते हैं और तुम (लेखिका) रात में किताबें क्यों पढ़ती हो आदि। लेखिका ने उसे बताया कि किताबों में तुम्हारे ‘क्यों-क्यों’ के उत्तर मिलते हैं।

विशेष – लेखिका ने अपनी रचनाओं की कथावस्तुओं में आदिवासियों का जीवन संघर्ष और उनकी पीड़ा का सजीव वर्णन किया है।

UP Board Solutions

पाठका सारांश

मोइना शबर जाति की आदिवासी लड़की थी। शबर लोग यद्यपि गरीब थे, फिर भी कभी शिकायत नहीं करते थे। सिर्फ मोइना सवाल पर सवाल करती थी। गाँव के पोस्टमास्टर ने उसे ‘क्यों-क्यों लड़की का नाम दे रखा था। उसकी माँ खीरी उसे अजीब और जिद्दी लड़की कहती थी।

मोइना गाँव के बाबुओं की बकरी चराती थी। वह बाकी कार्य जैसे नदी से पानी लाना, लकड़ी लाना, चिड़िया पकड़ने के लिए फंदा लगाना आदि करती थी। शबर लोग लड़कियों को काम पर नहीं भेजते। मोइना की माँ एक पैर से अपाहिज थी इसलिए मोइना को कार्य पर जाना पड़ता था।

अक्टूबर मास में लेखिका एक महीने समिति के स्कूल में रुकी। मोइना अपने एक जोड़ी कपड़े और नेवले का बच्चा लेकर समिति में रहने के लिए जा पहुँची। समिति की शिक्षिका मालती बोनाल ने लेखिका को बताया कि मोइना का ‘क्यों-क्यों’ सुनकर आपको परेशानी होगी। सचमुच वह अजीब प्रश्न पूछती है- तारे क्यों छोटे दिखते हैं? तुमे रात में किताबें क्यों (UPBoardSolutions.com) पढ़ती हो? लेखिका ने मोइना को बताया कि किताबों में तुम्हारे ‘क्यों-क्यों’ के जवाब मिलते हैं। अब मोइना ने निश्चय कर लिया कि वह पढ़ना सीखेगी और अपने सारे सवालों के जवाब ढूंढेगी।

मोइना ने स्कूल का समय, जो नौ से ग्यारह बजे तक था, बदलवाने की कोशिश की; क्योंकि वह ग्यारह के बाद ही पढ़ सकती थी। एक शाम लेखिका मोइना के घर गई। मोइना भाई-बहन से कह रही थी कि एक पेड़ काटो, तो दो पेड़ लगाओ। खाने से पहले मुँह-हाथ धोओ। जो इन बातों को नहीं जानते, वे मोइना के विचार में समिति की कक्षा में नहीं जाते। गाँव में प्राइमरी स्कूल खुलने पर मोइना दाखिला लेने वालों में पहली लड़की थी।

अब अठारह साल की मोइना समिति के स्कूल में पढ़ती है। (UPBoardSolutions.com) वह पढ़ने में तेज है और सवालों के जवाब देने में आलस्य नहीं करती। अन्य बच्चे भी क्यों का जवाब पूछना सीख रहे हैं। लेखिका मोइना की कहानी लिख रही है। यदि मोइना को पता चल जाए, तो वह पूछेगी- ‘क्यों?

UP Board Solutions

प्रश्न-अभ्यास

कुछ करने को – नोट – विद्यार्थी स्वयं करें ।

प्रश्न 1.
मोइना अपने छोटे भाई और बहिन को बताती है कि- “एक पेड़ काटो तो दो पेड़ लगाओ”, खाने के पहले हाथ धो लो।” आप भी कम से कम तीन बातें लिखिए जो करनी चाहिए।
उत्तर :
प्रतिदिन सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले दाँतों की सफाई करनी चाहिए।

  • बालें में नियमित रूप से कंघी करनी चाहिए।
  • हमेशा धुले हुए वस्त्र ही पहनना चाहिए।

प्रश्न 2.
विद्यार्थी स्वयं करें।

UP Board Solutions

प्रश्न 3.
पृथ्वी देखने में चिपटी दिखाई देती है किन्तु वह गोल है। इसके साथ-साथ यह अपने अक्ष पर भी घूमती है। अक्ष पर घूमने के कारण दिन और रात होते हैं। सूर्य के चारों ओर घूमने के कारण ऋतुएँ बदलती हैं। अब तक पृथ्वी ही ऐसा ग्रह है जिस पर जीवन पाया जाता है। पृथ्वी पर जीवन के लिए पेड़-पौधों का होना अतिआवश्यक है। पेड़-पौधों के बिना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।
उपर्युक्त अंश को पढ़िए तथा इसके आथार पर पाँच प्रश्न बनाइए।
उत्तर :

  1. पृथ्वी कैसी है?
  2. दिन और रात कैसे बनते हैं?
  3. ऋतुएँ कैसे बदलती हैं?
  4. पृथ्वी पर जीवन के लिए किनका होना अति आवश्यक है।
  5. किसके बिना पृथ्वी पर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती।

विचार और कल्पना

प्रश्न 1.
शिक्षा के माध्यम से समाज में व्याप्त गरीबी को कैसे दूर किया जा सकता है? इस विषय पर अपने विचार प्रस्तुत कीजिए।
उत्तर :
शिक्षा से मनुष्य का मानसिक विकास होता है शिक्षा के माध्यम से समाज में व्याप्त गरीबी को दूर किया जा सकता है। शिक्षा प्राप्त करने के बाद रोजगार के अनेक अवसर प्राप्त होते हैं अतः शिक्षा प्राप्ति के बाद (UPBoardSolutions.com) रोजगार प्राप्त कर समाज में व्याप्त गरीबी को दूर किया जा सकता है।

UP Board Solutions

प्रश्न 2.
प्रश्नों के द्वारा हम किसी व्यक्ति या वस्तु के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। यदि आप किसी अपरिचित स्थान पर जाते हैं, तो वहाँ आपके मन में कौन-कौन से प्रश्न आयेंगे?
उत्तर :
किसी अपरिचित स्थान पर जाने पर मेरे मन में अनेक प्रश्न आएँगे; जैसे- यहाँ घूमने और देखने के लायक कौन-कौन से स्थान हैं। यहाँ कौन-कौन सी चीजें सस्ती हैं, यहाँ की कौन सी वस्तु प्रसिद्ध है, आदि।

पाठ से

प्रश्न 1.
मोइना का नाम ‘क्यों-क्यों लड़की’ क्यों पड़ा?
उत्तर :
मोइना सवाल बहुत पूछती थी तथा उससे कुछ भी कहने पर उसका सिर्फ एक ही जवाब होता था। क्यों? अतः उसका नाम ‘क्यों-क्यों लड़की पड़ गया।

प्रश्न 2.
शबर जाति के लोग आमतौर पर अपनी लड़कियों को काम पर नहीं भेजते, पर मोइना को काम पर जाना पड़ता था, क्यों?
उत्तर :
माँ के अपाहिज होने के कारण मोइना को काम पर जाना पड़ता था।

UP Board Solutions

प्रश्न 3.
मोइना ने समिति वाली झोंपड़ी में रहने के लिए अपने साथ नेवला को ले जाने का क्या लाभ बताया?
उत्तर :
मोइना ने नेवले को ले जाने से होने वाले लाभ के बारे में बताया कि यह बहुत कम खाता है। और भयानक साँपों को दूर भगा देता है।

प्रश्न 4.
“हर रात तुम सोने के पहले किताब क्यों पढ़ती हो?” मोइना के इस प्रश्न पर लेखिका ने क्या उत्तर दिया?
उत्तर :
मोइना के प्रश्न पर लेखिका ने उत्तर दिया कि किताबों में तुम्हारे ‘क्यों-क्यों के जवाब मिलते हैं।

प्रश्न 5.
वे कौन-कौन-सी बातें थीं, जो मोइना बकरियाँ चराते समय दूसरे बच्चों को बताती थी?
उत्तर :
मोइना बकरियाँ चराते समय दूसरे बच्चों को बताती- कई तारे तो सूरज से भी बड़े हैं। सूरज पास है, इसलिए बड़ा दिखता है। मछलियाँ हमारी तरह बातें नहीं करतीं। मछलियों की अपनी भाषा है, जो सुनाई नहीं देती। तुम्हें पता है, पृथ्वी गोल है।

प्रश्न 6.
चौके के अंगार के पास बैठी मोइना ने अपनी छोटी बहिन और बड़े भाई को क्या बताया?
उत्तर :
मोइना ने अपनी छोटी बहन और बड़े भाई को बताया कि एक पेड़ काटो, तो दो लगाओ। खाने से पहले हाथ धो लो, नहीं तो पेट में दर्द होने लगेगा। तुम कुछ नहीं जानते; क्योंकि समिति की कक्षा में नहीं जाते।

UP Board Solutions

प्रश्न 7.
विद्यार्थी स्वयं उत्तर दें।

प्रश्न 8.
सोचकर लिखिए-अगर मोइना ‘क्यों-क्यों जैसे सवाल न करती तो इसका उस पर क्या प्रभाव पड़ता?
उत्तर :
अगर मोइना ‘क्यों-क्यों’ जैसे सवाल न करती तो वह कुछ भी नहीं जान पाती। मोइना में सभी चीजों के बारे में जानने की जिज्ञासा है। वह जो कुछ भी जानती है इस ‘क्यों-क्यों’ के कारण ही जानती है। वह (UPBoardSolutions.com) अगर ‘क्यों-क्यों’ जैसे सवाल न करती तो वह जितना कुछ जानती है वह नहीं जान पाती और वह एक बेवकूफ लड़की रहती।

भाषा की बात

प्रश्न 1.
(क) नोट- विद्यार्थी शिक्षक की सहायता से स्वयं प्रश्न बनाएँ।
(ख) इनमें से कुछ शब्दों का प्रयोग कभी-कभी दो बार भी होता है, जैसे- क्या-क्या, कौन-कौन, कब-कब, कैसे-कैसे, किस-किस, और किन-किन। इन पर आधरित प्रश्न बनाइए। जैसे-आपके साथ कौन-कौन विद्यालय जाते हैं?
नोट- विद्यार्थी स्वयं करें।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित वाक्यांशों से एक शब्द बनाइए (शब्द बनाकर) –
उत्तर :

(क) लिखने वाला – लेखक
(ख) चिकित्सा करने वाला – चिकित्सक
(ग) नृत्य करने वाला – नर्तक
(घ) सेवा करने वाला – सेवक
(छ) पढ़ने वाला – पाठक
(च) पर्यटन करने वाला पर्यटक

UP Board Solutions

प्रश्न 3.
व्याकरण की दृष्टि से निम्नलिखित को अलग-अलग वर्गो – विशेषण, भाववाचक संज्ञा तथा क्रिया विशेषण में बाँटिए –
बचपन, बढ़िया, बड़ा, कायरता, दिन भर, तेज-तेज, ज्यादा।
उत्तर :

  • विशेषण – बढ़िया, बड़ा, ज्यादा
  • क्रिया विशेषण – दिनभर, तेज-तेज
  • भाव वाचक संज्ञा – बचपन, कायरता, जलाऊ

प्रश्न 4.
नीच दिए योजक शब्दों की सहायता से वाक्य बनाइए (बनाकर)
उत्तर :

(क) नमन आज आने वाला था किंतु आया नहीं।
(ख) श्रुति और रमा दोनों बहनें हैं।
(ग) रमण पढ़ रहा है तथा राहुल खेल रहा है।
(घ) यदि वर्षा हुई तो फसल नष्ट हो जाएगी।
(ङ) जल्दी चलो वरना ट्रेन छूट जाएगी।
(च) चुप-चाप बैठो या बाहर चले जाओ।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित शब्दों में ‘ता’ प्रत्यय जोड़कर भाव वाचक संज्ञा बनाईए –
यथा –

  • कायर – कायरता
  • सफल – सफलता
  • योग्य – योग्यता
  • मेलिन – मलिनता
  • उदार – उदारता

संज्ञा के पाँच भेद होते हैं –

  1. जातिवाचक
  2. व्यक्ति वाचक
  3. गुण वाचक
  4. भाव वाचक
  5. द्रव्य वाचक।

इसे भी जानें –
नोट – विद्यार्थी ध्यान से पढ़ें।

UP Board Solutions

We hope the UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 क्यों – क्यों लड़की (मंजरी) help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6 क्यों – क्यों लड़की (मंजरी), drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी)

UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी)

These Solutions are part of UP Board Solutions for Class 7 Hindi . Here we have given UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी).

महत्त्वपूर्ण गद्यांश की व्याख्या

“मुझे और कुछ ……………………….. उसे कुछ सूझा।

सदर्भ:
प्रस्तुत गद्यांश हमारी पाठ्यपुस्तक ‘मंजरी’ के स्कूल मुझे अच्छा लगा’ नामक पाठ से लिया गया है। (UPBoardSolutions.com) इसकी लेखिका तेत्सुको कुरोयानागी हैं।

प्रसंग:
प्रस्तुत लेख में लेखिका ने वर्तमान स्कूलों की शिक्षा पद्धति पर करारी चोट करते हुए उसे बच्चों के लिए व्यावहारिक बनाने की बात कही है।

UP Board Solutions

व्याख्या:
हेडमास्टर ने छोटी बच्ची तोत्तो-चान से कुछ भी बताने को कहा। खुश होकर लड़की कुछ-न-कुछ जल्दी-जल्दी बोलती गई। बहुत देर तक बोलकर रुक गई। हेडमास्टर ने उससे फिर पूछा कि वह रुक क्यों गई? लड़की ने दिमाग पर जोर डाला। (UPBoardSolutions.com) उसे बोलने का अच्छा मौका था, परन्तु उसे बताने के लिए कुछ सूझ नहीं रहा था। लड़की ने ध्यान लगाकर विचार किया और उसे बोलने के लिए विषय मिल गया। जिस विषय पर उसने फिर बोलना शुरू कर दिया, यह विषय था उसका फ्रॉक जो उसने पहन रखा था।

पाठ का सार (सारांश)
तोत्तो-चान एक सात वर्ष की जापानी लड़की थी। उसने नए स्कूल का गेट देखा। यह पेड़ के दो तनों से बना था। स्कूल के कमरों की जगह छह बेकार रेलगाड़ी डिब्बे काम में लाए जाते थे। तोत्तो-चान को यह स्कूल अच्छा लगा। माँ उसका है हाथ पकड़कर हेडमास्टर के पास गई। तोत्तो-चान ने कहा कि हेडमास्टर जरूर स्टेशन मास्टर होंगे, क्योंकि रेलगाड़ी के डिब्बों के मालिक स्टेशन मास्टर होते हैं।
UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी) image - 1

UP Board Solutions

माँ ने कहा, “तुम्हारे पिता जी वायलिन बजाते हैं। उनके पास ढेरों वायलिन हैं परन्तु अपना घर वायलिन की दुकान नहीं है।” हेडमास्टर जी ने माँ को घर भेजकर तोत्तो-चान से बात की। हेडमास्टर जी ने तोत्तो-चान से कुछ भी बताने के लिए कहा। तोत्तो-चान बोली कि जिस ट्रेन से वह आई, वह बहुत तेज थी। टिकट बाबू ने उससे टिकट माँगा। उसके दूसरे स्कूल की शिक्षिका बहुत सुन्दर है। उसका भूरा कुत्ता करिश्मे दिखाता है। (UPBoardSolutions.com) वह मुँह से कैंची चलाती है। शिक्षिका ने इसके लिए मना किया है। ऐसा न हो कि जीभ कट जाए। लेकिन वह फिर भी वैसा ही करती है। उसने बताया कि वह नाक कैसे सिनकती है। उसकी बहती नाक को देखकर माँ डाँट लगाती है। उसके पापा अच्छे तैराक हैं। वे गोता भी लगा लेते हैं। हेडमास्टर कभी हँसते और कहते, “अच्छा फिर?” वह फिर बोलती गई। फिर रुक गई। हेडमास्टर ने पूछा, “कुछ और नहीं बता सकतीं?” उसने कॉलर उठाकर हेडमास्टर को दिखाया। उन्होंने प्यार भरा हाथ उसके सिर पर रखकर कहा, “अब तुम इस स्कूल की छात्रा हो।” तोत्तो-चान बहुत खुश थी। । तोत्तो-चान को यह स्कूल अलग तरह का और अच्छा लगा। उसे पता नहीं था कि दोपहर का भोजन भी इतने आनन्द की बात हो सकती थी। हरेक बच्चा खाने में कुछ समुद्र से और कुछ पहाड़ से लाता था। हेडमास्टर जी बच्चों की खाने की हर मेज पर रुककर डिब्बों में झाँकते थे। (UPBoardSolutions.com)
अगले दिन तोत्तो-चान जल्दी उठकर तैयार हो गई और अपना बस्ता पीठ पर बाँधे इंतजार करने लगी। माँ लंच बॉक्स तैयार करने में जुट गई। उसमें कुछ समुद्र और कुछ पहाड़ से भी तो डालना था। तोत्तो-चान “गुडबाय” कहकर निकलने लगी। उसे जाता देख माँ की आँखें भर आईं। उसकी चुलबुली बिटिया जो हाल में ही एक स्कूल से निकाली गई थी, खुशी से स्कूल जा रही थी।

UP Board Solutions

प्रश्न-अभ्यास

कुछ करने को

प्रश्न 1:
निम्नलिखित शीर्षकों के आधार पर अपने (UPBoardSolutions.com) स्कूल के विषय में कुछ वाक्य लिखिए

(क) स्कूल का भवन                         –            मेरे स्कूल का भवन चार-मंजिला है।
(ख) तुम्हारी कक्षा और बच्चे             –            मेरी कक्षा दूसरी मंजिल पर है। मेरी कक्षा में 40 बच्चे हैं।
(ग) हैंडपम्प                                       –            मेरे विद्यालय में 4 हैंडपम्प है।
(घ) हेडमास्टर                                   –            हमारे हेडमास्टर उच्चशिक्षित और अत्यंत आदर्शवादी हैं।
(ङ) शिक्षक-शिक्षिका                       –            हमारे विद्यालय के शिक्षक व शिक्षिकाएँ बच्चों को स्नेहपूर्वक पढ़ाते हैं।
(च) खेल का मैदान                           –            हमारे स्कूल में एक खेल का मैदान भी है जो बहुत बड़ा है।
(छ) दोपहर का भोजन                     –           हम दोपहर का भोजन 12:30 मिनट पर करते हैं।
(ज) पढ़ना-लिखना                           –           विद्यालय में हम बच्चों को पढ़ना-लिखना सिखाया जाता है।

प्रश्न 2:
अब लिखिए कि आप इनमें क्या-क्या बदलाव करना चाहते हैं ?
उत्तर:
विद्यार्थी स्वयं करें।

UP Board Solutions

प्रश्न 3:
अपने स्कूल भवन का चित्र बनाइए।
उत्तरे:
विद्यार्थी स्वयं करें।
विचार और कल्पना: विद्यार्थी स्वयं करें।

कहानी से

प्रश्न 1:
(क) नये स्कूल का गेट कैसा था और गेट को (UPBoardSolutions.com) देखते ही तोत्तो-चान ने क्या कहा?
उत्तर:
नए स्कूल का गेट दो पेड़ों के तनों का बना था। उसे देखते ही तोत्तो-चान ने कहा, “एक दिन यह टेलीफोन के खम्भे से ऊँचा हो जाएगा।”

UP Board Solutions

(ख) तोत्तो-चान को वह स्कल अच्छा क्यों लगा?
उत्तर:
तोत्तो-चान को स्कूल अच्छा लगा, क्योंकि वह अन्य स्कूलों से अलग था और इसमें व्यावहारिक शिक्षा पद्धति अपनाई गई थी।

(ग) तोत्तो-चान ने स्कूल के हेडमास्टर को स्टेशन मास्टर क्यों कहा?
उत्तर:
स्कूले कमरों के स्थान पर छह बेकार रेलगाड़ी के डिब्बों के (UPBoardSolutions.com) अन्दर लगता था। रेलगाड़ी का मालिक स्टेशन मास्टर होता है, इसलिए उसने स्कूल हेडमास्टर को स्टेशन मास्टर कहा।

(घ) तोत्तो-चान ने हेडमास्टर से अपनी फ्रॉक के बारे में क्या-क्या बताया?
उत्तर:
तोत्तो-चान ने बताया कि फ्रॉक दुकान से खरीदी हुई थी। फ्रेंाक पर लाल और सलेटी रंग के चेक बने थे। कपड़ा जर्सी का है। कॉलर पर कढे लाल फूल फूहड़ हैं। माँ को कॉलर पसन्द नहीं है।

UP Board Solutions

(ङ) आपके विचार में कुछ समुद्र से और कुछ पहाड़ से’ का क्या मतलब हो सकता है?
उत्तर:
कुछ तरल पदार्थ जैसे- दही, खीर, सूप आदि। कुछ ठोस (UPBoardSolutions.com) पदार्थ जैसे- गुड़, रोटी आदि।

(च) तोत्तो-चान को स्कूल जाते देख माँ की आँखें क्यों भर आयीं ?
उत्तर:
माँ की चुलबुली बिटिया, जो पहले एक स्कूल से निकाली गई थी, खुशी से स्कूल जा रही थी। उसे स्कूल जाता देख माँ की आँखें भर आईं।

प्रश्न 2. निम्नलिखित प्रश्न को पढ़िए और सही विकल्प पर सही का चिह्न (✓) लगाइए तोत्तो-चान ने स्कूल को अच्छा कहा, क्योंकि
(क) स्कूल रेलगाड़ी के डिब्बे में चलता था।
(ख) हेडमास्टर ने उसकी पूरी बात सुनी। (UPBoardSolutions.com)
(ग) दोपहर के भोजन के समय सभी बच्चे मिल-बाँटकर भोजन करते थे।

UP Board Solutions
(घ) उपर्युक्त सभी। ✓

प्रश्न 3:
स्कूल के मुखिया को हेडमास्टर कहते हैं और स्टेशन (UPBoardSolutions.com) के मुखिया को स्टेशन मास्टर। नीचे लिखे कार्यस्थलों के मुखिया को क्या कहते हैं? (लिखकर)
उत्तर:
पोस्ट ऑफिस                –    पोस्टमास्टर
बैंक                                –    बैंक मैनेजर
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र  –    प्राथमिक चिकित्साधिकारी
पुस्तकालय                     –     पुस्तकालयाध्यक्ष
कॉलेज                           –     प्राचार्य
कारखाना                      –     मिल मालिक

भाषा की बात

प्रश्न 1:
आप जानते हैं, विराम-चिह्नों के बिना वाक्य का अर्थ स्पष्ट नहीं होता। (UPBoardSolutions.com) निम्नांकित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए तथा उपयुक्त विराम-चिह्न लगाइए

UP Board Solutions

चिड़ीमार की बीबी …………………………. खुद बतायेगा।
उत्तर:
चिड़ीमार की बीबी ने डरे हुए तोते को हाथ में लिया और उसे सहलाते हुए बोली, “कितना छोटा तोता है, इसका तो एक निवाला भी नहीं होगा, इसे मारना फिजूल है।” हीरामन ने कहा, “माँ! मुझे मत मारो, राजा को बेच दो तुम्हें बहुत पैसे मिलेंगे।” तोते. को बोलते हुए सुनकर वे हक्के-बक्के रह गये। थोड़ी देर बाद अचरज से उबरे, तो पूछा कि वे उसकी कितनी कीमत माँगें। हीरामन ने कहा, “यह मुझपर छोड़ दो, राजा कीमत पूछे तो (UPBoardSolutions.com) कहना कि तोता अपनी कीमत खुद बताएगा।”

प्रश्न 2:
निम्नलिखित शब्दों का वाक्य-प्रयोग कीजिए- (लिखकर )
उत्तर:
अचानक-अचानक आँधी आ गई।
सचमुच- वह सचमुच देवता है।
बेकार – बेकार समय बर्बाद नहीं करना चाहिए।
दफ्तर- समय पर दफ्तर जाना चाहिए।
गम्भीरता- उसने गम्भीरतापूर्वक सोचा।

प्रश्न 3:
नीचे दिये गये शब्द-समूह में से एकार्थी तथा अनेकार्थी शब्दों को अलग-अलग छाँटकर लिखिए- ( लिखकर )
उत्तर:
एकार्थी शब्द: दरवाजा, दवात, खिड़की, मेज, कुर्सी। (UPBoardSolutions.com)
अनेकार्थी शब्द: अंक, पत्र, मान, सोना, दल, कुले, नाना, पद, वर्ण, वर, कक्षा, पक्ष।

UP Board Solutions

प्रश्न 4:
नीचे लिखे शब्दों में से भाववाचक संज्ञा शब्दों को (UPBoardSolutions.com) अलग छाँटकर लिजिए- ( लिखकर )
उत्तर:
भाववाचक संज्ञा: अच्छाई, कोमलता, थकावट, बुराई, गुलाबीपन, कठोरता, सहजता, समानता, भावुकता।

प्रश्न 5:
इस पाठ से आपने क्या नया सीखा?
उत्तर:
बच्चों को यदि सहजता से प्राकृतिक वातावरण में पढ़ाया जाए तो बच्चों की पढ़ाई में दिलचस्पी बढ़ती है। उनसे यदि शिक्षक-शिक्षिका स्नेह से पेश आएँ तो वे अपने विद्यालय और घर में
कोई अंतर नहीं समझते और खुशी-खुशी विद्यालय जाते हैं।

UP Board Solutions

प्रश्न 6:
इस पाठ के आधार पर दो सवाल आप (UPBoardSolutions.com) भी बनाइए।
उत्तर:
प्र०1. स्कूल में बच्चों की कक्षा कहाँ थी?
प्र०2. तोत्तोचान के पिता कौन-सा वाद्य यंत्र बजाते थे?

प्रश्न 7:
लेखिका ने इस पाठ का नाम ‘स्कूल मुझे अच्छा लगा रखा है। (UPBoardSolutions.com) आपको इस पाठ का नाम रखना हो तो क्यों रखेंगे और क्यों ?
उत्तर:
‘अनूठा स्कूल’ क्योंकि उस स्कूल में बच्चों को रेलगाड़ी के डिब्बों में पढ़ाना सचमुच एक अनूठा प्रयोग था।

UP Board Solutions

यह भी करें

प्रश्न 1:
नीचे दिये गये चित्र को ध्यान से देखें। बच्चे और उसके पिता के बीच में कृषि तथा पर्यावरण को लेकर क्या-क्या बातचीत हो रही है। पुस्तिका में अपने शब्दों में लिखिए।
उत्तर:
UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी) image - 2
बच्चा      – पिताजी हमारे घर के आस-पास तो इतने सारे पौधे हैं फिर आप एक और पौधा क्यों लगा रहे हैं?
पिता       – बेटा, हमारे आस-पास वृक्ष जितने अधिक हों, हमारे लिए उतना ही फायदा है।
बच्चा      – वृक्षों के अधिक से हमारा क्या फायदा है? (UPBoardSolutions.com)
पिता       – बेटे ! वृक्ष हवा को शुद्ध बनाते हैं। वे वातावरण से कार्बनडाइऑक्साइड अवशोषित कर हमें ऑक्सीजन देते हैं। वृक्षों से हमें फल-फूल लकड़ी मिलती हैं। तरह-तरह की औषधियाँ भी मिलती हैं। वृक्ष हमें जीवनपर्यंत कुछ-न-कुछ देते हैं और मृत्यु के बाद भी वे हमसे कभी कुछ भी नहीं लेते।
बच्चा      – मैं समझ या पिताजी, अब मैं प्रत्येक त्योहार या कोई भी अवसर हो, पाँच-पाँच वृक्ष
अवश्य लगाऊँगा ताकि हमारे आस-पास वृक्षों की कमी कभी न हो।

UP Board Solutions

प्रश्न 2. विद्यार्थी स्वयं करें।
We hope the UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी) help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 7 Hindi Chapter 8 स्कूल मुझे अच्छा लगा (मंजरी), drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula

UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula (हीरोन सूत्र)

These Solutions are part of UP Board Solutions for Class 9 Maths. Here we have given UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula (हीरोन सूत्र).

प्रश्नावली 12.1

प्रश्न 1. एक यातायात संकेत बोर्ड पर ‘आगे स्कूल है’ लिखा है और यह भुजा ‘a’ वाले एक समबाहु त्रिभुज के आकार का है। हीरोन के सूत्र का प्रयोग करके इस बोर्ड का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए। यदि संकेत बोर्ड पर परिमाप 180 सेमी है तो इसका क्षेत्रफल क्या होगा?
हल :
दिया है, समबाहु त्रिभुज के आकार के बोर्ड की एक भुजा = a
समबाहु त्रिभुज के आकार के बोर्ड का परिमाप = a + a + a = 3a
त्रिभुज का अर्द्धपरिमाप s = [latex]\frac { 3a }{ 2 }[/latex]
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-1

UP Board Solutions

प्रश्न 2. किसी फ्लाईओवर (flyover) की त्रिभुजाकार दीवार को विज्ञापनों के लिए प्रयोग किया जाता है। दीवार की भुजाओं की लम्बाइयाँ 122 मीटर, 22 मीटर और 120 मीटर हैं। इस विज्ञापन से प्रतिवर्ष 5000 प्रति मीटर² की प्राप्ति होती है। एक कम्पनी ने एक दीवार को विज्ञापन देने के लिए 3 महीने के लिए किराए पर लिया। उसने कुल कितना किराया दिया?
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-2
हल :
फ्लाईओवर की त्रिभुजाकार दीवार की मापें 122 मीटर, 22 मीटर तथा 120 मीटर हैं।
माना a = 122 मीटर, b = 22 मीटर, c = 120 मीटर
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-3

प्रश्न 3. किसी पार्क में एक फिसल (slide) पट्टी बनी हुई है। इसकी पाश्र्वीय दीवारों (slide walls) में से एक दीवार पर किसी रंग से पेन्ट किया गया है और उस पर “पार्क को हरा-भरा और साफ रखिए’ लिखा हुआ है। यदि इस दीवार की विमाएँ 15 मीटर, 11 मीटर और 6 मीटर हैं तो रंग से पेन्ट हुए भाग
पार्क को हरा-भरा को क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-4
हल :
जिस दीवार पर पेन्ट किया गया है, उसकी विमाएँ माना
15 मीटर a = 15 मीटर, b = 11 मीटर और c = 6 मीटर
आकृति में दीवार त्रिभुजाकार है।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-5

प्रश्न 4. उस त्रिभुज का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए जिसकी दो भुजाएँ 18 सेमी और 10 सेमी हैं तथा परिमाप 42 सेमी है।
हल :
माना त्रिभुजे की दो भुजाएँ a = 18 सेमी तथा b = 10 सेमी
माना तीसरी भुजा c सेमी है।
तब, त्रिभुज की परिमाप = a + b + c = 18 + 10 + c = 28 + c
परन्तु दिया है कि त्रिभुज का परिमाप 42 सेमी है।
28 + c = 42 ⇒ c = 42 – 28 = 14 सेमी
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-6

UP Board Solutions

प्रश्न 5. एक त्रिभुज की भुजाओं का अनुपात 12 : 17 : 25 है और उसका परिमाप 640 सेमी है। त्रिभुज का क्षेत्रफले ज्ञात कीजिए।
हल :
दिया है, त्रिभुज की भुजाओं का अनुपात 12 : 17 : 25 है।
माना त्रिभुज की भुजाएँ a = 12 x, b = 17 x तथा c = 25 x
त्रिभुज की परिमाप = a + b + c = 12x + 17x + 25x = 54x
तब, प्रश्नानुसार, त्रिभुज का परिमाप = 540 सेमी
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-7

प्रश्न 6. एक समद्विबाहु त्रिभुज का परिमाप 30 सेमी है और उसकी बराबंर भुजाएँ 12 सेमी लम्बी हैं। इस त्रिभुज का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
हल :
माना त्रिभुज की तीसरी भुजा c सेमी है।
समद्विबाहु त्रिभुज की बराबर भुजाएँ a = 12 सेमी तथा b = 12 सेमी।
त्रिभुज की परिमाप = a + b + c = 12 + 12 + c = (24 + c) सेमी
परन्तु प्रश्नानुसार, परिमाप 30 सेमी है।
24 + c = 30 ⇒ c = 30 – 24 = 6 सेमी
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-8

प्रश्नावली 12.2

प्रश्न 1. एक पार्क चतुर्भुज ABCD के आकार का है, जिसमें ∠C = 90°, AB = 9 मीटर, BC = 12 मीटर, CD = 5 मीटर और AD = 8 मीटर है। इस पार्क का कितना क्षेत्रफल है?
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-9
हल :
पार्क का चित्र संलग्न है।
विकर्ण BD खींचा जिसने चतुर्भुजाकार पार्क ABCD को दो त्रिभुजाकार भागों में विभाजित किया हैं।
पहला समकोण त्रिभुज BCD तथा दूसरा विषमबाहु त्रिभुज ABD समकोण त्रिभुज BCD के आकार वाले भाग का क्षेत्रफल
= [latex]\frac { 1 }{ 2 }[/latex] x आधार x ऊँचाई
= [latex]\frac { 1 }{ 2 }[/latex] x BC x CD
= [latex]\frac { 1 }{ 2 }[/latex] x 12 x 5 = 30 वर्ग मीटर
BD, समकोण त्रिभुज BCD का कर्ण है।
पाइथागोरस प्रमेय से, BD² = BC² + CD² = (12)² + (5)² = 144 + 25 = 169 = (13)²
⇒ BD = (13)²
⇒ BD = 13 मीटर
तब, ΔABD में, माना a = 9 मीटर, b = 8 मीटर व c = 13 मीटर
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-10

प्रश्न 2. एक चतुर्भुज ABCD का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए, जिसमें AB = 3सेमी, BC = 4सेमी, CD = 4सेमी, DA = 5 सेमी और AC = 5 सेमी है।
हल :
चतुर्भुज ABCD बनाया। स्पष्ट है कि विकर्ण AC संलग्न चतुर्भुज को ΔABC व ΔACD में विभक्त करता है।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-11

प्रश्न 3. राधा ने एक रंगीन कागज से एक हवाईजहाज का चित्र बनाया जैसा कि आकृति में दिखाया गया है। प्रयोग किए गए कागज का कुल क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-12
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-13

UP Board Solutions

प्रश्न 4. एक त्रिभुज और एक समान्तर चतुर्भुज का एक ही आधार है और क्षेत्रफल भी एक ही है। यदि त्रिभुज की भुजाएँ 26 सेमी, 28 सेमी और 30 सेमी हैं तथा समान्तर चतुर्भुज 28 सेमी के आधार पर स्थित है तो उसकी संगत ऊँचाई ज्ञात कीजिए।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-14

प्रश्न 5. एक समचतुर्भुजाकार घास के खेत में 18 गायों के चरने के लिए घास है। यदि इस समचतुर्भुज की प्रत्येक भुजा 30 मीटर और बड़ा विकर्ण 48 मीटर है तो प्रत्येक गाय को चरने के लिए इस घास के खेत का कितना क्षेत्रफल प्राप्त होगा?
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-15

प्रश्न 6. दो विभिन्न रंगों के कपड़ों के 10 त्रिभुजाकार टुकड़ों को सी कर एक छाता बनाया गया है। प्रत्येक टुकड़े के माप 20 सेमी, 50 सेमी और 50 सेमी हैं। छाते में प्रत्येक रंग का कितना कपड़ा लगा है?
हल :
छाते में 2 रंग हैं और उसे 10 त्रिभुजाकार टुकड़ों से सिला गया है।
प्रत्येक रंग के [latex]\frac { 10 }{ 2 }[/latex] = 5 टुकड़े होंगे।
प्रत्येक त्रिभुजाकार टुकड़े की माप 20, 50 व 50 सेमी हैं अर्थात प्रत्येक टुकड़ा एक समद्विबाहु त्रिभुज को निरूपित करता है।
माना a = 20 सेमी, b = 50 सेमी तथा c = 50 सेमी
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-16
= 1000 x 2.4494 वर्ग सेमी
= 2449.4 वर्ग सेमी
अतः प्रत्येक रंग का 2449.4 वर्ग सेमी कपड़ा लगेगा।

UP Board Solutions

प्रश्न 7. एक पतंग तीन भिन्न-भिन्न शेडों (shades) के कागजों से बनी है। इन्हें आकृति में I, II और III से दर्शाया गया है। पतंग का ऊपरी भाग 32 सेमी विकर्ण का एक वर्ग है और निचला भाग 6 सेमी, 6 सेमी और 8 सेमी भुजाओं का एक समद्विबाहु त्रिभुज है। ज्ञात कीजिए कि प्रत्येक शेड का कितना कागज प्रयुक्त किया गया है।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-17
अतः भाग 1 व भाग II प्रत्येक के कागज का क्षेत्रफल= 256 वर्ग सेमी तथा भाग III के लिए कागज का क्षेत्रफल = 17.88 वर्ग सेमी।।

प्रश्न 8. फर्श पर एक फूलों का डिजाइन 16 त्रिभुजाकार टाइलों से बनाया गया है, जिनमें से प्रत्येक की भुजाएँ 9 सेमी, 28 सेमी और 35 सेमी हैं। इन टाइलों को 50 पैसे प्रति सेमी की दर से पॉलिश कराने का व्ययज्ञात कीजिए।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-18
कुल 16 त्रिभुजाकार टाइलों का क्षेत्रफल = 16 x एक त्रिभुजाकार टाइल का क्षेत्रफल
= 16 x 36√6 वर्ग सेमी = 5766 वर्ग सेमी
= 576 x 2.45 = 1411.2 वर्ग सेमी
1 वर्ग सेमी पर पॉलिश कराने का व्यय = 50 पैसे
1411.2 वर्ग सेमी पर पॉलिश कराने का व्यय = 1411.2 x 50 = 70560 पैसे
अतः 16 टाइलों पर पॉलिश कराने का व्यय = 70560 पैसे

प्रश्न 9. एक खेत समलम्ब के आकार का है जिसकी समान्तर भुजाएँ 25 मीटर और 10 मीटर हैं। इसकी असमान्तर भुजाएँ 14 मीटर और 13 मीटर हैं। इस खेत का क्षेत्रफल ज्ञात कीजिए।
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-19
UP Board Solutions for Class 9 Maths Chapter 12 Heron’s Formula img-20

UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह

UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह

These Solutions are part of UP Board Solutions for Class 6 Science. Here we have given UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह.

पदार्थ एवें पदार्थ के समूह

अभ्यास प्रश्न

प्रश्न 1.
सही विकल्प छाँटकर अपनी उत्तर-पुस्तिका में लिखिए-
(क) वर्गीकरण आवश्यक होता है –
(i) वस्तुओं को व्यवस्थित रखने हेतु
(ii) वस्तुओं एवं पदार्थों के गुणों को आसानी से समझने हेतु ।
(iii) विद्यालय के पुस्तकालय हेतु
(iv) सभी हेतु (✓)

UP Board Solutions 

(ख) किसी द्रव को गरम करने पर वह बदल जाता है –
(i) ठोस में
(ii) गैस में (✓)
(iii) किसी में नहीं
(iv) जलवाष्प में

(ग) गैस को किसी बर्तन में रखने पर वह –
(i) उसकी तल में बैठ जाएगी।
(ii) उसमें पूरी तरह से फैल जाएगी। (✓)
(iii) उसके केवल ऊपरी हिस्से में फैलेगी।
(iv) उसको खाली कर देगी।

(घ) पदार्थ की निर्माण इकाई है –
(i) परमाणु (✓)
(ii) इलेक्ट्रॉन
(iii) प्रोटॉन
(iv) न्यूट्रॉन

UP Board Solutions

प्रश्न 2.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कोष्ठक में दिए गए सही शब्द की सहायता से कर अपनी उत्तर-पुस्तिका में लिखिए –
उत्तर :

  1. ठोस का आकार निश्चित होता है।
  2. अगरबत्ती की सुगन्ध गैसीय गुण के कारण कमरे में फैल जाती है।
  3. नमक पानी में घुल जाता है।
  4. अणु पदार्थ का वह सूक्ष्मतम कण है जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता है।

प्रश्न 3.
अधोलिखित प्रश्नों के संक्षिप्त उत्तर अपनी उत्तर पुस्तिका में लिखिए-
(क) पदार्थ की तीन अवस्थाओं के नाम लिखिए।
उत्तर :
पदार्थ की तीन अवस्थाएँ निम्न हैं –

  1. ठोस
  2. द्रव
  3. गैस।

(ख) पदार्थ की उस अवस्था का नाम लिखिए जिसमें पदार्थ का आयतन और आकृति दोनों निश्चित होते हैं।
उत्तर :
पदार्थ की ठोस अवस्था में पदार्थ का आयतन और आकृति निश्चित रहते हैं।

UP Board Solutions

(ग) पदार्थों के वर्गीकरण से क्या तात्पर्य है?
उत्तर :
पदार्थों को उनके सामान्य लक्षणों के आधार पर (UPBoardSolutions.com) अलग-अलग समूह में व्यवस्थित करने की क्रिया को वर्गीकरण कहते हैं।

(घ) पारभासी किसे कहते हैं?
उत्तर :
वे पदार्थ जिनके द्वारा धुंधला या आंशिक रूप से आर-पार देखा जा सकता है, वे पारभासी कहलाते हैं। जैसे तेल लगा कागज, पेंट लगा काँच आदि।

प्रश्न 4.
कारण बताइए
(क) द्रव पदार्थों की आकृति निश्चित नहीं होती है।
उत्तर :
द्रव के अणु दूर-दूर होते हैं तथा अणुओं के बीच का आकर्षण बल कम होता है। इस कारण द्रव पदाथों की आकृति निश्चित नहीं होती है।

(ख) जल से भरा गिलास खाली गिलास की अपेक्षा भारी होता है।
उत्तर :
जल से भरा गिलास व खाली गिलास दोनों का आयतने समान होता है। जल के अणु निकट होने के कारण जल से भरे गिलास में गिलास के साथ जल का भार भी होता है, जबकि खाली गिलास में केवल (UPBoardSolutions.com) गिलास का भार होता है क्योंकि खाली गिलास में उपस्थित वायु के अणु दूर-दूर होने के कारण उनका भार नगण्य होता है। इस कारण जल से भरा गिलास खाली गिलास की अपेक्षा अधिक भारी होता है।

UP Board Solutions

प्रश्न 5.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर अपनी अभ्यास पुस्तिका में लिखिए-
(क) एक प्रयोग बताएँ जिससे स्पष्ट होता है कि पदार्थ स्थान घेरता है।
उत्तर :
एक गुब्बारा लें, उसमें फैंक द्वारा हवा भरें। हवा भरने पर गुब्बारा फूलने लगता है और स्थान घेरता है।
अतः स्पष्ट है कि पदार्थ स्थान घेरता है।

(ख) किसी पदार्थ को ठोस अवस्था से द्रव अवस्था तथा द्रव अवस्था से ठोस अवस्था में कैसे बदला जा सकता है?
उत्तर :
किसी वस्तु के ताप में परिवर्तन करके उसकी अवस्था में परिवर्तन किया जा सकता है, जैसे – बर्फ को अधिक तापमान में रखने पर ठोस अवस्था (बर्फ) से द्रव अवस्था (पानी) में तथा पानी को 0°C तक ठंडा करने पर द्रव अवस्था (पानी) से ठोस अवस्थी (बर्फ) में परिवर्तित किया जा सकता है।

(ग) ठोस, द्रव और गैस में अन्तर उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।
उत्तर :
ठोस – ठोस पदार्थों में कण बहुत पास-पास होते हैं, इनमें आपसी आकर्षण बल बहुत अधिक होता है जो इन्हें एक साथ बाँधे रखता है। ठोस के कण स्थिर होने के कारण इनकी आकृति एवं आयतन निश्चित होते हैं।
उदाहरण- काँच।।
द्रव – द्रव के अणु एक दूसरे से दूर-दूर होते हैं, और (UPBoardSolutions.com) आपसी आकर्षण बल ठोस की तुलना में । कम होता है। इसी कारण द्रव की आकृति निश्चित नहीं होती। किन्तु इनको आयतन निश्चित होता है।
उदाहरण-जल।
गैस – गैसीय पदार्थों में कण अपेक्षाकृत बहुत-दूर-दूर होता है और इनमें आपसी आकर्षण बल नहीं के बराबर होता है।
उदाहरण- ऑक्सीजन।

UP Board Solutions

प्रश्न 6.
पारदर्शिता के आधार पर पदार्थ कितने प्रकार के होते हैं, उदाहरण सहित लिखिए।
उत्तर :
पारदर्शिता के आधार पर पदार्थ को पारदर्शी, अपारदर्शी तथा पारभासी में वर्गीकृत किया जाता है।

प्रश्न 7.
परिवेश में पायी जाने वाली तीन-तीन कठोर व मुलायम वस्तुओं के नाम लिखिए।
उत्तर :
कठोर- लोहा, लकड़ी, काँच मुलायम- रबर की गेंद, स्पंज, ऊन

प्रश्न 8.
चुम्बक किन-किन पदार्थों से निर्मित वस्तुओं को अपनी ओर आकर्षित करता है।
उत्तर :
चुम्बक लोहे से बनी वस्तुओं को अपनी ओर (UPBoardSolutions.com) खींच लेता है। लोहे के अतिरिक्त चुम्बक, निकेल, कोबाल्ट जैसी अल्य धातुओं से बनी वस्तुओं को भी अपनी ओर आकर्षित कर लेता है।

प्रश्न 9.
अपने आस-पास दिखायी देने वाली वस्तुओं को पारदर्शी, अपारदर्शी तथा पारभासी में चिह्नित कर उनकी सूची बनाइए।
उत्तर :
UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह img-1

प्रश्न 10.
पदाथों का वर्गीकरण क्यों आवश्यक है। इस सम्बन्य में अपने विचार लिखिए।
उत्तर :
किसी वस्तु की पहचान इसके आकार, बनावट, रंग, उपयोग आदि के आधार पर की जाती है। जब हम वस्तुओं को उनके विशेष गुणों, उपयोग आदि के आधार पर अलग-अलग समूहों में रखते। हैं, तब उनकी पहचान आसानी से की जा सकती है। वस्तुओं को उनके सामान्य लक्षणों के आधार पर अलग-अलग समूह में व्यवस्थित करने की (UPBoardSolutions.com) क्रिया को वर्गीकरण कहते हैं। पदार्थ की बाह्य संरचना के आधार पर वर्गीकरण भौतिक वर्गीकरण कहलाता है तथा आन्तरिक संरचना के आधार पर वर्गीकरण रासायनिक वर्गीकरण कहलाता है।

UP Board Solutions

● नोट – प्रोजेक्ट कार्य विद्यार्थी स्वयं करें।

We hope the UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 6 Science Chapter 2 पदार्थ एवें पदार्थ के समूह, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.