UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 21 पूँछ हिलाने वाला भेड़िया

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 21 पूँछ हिलाने वाला भेड़िया

पूँछ हिलाने वाला भेड़िया शब्दार्थ

कोशिश = प्रयास
होशियार = बुद्धिमान
खतरनाक = भयानक
खूब = बहुत
विश्वास = यकीन
चालाक = चतुर

पूँछ हिलाने वाला भेड़िया पाठ का सार (सारांश)

गड्ढे में पड़े एक भेड़िए ने मेमने से स्वयं को निकालने के लिए कहा। मेमने के पूछने पर उसने कहा कि वह एक कुत्ता है, जो मुर्गे को बचाते हुए खुद गड्ढे में गिर पड़ा। मेमना होशियार था। चालाक भेड़िए ने विश्वास दिलाने के लिए कुत्ते की तरह दुम हिलाई। मेमना सोचने लगा कि इसका मुँह तो भेड़िए जैसा दिख रहा है। जब भेड़िया ने मुँह फैलाकर मेमने को डाँटा, तब उसके नुकीले दाँत देखकर मेमना भेड़िए को पहचान गया और भाग गया। भेड़िया रोता रह गया।

पूँछ हिलाने वाला भेड़िया अभ्यास

प्रश्न १.
बताओ
(क) भेड़िया गड्ढे में कैसे गिरा होगा?
उत्तर:
भेड़िया शिकार करते हुए गड्ढे में गिर गया होगा।

(ख) मेमने ने भेड़िए को बाहर क्यों नहीं निकाला?
उत्तर:
मेमने ने भेड़िए को बाहर इसलिए नहीं निकाला, क्योंकि भेड़िया बाहर निकलकर उसे खा जाता।

(ग) मेमने ने कैसे जाना कि गड्ढे में भेड़िया है?
उत्तर:
भेड़िए के नुकीले दाँत देखकर मेमने ने जाना कि गड्ढे में भेड़िया है।

(घ) मेमना कैसे बोलता है?
उत्तर:
मेमना, भेड़ की तरह मिमियाता है।

प्रश्न २.
इन जानवरों के छोटे बच्चों को क्या कहते हैं? लिखो
उत्तर:
भेड़ – मेमना
गाय – बछड़ा/बछिया
कुत्ता – पिल्ला
भैंस – कटरा/कटिया

प्रश्न ३.
म और भ से शुरू होने वाले इन शब्दों को पूरा करो
उत्तर:
म – मेमना
मि – मिमियाना
मु – मुसीबत
भ – भरसक
भा – भागकर
भे – भेड़िया

प्रश्न ४.
नीचे दी गई कहानी को पूरा करो
उत्तर:
एक हिरन था। एक खरगोश था। एक दिन दोनों जंगल से बाहर निकले। उनको एक सियार मिला। सियार ने कहा, “तुम कहाँ जा रहे हो?” दोनों बोले, “हम शहर जा रहे हैं। तुम भी हमारे साथ चलो। “तभी एक शेर आ गया। वह गुर्राया। तीनों दुम दबाकर भागे

कितना सीखा?

प्रश्न १.
अपनी पाठ्य-पुस्तक की कोई कविता बताओ।
नोट – विद्यार्थी कविता स्वयं सुनाएँ।

प्रश्न २.
कविता का अर्थ लिखो- (गर्मी में …………………. आई धूप)
उत्तर:
अर्थ-धूप गर्मी में प्रचंड (जलाने वाली) होती है, क्योंकि इस मौसम में वह तेज होती है। सर्दी के दिनों में धूप मन को लुभाने वाली होती है, क्योंकि वह ठंड दूर करती है। वर्षा के दिनों में जब छम-छम पानी बरसता है और फिर सतरंगों वाला इन्द्रधनुष दिखाई देता है, तब उस समय की धूप भी सात रंगों वाली बनी होती है।

प्रश्न ३.
आँख, कान, नाक और जीभ के कार्य बताओ।
उत्तर:
आँख का कार्य देखना, कान का कार्य सुनना, नाक का कार्य सूंघना और जीभ का कार्य स्वाद बताना है।

प्रश्न ४.
इन शब्दों को पढ़ो
इकट्ठा, छप्पर, खट्टा, सब्जियाँ, ट्रॉली, ट्रैक्टर, क्रम, अक्लमंद
उत्तर:
विद्यार्थी शिक्षक की सहायता से स्वयं पढ़ें।

प्रश्न ५.
वाक्य पूरा करो (पूरा करके)
उत्तर:
(क) हम जीभ से स्वाद चखते हैं।
(ख) दादी माँ चावल पकाती हैं।
(ग) चाँद धरती का चक्कर लगाता है।

प्रश्न ६.
वाक्य पूरा करो (पूरा करके)
उत्तर:
(क) चूहों ने दहीबड़ा बनाया।
(ख) भेड़िया गड्ढे में गिर पड़ा।
(ग) मधुमक्खी छत्ता बना रही थी।

प्रश्न ७.
अपने आस-पास पाए जाने वाले पशु-पक्षियों के नाम लिखो।
उत्तर:
गाय, भैंस, बकरी, भेड़, बैल, कुत्ता, घोड़ा, गधा, चिड़िया, तीतर, बाज, बगुला, कौआ, तोता, कबूतर आदि।

प्रश्न ८.
उनके नाम लिखो जो
उत्तर:
(क) मिट्टी के बर्तन बनाते हैं – कुम्हार
(ख) कपड़ों की सिलाई करते हैं – दर्जी
(ग) मिठाइयाँ बनाते हैं – हलवाई
(घ) कुर्सी-मेज बनाते हैं – बढ़ई

प्रश्न ९.
क्या होता यदि
(क) अकेली मधुमक्खी छत्ता बनाती रहती?
उत्तर:
छत्ता बनाने में ज्यादा समय लगता।

(ख) चाँद पर हवा-पानी होता?
उत्तर:
तो वहाँ भी सृष्टि बस जाती।

(ग) लगातार कई दिनों तक सूरज न निकले?
उत्तर:
अँधेरा छा जाएगा और सामान्य कार्य ठप्प हो जाएँगे।

प्रश्न १०.
जगतपुर गाँव के बच्चों ने कौन-सा अच्छा काम किया?
उत्तर:
जगतपुर गाँव के बच्चों ने प्रभात फेरी निकाली, गाँव में सफाई योजना बनाई, स्कूल के रास्ते से कीचड़ हटा नाली बनाकर उसे ठीक किया और मिट्टी से गड्ढों को पाट दिया। उन्होंने खेल का मैदान भी साफ कर दिया।

प्रश्न ११.
किसान ने क्या होशियारी की
(क) जब भालू मारने झपटा।
उत्तर:
(क) जब भालू मारने झपटा, तब किसान ने भालू से फसल आने पर मनचाही चीजें खिलाने का वादा किया।

(ख) जब भालू ने मिट्टी के ऊपर की फसल माँगी।
उत्तर:
तब किसान ने खेत में आलू बो दिया। इससे भालू घाटे में रहा।

प्रश्न १२.
सब्जियों के मुखौटे बनाकर ‘कद् जी की बारात’ कविता का कक्षा में अभिनय करो।
नोट – विद्यार्थी स्वयं अभिनय करें।

प्रश्न १३.
मेमना भेड़िये की बातों में क्यों नहीं आया?
नोट – क्योंकि मेमना होशियार था।

प्रश्न १४.
हमारे राष्ट्रीय प्रतीकों के नाम लिखो।
उत्तर:
हमारे राष्ट्रीय प्रतीकों के नाम निम्नलिखित हैं
१. राष्ट्रीय झण्डा – तिरंगा झण्डा
२. राष्ट्रगान – जन-गण-मन
३. राष्ट्रीय पशु – बाघ
४. राष्ट्रीय चिह्न – अशोक स्तम्भ (सारनाथ)
५. राष्ट्रीय पक्षी – मोर
६. राष्ट्रीय पुष्प – कमल

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 20 धूप

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 20 धूप

धप शब्दार्थ

उजियारा = उजाला
लहराना = हलकोरे लेना, दहकना
धरती = पृथ्वी
चेतन = सचेत होने का गुण
सर्दी = ठण्ड
मनभायी = अच्छी लगी
सतरंगी = सात रंगों की

बीती रात …………………………………….…. धूप।

अर्थ – रात बीत गई। प्रकाश हो गया। घर के आँगन में धूप फैल गई। कण-कण में प्रत्येक पेड़ के पत्तों पर सुन्दर-सुहावनी दिखाई देने लगी। पर्वत की

चोटी …………………………………..…………… धूप।

अर्थ – धूप पर्वत की चोटी पर पड़ी दिखाई दी, पानी के बहते झरनों पर भी धूप आ गई। समुद्र की लहरों पर वह नृत्य करती नजर आई। इस प्रकार वह सबका साथ देने-वाली सखी-सहेली जैसी नजर आई।

पंछी के पंखों ……………………………….…………… धूप।

अर्थ – धूप पक्षियों के पंखों पर चमकती नजर आई। धूप फूलों पर भी लहराने लगी। पृथ्वी के कोने में, हर क्षेत्र में धूप मानो नई चेतना लेकर उपस्थित हुई।

गर्मी में आँखें ………………………………..…………. धूप।

अर्थ – गर्मी के दिनों में धूप नाराज (क्रोधित) नजर आई। उसी तरह जाड़े के दिनों में वह सर्दी से छुटकारा दिलाने और मन को लुभानेवाली दिखाई दी। बरसात के दिनों में छम-छम करती हुई वह इन्द्रधनुष के सातरंगों में घुलकर सुहावनी दिखाई दी।

धूप अभ्यास

प्रश्न १.
सोचो और बताओ
(क) धूप कैसी लगती है- जाड़े में, गर्मी में और बरसात में?
उत्तर:
जाड़े में सुहावनी (मन लुभाने वाली), गर्मी में झुलसाने वाली और बरसात में सतरंगी (सुन्दर) लगती है।

(ख) यदि सूरज उदय न हो तो क्या होगा?
उत्तर:
यदि सूरज उदय न हो, तो अँधेरा छा जाएगा, जीवन असम्भव हो जाएगा।

प्रश्न २.
जिसके लिए धूप जरूरी है, उस पर गोला लगाओ (गोला लगाकर )
उत्तर:
UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 20 धूप 1

प्रश्न ३.
पाठ पढ़कर कविता की पंक्ति को पूरा करो (पंक्ति को पूरा करके)
उत्तर:
गर्मी में आँखें दिखलाई।
सर्दी में मनभाई धूप।

प्रश्न ४.
खेल-खेल में
नोट – विद्यार्थी स्वयं करके देखें।

प्रश्न ५.
स्वयं करके जानो
नोट – विद्यार्थी स्वयं करके देखें।

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 19 हमारे राष्ट्रीय प्रतीक

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 19 हमारे राष्ट्रीय प्रतीक

हमारे राष्ट्रीय प्रतीक शब्दार्थ

राष्ट्रगान = राष्ट्र के सम्मान का प्रतीक गान (गीत)
जन-गण-मन = मनुष्यों के समूहों के मन
अधिनायक = स्वामी
भाग्यविधाता = भाग्य बनाने वाले
सिंध = सिंध प्रदेश
मराठा = महाराष्ट्र
द्राविड़ = तमिलनाडु
उत्कल = 
ओडिशा
बंग = बंगाल
विंध्य = विंध्याचल पर्वत
हिमाचल = हिमालय पर्वत
उच्छल = उछलता हुआ
जलधितरंग = समुद्र की लहर
तव = तुम्हारा
शुभ नामे जागे = शुभ नाम जपते हैं
आशिष माँगे = आशीर्वाद माँगते हैं
गाहे = गाते हैं
जयगाथा = विजय की गाथा
मंगलदायक = कल्याण करने वाले

जन-गण-मन …………………………..……………. जय हे॥

र्थ – हे भारत के भाग्य विधाता और मनुष्यों के समूहों का स्वामी तिरंगा झण्डा! तेरी जय हो! पंजाब, सिंध, गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, ओडिशा, बंगाल आदि प्रदेश, विंध्याचल और हिमालय पर्वत, यमुना, गंगा आदि नदियाँ और उछलती हुई लहरों वाले समुद्र आदि तेरा शुभ नाम जपते हुए तुझसे आशीर्वाद माँगते हैं तथा तेरी विजय की गाथा गा रहे हैं। मनुष्यों का कल्याण करने वाला और भारत का भाग्य विधाता हे तिरंगा झण्डा! तेरी जय हो! जय हो! जय-जय-जय-जय हो!

हमारे राष्ट्रीय प्रतीक अभ्यास

प्रश्न १.
देखो, बताओ और अपनी कॉपी में लिखो
(क) हमारे झण्डे को तिरंगा क्यों कहते हैं?
उत्तर:
हमारे झण्डे में केसरिया, सफेद और हरा तीन रंग हैं इसलिए इसे तिरंगा कहते हैं।

(ख) हमारा राष्ट्रगान किसने लिखा है?
उत्तर:
हमारा राष्ट्रगान रबीन्द्र नाथ टैगोर (गुरुदेव) ने लिखा है।

प्रश्न २.
खाली जगह में सही शब्द लिखो (लिखकर)
(क) हमारे झण्डे में सबसे ऊपर की पट्टी केसरिया रंग की है। बीच की पट्टी सफेद रंग की है और सबसे नीचे हरे रंग की पट्टी है।

(ख) हमारा राष्ट्रीय पक्षी मोर है।
हमारा राष्ट्रीय पशु बाघ है।
हमारा राष्ट्रीय पुष्प कमल है।

प्रश्न ३.
जानो और लिखो
(क) राष्ट्रध्वज कब-कब फहराते हैं?
उत्तर:
15 अगस्त, 26 जनवरी और 2 अक्टूबर को राष्ट्रध्वज फहराते हैं।

(ख) राष्ट्रगान कितने सेकेंड में गाते हैं?
उत्तर:
राष्ट्रगान बावन (52) सेकेंड में गाते हैं?

(ग) हमारा राजचिह्न कहाँ से लिया गया है?
उत्तर:
हमारा राजचिह्न अशोक स्तम्भ (सारनाथ) से लिया गया है।

प्रश्न ४.
(क) हमारे झण्डे में सफेद पट्री के बीचोबीच बने चक्र में 24 तीलियाँ हैं।
(ख) केसरिया रंग त्याग और बलिदान की निशानी है।
(ग) सफेद रंग शांति व स्वच्छता की निशानी है।
(घ) हरा रंग हरियाली व खुशहाली की निशानी है।

प्रश्न ५.
कॉपी पर राष्ट्रध्वज का चित्र बनाकर रंग भरो।
नोट – विद्यार्थी राष्ट्रध्वज का चित्र बनाकर स्वयं रंग भरें।

अपने-आप

सिद्धार्थ और पक्षी

सिद्धार्थ और पक्षी शब्दार्थ

जख्म = घाव
चचेरा = चाचा का बेटा
अधिकार = अपने अधीन रखना

सिद्धार्थ और पक्षी पाठ का सार (सारांश)

राजकुमार सिद्धार्थ बाग में टहल रहे थे। एक घायल पक्षी उनके पास आकर गिरा। सिद्धार्थ ने उसकी सेवा करके उसे बचाया। पक्षी को तीर मारने वाले देवदत्त ने सिद्धार्थ से पक्षी माँगा। सिद्धार्थ के मना करने पर झगड़ा बढ़ा। राजा ने फैसला किया कि जिसने पक्षी की जान बचाई, वही उसे रख सकता है।

सिद्धार्थ और पक्षी अभ्यास

प्रश्न १.
बताओ
(क) यदि तुम राजा होते, तो पक्षी किसे देते और क्यों?
उत्तर:
यदि हम राजा होते, तो पक्षी सिद्धार्थ को ही देते; क्योंकि उसी ने उसके प्राण बचाए थे।

प्रश्न २.
सही (✓) का चिह्न लगाओ (चिह्न लगाकर)
(क) हमें पशु-पक्षियों को मारना चाहिए।
(ख) हमें पशु-पक्षियों की सहायता नहीं करनी चाहिए।
(ग) हमें सभी जीवों के प्रति दयाभाव रखना चाहिए।     (✓)

प्रश्न ३.
अपनी पसन्द का एक पक्षी बनाकर उसमें रंग भरो।
नोट – विद्यार्थी स्वयं करें।

प्रश्न ४.
इस कहानी से हमें क्या सीख मिलती है? सोचो और बताओ।
उत्तर:
इस कहानी से हमें परोपकारी बनने और जीवों पर दया करने की सीख मिलती है।

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 18 परी

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 18 परी

परी शब्दार्थ

आसमान = आकाश
पृथ्वी = धरती
रंग-बिरंगे = अनेक रंगों के
लहराई = घुमाई

परी  पाठ का सार (सारांश)

जाड़े के दिनों में छत्ता बना रही मधुमक्खी को परी ने आकर खेलने के लिए बुलाया। मधुमक्खी ने पहले छत्ता बनाने के लक्ष्य के कारण खेलने से मना किया; क्योंकि बर्फ पड़ने वाली थी। परी ने जल्द छत्ता बना देने की बात कही, जिससे मधुमक्खी उसके साथ खेल सके। तब परी ने छड़ी लहराई और वहाँ हजारों मधुमक्खियों ने आकर छत्ता बना उसमें शहद भर दिया। इस प्रकार परी, मधुमक्खियाँ व तितली सब खुशी से नाचने लगे।

परी अभ्यास

प्रश्न १.
उत्तर लिखो
(क) मधुमक्खी ने परी के साथ खेलने से मना क्यों किया?
उत्तर:
मधुमक्खी बर्फ पड़ने से पहले अपना छत्ता बनाना चाहती थी; इसलिए उसने परी के साथ खेलने से मना कर दिया।

(ख) परी ने क्या किया?
उत्तर:
परी ने छड़ी लहराई और हजारों मधुमक्खियों ने आकर छत्ता बनाया और उसमें शहद भर दिया।

(ग) मधुमक्खी शहद कहाँ से इकट्ठा करती है?
उत्तर:
मधुमक्खी फूलों से शहद इकट्ठा करती है।

प्रश्न २.
बताओ
(क) सर्दी से बचने के लिए तुम क्या करते हो?
उत्तर:
सर्दी से बचने के लिए हम गरम कपड़े पहनते और शहद खाते हैं।

(ख)-शहद खाने में कैसा लगता है?
उत्तर:
शहद खाने में मीठा लगता है।

(ग) फूल किस-किस रंग के होते हैं?
उत्तर:
फूल सफेद, हरे, नीले, लाल, पीले, काले रंगों के होते हैं।

प्रश्न ३.
सोचो और लिखो- मधुमक्खी के कौन-कौन से गुण हममें भी होने चाहिए?
उत्तर:
परिश्रमी जीवन, कर्तव्यपरायणता, दृढ़-निश्चय, संयम व स्वावलम्बन आदि मधुमक्खियों के गुण हममें भी होने चाहिए।

प्रश्न ४.
बोलो और लिखो- मधुमक्खी, ध्यान, मुस्कराई, पृथ्वी, बर्फ, तितली।
उत्तर:
विद्यार्थी शब्दों को स्वयं बोलें व लिखें।

प्रश्न ५.
नीचे लिखे शब्दों से मिलते-जुलते शब्द लिखो, जैसेछत्ता-पत्ता।
उत्तर:
रंग – भंग
छड़ी – घड़ी
खेल – मेल
फूल – शूल।

प्रश्न ६.
उलटे अर्थ वाले (विलोम) शब्द लिखो, जैसे-सर्दी-गर्मी।
उत्तर:
सुन्दर – कुरूप
ऊपर – नीचे
अच्छा – बुरा
सुखी – दुखी।

प्रश्न ७.
रंग-बिरंगी तितलियों के चित्र बनाओ।
उत्तर:
विद्यार्थी तितलियों के चित्र स्वयं बनाएँ।

प्रश्न ८.
तितली पर कोई कविता यादकर कक्षा में सुनाओ।
उत्तर:
विद्यार्थी स्वयं करें।

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 17 हमारे सहयोगी

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav Chapter 17 हमारे सहयोगी

हमारे सहयोगी शब्दार्थ

खाकी = मटमैला
चिट्ठी = पत्र
माटी = मिट्टी दो

बैलों की …………………..…………. वह आराम।

अर्थ – दो बैलों की जोड़ी लेकर वह खेतों में काम करता है। वह चाहे गर्मी हो, जाड़ा हो या बरसात, सभी मौसमों में कष्ट सहता है और कभी भी आराम नहीं करता है।
उत्तर:
किसान

सिर पर …………………………………. लाता।

अर्थ – सिर पर टोपी लगाए और कन्धे पर थैला लटका खाकी रंग की पोशाक पहनकर मुसकराते हुए चिट्ठी और मनीऑर्डर लाता है।
उत्तर:
डाकिया

माटी की वह चीज …………………………….… उसका नाम।

अर्थ – मिट्टी की सुन्दर चीज बनाकर उसकी सजावट करता है। वह अपना कार्य चाक घुमाकर पूरा करता है। बच्चो! उसका नाम बताओ।
उत्तर:
कुम्हार

हसिया …………………………………… उसका नाम।

अर्थ – जो कोई भी लोहा लेकर उसकी दुकान पर आता है, वह हँसिया, काँटा और तवा बना देता है। वह हथौड़े से कार्य करता है। बच्चो! उसका नाम बोलो या बताओ।
उत्तर:
लुहार

लड्डू, पेड़ा …………………………………..….. खूब मिठाई।

अर्थ – वह प्रतिदिन खोया, चीनी और दूध मिलाकर लड्डू, पेड़ा, रसमलाई, दही, जलेबी, बालूशाही और अन्य मिठाइयाँ बनाता है। बच्चो! उसका नाम बताओ।
उत्तर:
हलवाई

कुर्सी, मेज, तखत ………………………………………. उसका नाम।

अर्थ – वह लकड़ी से सामान बनाता है। वह कुर्सी, मेज, तखत, दरवाजा, तख्ती, चारपाई आदि बनाता है। काम करके फिर वह अपना पारिश्रमिक (मेहनताना) लेता है। बच्चो! उसका नाम बताओ।
उत्तर:
बढ़ई

हमारे सहयोगी  अभ्यास

प्रश्न १.
(क) इनमें जो वस्तुएँ तुम्हारे घर हों, उन पर गोला लगाओ। (गोला लगाकर)
नोट – विद्यार्थी पाठ्यपुस्तक में स्वयं गोला लगाएँ।

कुर्ता घड़ा कुर्सी
फावड़ा टेलीफोन डलिया
मिठाई रेलगाड़ी चारपाई
कड़ाही हल हाँडी

(ख) जिन चीजों पर गोला लगा हो, उनके नामों के सामने लिखो कि उन्हें कौन बनाता है?
उत्तर:
कुर्ता – दर्जी
फावड़ा – लुहार
चारपाई – बढ़ई
हाँडी – कुम्हार
घड़ा – कुम्हार
डलिया – कहार
कड़ाही – लुहार
टेलीफोन- इंजीनियर
कुर्सी – बढ़ई
मिठाई – हलवाई
हल – बढ़ई
रेलगाड़ी – इंजीनियर

(ग) वे इन चीजों के बनाने में जिन औजारों का प्रयोग करते हैं, उनका नाम अपनी कॉपी में लिखो।
उत्तर:
औजारों के नाम
दर्जी – सिलाई-मशीन, कैंची, सूई।
कुम्हार – चाक, डण्डा।
बढ़ई – आरी, रंदा, बसूला, हथौड़ा, निहानी, रेगमाल।
लुहार – घन, छेनी, कुल्हाड़ी, हथौड़ा, रेगमाल।
हलवाई – कड़ाही, भट्ठी, दोना, कलछी, चाकू।

प्रश्न २.
देखोः आस-पास
(क) अपने आस-पास बन रही किसी चीज को देखो। फिर अपनी कॉपी में लिखो कि उसे कैसे बनाते हैं।
उत्तर:
हमारे आस-पास गुड़ व शक्कर बनती है। कोल्हू में गन्ना पेरने का काम होता है। गन्ने का रस बड़े कड़ाह में पकाया जाता है। पक जाने और चाशनी बनने पर मिट्टी के चाक में उसे एकत्रित कर लेते हैं। कुछ देर बाद उसको इधर-उधर चलाकर ठण्डा कर लेते हैं। यह गुड़ गर्म होता है, जो पाँच किलो या ढाई किलो के भेलों में तौलकर बोरे आदि पर सूखने के लिए रख दिया जाता है।

(ख) इनमें से कौन-कौन से काम तुम्हारे आस-पास के लोग करते हैं? अपनी कॉपी में लिखो
सिलना, चटाई बनाना, बर्तन बनाना, बुनना, टोकरी बनाना, टीका लगाना, मकान बनाना, पढ़ाना, मिठाई बनाना, बाल काटना, आँगनबाड़ी केन्द्र चलाना, जूता बनाना, कुर्सी बनाना।
उत्तर:
हमारे आस-पास निम्न कार्य होते हैं- सिलाई, बर्तन बनाना, टीका लगाना, मकान बनाना, पढ़ाना, मिठाई बनाना, बाल काटना व कुर्सी बनाना।

कितना सीखा?

प्रश्न १.
पानी हमारे किस-किस काम आता है?
उत्तर:
(क) पानी पीते हैं।
(ख) पानी से शरबत बनाते हैं।
(ग) पानी से नहाते हैं।
(घ) पानी से कपड़े धोते हैं।
(ङ) पानी से सिंचाई करते हैं।

प्रश्न २.
अपनी कॉपी पर उत्तर लिखो
(क) तुमने कौन-कौन से पक्षी देखे हैं?
उत्तर:
हमने तोता, मैना, कोयल, हंस, बतख, मुर्गी, कबूतर, कौआ, शुतुरमुर्ग, गौरैया आदि पक्षियों को देखा है।

(ख) तुम स्वस्थ रहने के लिए क्या-क्या करते हो?
उत्तर:
हम स्वस्थ रहने के लिए घर और आस-पास की सफाई के अलावा अपनी शारीरिक सफाई करते हैं तथा पौष्टिक तथा संतुलित भोजन करते हैं।

(ग) चाँद पर क्यों नहीं रहा जा सकता?
उत्तर:
चाँद पर इसलिए नहीं रहा जा सकता क्योंकि वहाँ पानी तथा हवा नहीं हैं।

प्रश्न ३.
बताओ, क्या हो अगर
(क) हमारे आस-पास गन्दगी फैल जाए?
उत्तर:
हम बीमार हो जाएँगे।

(ख) सूरज धरती को प्रकाश न दे?
उत्तर:
सृष्टि मिट जाएगी।

(ग) हम एक-दूसरे का सहयोग न करें?
उत्तर:
हमारा विकास नहीं हो पाएगा।

(घ) पानी न हो?
उत्तर:
जीवन सम्भव नहीं होगा।

प्रश्न ४.
कौन क्या बनाता है, मिलाओ (मिलाकर)
उत्तर:
कमीज – दर्जी

कुल्हाड़ी – लोहार
मिठाई – हलवाई
कुल्हड़ – कुम्हार
मेज़ – बढ़ई

प्रश्न ५.
नीचे दी गई चीजें खाने में कैसी लगती हैं? लिखो
उत्तर:
गुड़ – मीठा
नींबू – खट्टा
मिर्च – तीखी
हलवा – मीठा
गाजर – मीठी
इमली – खट्टी
संतरा – खट-मिट्ठा
पकौड़ी – नमकीन

प्रश्न ६.
चींटी की कहानी आगे बढ़ाओ
उत्तर:
एक दिन की बात है। चींटी घर से निकली ही थी कि बारिश होने लगी। उसने पानी से बचने के लिए घास के एक तिनके का सहारा लिया। वहाँ एक मोटी चींटी पहले से ही थी। उसने इस चींटी का स्वागत मुस्कराते हुए किया। उन दोनों को भोजन की चिंता थी। लेकिन बारिश तो रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी। अन्त में, दोनों ने भोजन की आशा त्याग दी और घर जाने का निश्चय किया।

प्रश्न ७.
अपनी याद की हुई कोई कविता सुनाओ।
नोट – विद्यार्थी कविता स्वयं सुनाएँ।

UP Board Solutions for Class 2 Hindi Kalrav