UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 11 नन्दू का जुकाम

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 11 नन्दू का जुकाम

नन्दू का जुकाम शब्दार्थ

छींका = छींकना
धोखा = भूल से
आँधी = जोर से हवा चलना

बहुत जुकाम …………………………………….…… आँधी का।

अर्थ – एक दिन नन्दू को बहुत जोर का जुकाम हुआ। जुकाम होने के कारण वह इतना छींका कि उसकी छींक से पेड़ के सारे पत्ते गिर गए। सब पत्तों ने धोखे से यह समझ लिया कि आँधी आ गई।

नन्दू का जुकाम अभ्यास

प्रश्न १.
बताओ
(क) तुमने पत्तों को कब-कब गिरते हुए देखा है?
उत्तर:
हमने पत्तों को पतझड़ और आँधी में गिरते हुए देखा है।

(ख) जब तुमको जुकाम होता है तब क्या होता है?
उत्तर:
जब हमें जुकाम होता है तब जोर-जोर से छीकें आती हैं।

(ग) आँधी आने पर क्या-क्या होता है?
उत्तर:
आँधी आने पर बहुत धूल उड़ती है और पेड़ आदि टूटकर गिर पड़ते हैं।

प्रश्न २.
नीचे दिए गए शब्द सही जगह पर भरो (शब्द भरकर) नंदू, लड़का, छींक, जुकाम, पेड़, जोर, पत्ते, आँधी, धोखा।
उत्तर:
एक लड़का था। उसका नाम नंदू था। एक बार नंदू को बहुत जुकाम हो गया। उसे छीकें आने लगीं। वह इतनी जोर से छींका कि पेड़ से सब पत्ते गिर पड़े। पत्तों को धोखा हुआ कि आँधी आ गई है।

प्रश्न ३.
नये शब्द बनाओ (नये शब्द बनाकर)
छींका – छींकी
पीता – पीती
चलता – चलती
नाचता – नाचती
खाता – खाती
हँसता – हँसती
बोलता – बोलती
पढ़ता – पढ़ती

प्रश्न ४.
तुम क्या-क्या करते हो? सही बात पर गोला लगाओ
UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 11 नन्दू का जुकाम 1

प्रश्न ५.
कहानी पूरी करो (कहानी पूरी करके)
उत्तर:
एक था लड़का। वह बहुत छींकता था। उसका नाम पड़ गया ‘आक् छीं’। एक दिन आक् छीं गया दुकान में। दुकानदार ने पूछा, “क्या चाहिए”? लड़के ने किया ‘आक् छीं।’ दुकानदार ने कहा, “यहाँ आक् छीं नहीं मिलता। यहाँ मिलती है फलूदा लच्छी।”

प्रश्न ६.
क्या तुम भी नन्दू की ही तरह छींकते हो? छींकते समय क्या करना चाहिए?
उत्तर:
हाँ, हम भी नन्दू की ही तरह छींकते हैं। छींकते समय मुँह पर रूमाल या हाथ रख लेना चाहिए।

प्रश्न ७.
पढ़ो, समझो और लिखो
नोट – विद्यार्थी दिए गए शब्दों को स्वयं पढ़ें, समझें और लिखें।

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav

Leave a Comment