UP Board Class 12 Geography Practical Work Chapter 4 Use of Computer In Data Processing and Mapping

UP Board Solutions for Class 12 Geography Practical Work Chapter 4 Use of Computer In Data Processing and Mapping (आंकड़ों का प्रक्रमण एवं मानचित्रण में कंप्यूटर का उपयोग)

UP Board Class 12 Geography Chapter 4 Text Book Questions

UP Board Class 12 Geography Chapter 4 पाठ्यपुस्तक के अभ्यास प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
नीचे दिए गए विकल्पों में से सही उत्तर का चयन कीजिए— .
(i) निम्नलिखित आँकड़ों के प्रदर्शन के लिए आप किस प्रकार के ग्राफ का उपयोग करेंगे
UP Board Class 12 Geography Practical Work Chapter 4 Use of Computer In Data Processing and Mapping 1
(क) रेखा
(ख) बहुदण्ड आरेख
(ग) वृत्त आरेख
(घ) उपर्युक्त में से कोई नहीं।
उत्तर:
(ग) वृत्त आरेख।

(ii) राज्य के अन्तर्गत जिलों का प्रदर्शन किस प्रकार के स्थानिक आँकड़ों द्वारा होगा
(क) बिन्दु
(ख) रेखाएँ
(ग) बहुभुज
(घ) उपर्युक्त में से कोई नहीं।
उत्तर:
(क) बिन्दु।

(iii) एक वर्कशीट के सेल में दिए गए सूत्र में वह कौन-सा प्रचालक है जिसका पहले परिकलन किया जाता है
(क) +
(ख) –
(ग) /
(घ) ×
उत्तर:
(क) +

(iv) एक्सेल में विजार्ड फंक्शन आपको समर्थ बनाता है
(क) ग्राफ रचना में
(ख) गणितीय और सांख्यिकीय क्रियाओं को करने में
(ग) मानचित्र आलेखन में
(घ) उपर्युक्त में से कोई नहीं।
उत्तर:
(ख) गणितीय और सांख्यिकीय क्रियाओं को करने में।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए
(i) एक कम्प्यूटर के विभिन्न भागों की हस्तेन विधियों की तुलना में कम्प्यूटर के प्रयोग के क्या लाभ हैं?
उत्तर:
कम्प्यूटर के विभिन्न भागों की हस्तेन विधियों की तुलना में कम्प्यूटर के प्रयोग के लाभ निम्नलिखित हैं

  1. यह अभिकलन और आँकड़ों के प्रक्रमण की गति बढ़ा देता है।
  2. आँकड़ों की विशाल मात्रा का निपटान कर सकता है।
  3. चाहने पर यह आँकड़ों की प्रतिलिपि बना सकता है, उनका सम्पादन कर सकता है।
  4. यह आसानी से आँकड़ों को प्रमाणीकरण, पड़ताल और संशुद्धि के योग्य बनाता है।
  5. ऑकड़ों का समूहन विश्लेषण काफी सरल हो जाता है।
  6. ग्राफ अथवा मानचित्र के प्रकार, शीर्षक, संकेत आदि को बदला जा सकता है।

(ii) आँकड़ा प्रक्रमण और प्रदर्शन की हस्तेन विधियों की तुलना में कम्प्यूटर के प्रयोग के क्या लाभ हैं?
उत्तर:
कम्प्यूटर का प्रयोग अधिक सर्वोन्मुखी है। यह स्क्रीन पर पाठ के सम्पादन पर प्रतिलिपि बनाने, उसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने या यहाँ तक कि अवांछित पाठ को विलुप्त करने को भी सुगम बनाता है।

(iii) वर्कशीट क्या होती है?
उत्तर:
कम्प्यूटर के मूल में एक केन्द्रीय प्रक्रमण इकाई होती है जो आँकड़ों के प्रक्रमण हेतु क्रमादेशों का क्रियान्वयन और परिधीय उपस्करों का नियन्त्रण करती है, इसे ‘वर्कशीट’ कहते हैं।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर 125 शब्दों से अधिक में न दें
(i) स्थानिक व गैर-स्थानिक आँकड़ों में क्या अन्तर है? उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
स्थानिक आँकड़े– स्थानिक आँकड़े भौगोलिक दिक्स्थान का प्रतिनिधित्व करते हैं। बिन्दु, रेखाएँ और बहुभुज उनके अभिलक्षण होते हैं। बिन्दु आँकड़े मानचित्र पर प्रदर्शित विद्यालय, अस्पताल, कुएँ, नलकूप, कस्बे और गाँव जैसे कुछ भौगोलिक लक्षणों की अवस्थिति सम्बन्धी विशेषताओं का प्रदर्शन करते हैं।

गैर- स्थानिक आँकड़े- स्थानिक आँकड़ों का वर्णन करने वाले आँकड़े गैर-स्थानिक आँकड़े अथवा गुण न्यास कहलाते हैं। उदाहरण के तौर पर यदि आपके पास आपके विद्यालय की स्थिति दर्शाने वाला मानचित्र है तो आप विद्यालय का नाम, इसके द्वारा प्रदत्त विषय-धारा, प्रत्येक कक्षा में विद्यार्थियों की अनुसूची, पुस्तकालय, उपकरणों आदि की सुविधा जैसी सूचनाओं का संलग्न कर सकते हैं।

(ii) भौगोलिक आँकड़ों के तीन प्रकार कौन-से हैं?
उत्तर:
भौगोलिक आँकड़े तीन प्रकार के हैं

  1. स्थानिक आँकड़े- स्थानिक आँकड़े विभिन्न तत्त्वों के भौगोलिक स्थान पर दिक्स्थान का प्रतिनिधित्व करते हैं। बिन्दु, रेखाएँ और बहुभुज इन आँकड़ों को अभिलक्षित करते हैं।
  2. गैर-स्थानिक आँकड़े- स्थानिक आँकड़ों का वर्णन करने वाले आँकड़ों को गैर-स्थानिक अथवा गुण न्यास आँकड़े कहते हैं।
  3. बहुभुज आँकड़े- ये आँकड़े किसी विशेष क्षेत्र को परिलक्षित करते हैं।

क्रियाकलाप
प्रश्न 1.
दिए गए आँकड़ों में समुच्चय का प्रयोग करते हुए निम्नलिखित चरणों का अनुसरण कीजिए
(i) दिए गए आँकड़ों को एक फाइल में प्रविष्ट कीजिए और उनका माई डॉक्यूमेंट (My Document) में भण्डारण कीजिए (फाइल का नाम ‘रेनफॉल’ रखिए)।
(ii) एक्सेल स्प्रेड शीट में विजार्ड फंक्शन का प्रयोग करते हुए दिए गए आँकड़ा समुच्चय के प्रमाप विचलन और माध्य की गणना कीजिए।
(iii) द्वितीय चरण में व्युत्पन्न परिणामों का प्रयोग करते हुए विचरण गुणांक का अभिकलन कीजिए।
(iv) परिणाम का विश्लेषण कीजिए।
उत्तर:
(नोट-अध्यापक की सहायता से छात्र स्वयं करें।)

प्रश्न 2.
कम्प्यूटर की सहायता से उपयुक्त तकनीक का प्रयोग करते हुए नीचे दिए गए आँकड़ों का प्रदर्शन कीजिए और आलेख का विश्लेषण कीजिए।
UP Board Class 12 Geography Practical Work Chapter 4 Use of Computer In Data Processing and Mapping 2
उत्तर:
(नोट–अध्यापक की सहायता से छात्र स्वयं करें।)

UP Board Class 12 Geography Chapter 4 Other Important Questions

UP Board Class 12 Geography Chapter 4 अन्य महत्त्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

विस्तृत उत्तरीय प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
कम्प्यूटर क्या है? कम्प्यूटर की प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
कम्प्यूटर का अर्थ- कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक युक्ति/मशीन है, जिसका उपयोग विशाल मात्रा में आँकड़ों के भण्डारण और असंसाधित आँकड़ों को सार्थक सूचनाओं (ज्ञान) में बदलने के लिए किया जाता है। कम्प्यूटर की विशेषताएँ
कम्प्यूटर की प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं

  1. गति- कम्प्यूटर अत्यन्त तीव्र गति से कार्य करता है। इसमें प्रति सेकण्ड अरबों गणनाएँ करने की क्षमता होती है।
  2. परिशुद्धता- कम्प्यूटर विशाल मात्रा में आँकड़ों का संसाधन करके त्रुटिरहित परिणाम प्रस्तुत कर सकते हैं।
  3. विविध कार्य करने की क्षमता- कम्प्यूटर विविध क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के काम करने में समर्थ हैं।
  4. भण्डारण क्षमता- कम्प्यूटर में विशाल मात्रा में आँकड़ों का भण्डारण किया जा सकता है।
  5. विश्वसनीयता- कम्प्यूटर अपनी कार्यक्षमता और विश्वसनीयता के लिए प्रसिद्ध है।
  6. अध्यवसाय- कम्प्यूटर निरन्तर लम्बी अवधी तक कार्य करते हुए न तो थकता है और न ही ऊबता है। यह बिना थके सैकड़ों घण्टों तक निरन्तर उसी गति और परिशुद्धता से कार्य कर सकता है।

प्रश्न 2.
डाटा प्रोसेसिंग की विभिन्न क्रियाओं का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
डाटा प्रोसेसिंग की विभिन्न क्रियाएँ-डाटा प्रोसेसिंग चाहे हस्तचालित हो, चाहे मशीनीकृत हो या इलेक्ट्रॉनिक हो, इसमें निम्नलिखित क्रियाएँ अपनायी जाती हैं
1. अभिलेखन- इस प्रथम चरण में आँकड़ों को स्थायी रूप में लिखकर या उसकी प्रतिलिपि को अभिलेखित किया जाता है। इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली में अभिलेखन के दौरान आँकड़ों को कोड प्रदान किए जाते हैं।

2. वर्गीकरण- इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली में आँकड़ों को उनके कोड के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है। ये कोड अंक या अक्षर या इसके संयोजन द्वारा बनते हैं।

3. संयोजन- आँकड़ों को उनकी उपयोगिता के अनुसार आरोही अथवा अवरोही क्रम में पुन: व्यवस्थित करना ‘संयोजन’ कहलाता है। संयोजन हमेशा अंक या अक्षर के कोड द्वारा संभव होता है।

4. गणना- इसमें जोड़ने, घटाने, भाग करने तथा गुणा करने जैसी अंकगणितीय क्रियाएँ की जाती हैं।

5. संक्षिप्तीकरण- इस क्रिया में आँकड़ों का उनके प्रमुख व्यवहारों या बिन्दुओं के आधार पर एकत्रीकरण किया जाता है।

6. प्रतिवेदन- यह अन्तिम और सबसे महत्त्वपूर्ण क्रिया होती है जिसमें ऊपर बताई गई सभी क्रियाओं को उपयोगी सूचना में बदला जाता है और एक व्यवस्थित ढंग से सूचना का उपयोग करने वाले व्यक्ति की रिपोर्ट के रूप में प्रस्तुत किया जाता है।

लघ उत्तरीय प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
कम्प्यूटर के महत्त्व को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
कम्प्यूटर का महत्त्व-कम्प्यूटर हमारे जीवन का एक अंग बन गया है। यह एक मनोरंजन का साधन भी बन गया है। इसके द्वारा हम खेल भी खेल सकते हैं तथा संगीत सुन सकते हैं, चलचित्र आदि देख सकते हैं। कम्प्यूटर एक तीव्र गणितीय प्रक्रिया है। कम्प्यूटर का प्रयोग बैंक, अस्पताल, घर, दुकान आदि में किया जाता है।

प्रश्न 2.
सक्रिय तन्त्र क्या है?
उत्तर:
सक्रिय तन्त्र-सक्रिय तन्त्र वह प्रक्रिया सामग्री है जो कम्प्यूटर प्रोग्राम के कार्य को नियन्त्रित करती है और अनुसूचीकरण, डीबगिंग निवेश तथा निर्गत के नियन्त्रण, संचयीकरण, आँकड़ों का प्रबन्धन तथा उससे सम्बन्धित सेवाएँ प्रदान करती है। प्रचलित प्रकार की ऑपरेटिंग प्रणाली में डॉस (डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम), यूनिक्स तथा इसके विभिन्न प्रकार वी०एम०एस० (विजुअल मैमोरी सिस्टम) माइक्रोसॉफ्ट, विन्डोज आदि शामिल हैं।

प्रश्न 3.
कम्प्यूटर की अंकगणितीय एवं तर्क इकाई के प्रमुख कार्य बताइए।
उत्तर:
कम्प्यूटर की अंकगणितीय एवं तर्क इकाई के प्रमुख कार्य निम्नलिखित हैं

  • आँकड़ों का विश्लेषण तथा पुनर्विन्यास करना।
  • नियन्त्रण इकाई द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार अंकगणितीय क्रियाओं को करना; जैसे-जोड़ना, घटाना, प्रतिशत निकालना, गुणा व भाग करना आदि।
  • तार्किक क्रियाएँ करना, जैसे तुलना करना व निर्णय लेना आदि।
  • किन्हीं विशेष क्रियाओं को दोहराना या बार-बार करना।
  • किसी विशेष क्रिया को दोहराना अथवा बार-बार करना।

प्रश्न 4.
केन्द्रीय संगणना इकाई क्या है?
उत्तर:
केन्द्रीय संगणना इकाई केन्द्रीय संगणना इकाई को ‘कम्प्यूटर का मस्तिष्क’ कहा जाता है। यह कम्प्यूटर की प्रमुख चिप होती है जो आँकड़ों का कम्प्यूटर की मुख्य स्मृति में भण्डारण करती है। इसकी नियन्त्रण इकाई आँकड़ों को मुख्य स्मृति से अंकगणितीय तथा तार्किक इकाई में समय-समय पर स्थानान्तरित करती है। संगणना के बाद यह इकाई सूचनाओं को निर्गम यन्त्रों की तरह भेजती है। इस तरह केन्द्रीय संगणना इकाई (CPU) के तीन प्रमुख अंग होते हैं

  1. मुख्य स्मृति,
  2. कगणितीय एवं तर्क इकाई,
  3. नियन्त्रण इकाई।

प्रश्न 5.
निवेश उपकरण क्या है? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
निवेश उपकरण–ये वे उपकरण हैं जिनके माध्यम से कम्प्यूटर में आँकड़ों का निवेश किया जाता है।
निवेश उपकरण हैं

  1. फ्लॉपी डिस्क
  2. चुम्बकीय टेप
  3. विचेस्टर डिस्क
  4. कुंजी पटल
  5. आँकड़े
  6. टर्मिनल
  7. मैग्नेटिक इंक केरेक्टर रिक्गनीशन (M.I.C.R.)
  8. ऑप्टीकल मार्क रिक्गनीशन (O.M.R.)।

प्रश्न 6.
कम्प्यूटर की केन्द्रीय संगणना इकाई के प्रमुख अंग मुख्य स्मृति के कार्यों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:
मुख्य स्मृति के कार्य-यह CPU का सबसे महत्त्वपूर्ण एवं प्रमुख अंग है। इसे आन्तरिक स्मृति या प्राथमिक स्मृति भी कहा जाता है। इसके तीन प्रमुख कार्य होते हैं

  1. निवेश किए गए आँकड़ों और निर्देशों का भण्डारण करना।
  2. नियन्त्रण इकाई तथा अंकगणितीय एवं तार्किक प्रभाग के आँकड़े व सूचनाएँ पहुँचाना।
  3. नियन्त्रण इकाई तथा अंकगणितीय एवं तार्किक प्रभाग द्वारा परिणाम के रूप में उत्पन्न आँकड़ों का पुनः भण्डारण करना।

प्रश्न 7.
निर्गम उपकरण क्या है? स्पष्ट कीजिए।
उत्तर:
ये वे उपकरण होते हैं जिनके माध्यम से हमें परिणाम प्राप्त होते हैं। ये उपकरण मानव और मशीन (कम्प्यूटर) के मध्य कड़ी का कार्य करते हैं। इनके बिना सूचनाएँ, आँकड़े, दस्तावेज कागज पर मुद्रित होकर हमारे हाथ में नहीं आ सकते। सर्वाधिक प्रचलित निर्गम उपकरण निम्नलिखित हैं

  1. मॉनीटर
  2. प्रिन्टर,
  3. कम्प्यूटर निर्गम सूक्ष्म फिल्म
  4. चुम्बकीय डिस्क
  5. फ्लॉपी डिस्क
  6. डाटा टर्मिनल
  7. ग्राफ प्लॉटर।

प्रश्न 8.
कम्प्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में सम्बन्ध का उल्लेख कीजिए।
उत्तर:
कम्प्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में सम्बन्ध–’हार्डवेयर’ शब्द का प्रयोग उन सभी यन्त्रों और उपकरणों के लिए किया जाता है जो इलेक्ट्रॉनिक डाटा संगणना प्रक्रिया में शामिल होते हैं और सॉफ्टवेयर उन कार्यक्रमों और निर्देशों के समूह को कहा जाता है जिनके आधार पर संगणना प्रक्रिया पूरी होती है। ये दोनों चीजें एक-दूसरे से अलग होते हुए भी एक-दूसरे की पूरक हैं। एक के बिना दूसरे का कार्य नहीं चल सकता। यदि सॉफ्टवेयर न हो तो हार्डवेयर मात्र लोहे और प्लास्टिक के कल-पुर्जे हैं। इसी प्रकार हार्डवेयर यदि न हो तो सॉफ्टवेयर का प्रयोग कहाँ किया जाएगा?

मौखिक प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न 1.
कम्प्यूटर क्या है?
उत्तर:
कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक युक्ति/मशीन है, जिसका उपयोग विशाल मात्रा में आँकड़ों के भण्डारण – और असंसाधित आँकड़ों को सार्थक सूचनाओं (ज्ञान) में बदलने के लिए किया जा सकता है।

प्रश्न 2.
कम्प्यूटर की कोई दो विशेषताएँ बताइए।
उत्तर:

  • गति एवं
  • परिशुद्धता।

प्रश्न 3.
कम्प्यूटर की कोई दो कमियाँ बताइए।
उत्तर:

  • कम्प्यूटर में स्वयं निर्णय लेने की क्षमता नहीं है।
  • कम्प्यूटर की बुद्धिलब्धि (I.Q.) शून्य होती है।

प्रश्न 4.
कम्प्यूटर के हार्डवेयर घटक में शामिल कोई दो भाग बताइए।
उत्तर:

  1. निवेशी साधन एवं
  2. बहिर्वेशी साधन।

प्रश्न 5.
कोई दो बहिर्वेशी उपकरण (कम्प्यूटर) बताइए।
उत्तर:

  1. मॉनीटर एवं
  2. प्रिन्टर।

प्रश्न 6.
कम्प्यूटर की कोई दो निवेश युक्तियाँ लिखिए।
उत्तर:

  • कुंजी पटल एवं
  • माउस।

प्रश्न 7.
कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है?
उत्तर:
कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर एक लिखित क्रमादेश है जो स्मृति में संगृहीत है। प्रयोक्ता द्वारा किए गए निर्देशानुसार यह विशिष्ट क्रियाएँ सम्पन्न करता है।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1.
कम्प्यूटर की प्रमुख विशिष्टता है
(a) क्षमता
(b) भण्डारण
(c) गति
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

प्रश्न 2.
कम्प्यूटर का प्रमुख भाग है
(a) मॉनीटर
(b) सी०पी०यू०
(c) माउस
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

प्रश्न 3.
कम्प्यूटर का निवेश उपकरण है
(a) फ्लॉपी डिस्क
(b) चुम्बकीय टेप
(c) कुंजी पटल
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

प्रश्न 4.
सी०पी०यू० का अंग है
(a) मुख्य स्मृति
(b) अंकगणितीय एवं तर्क इकाई
(c) नियन्त्रण इकाई
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

प्रश्न 5.
स्थानिक आँकड़ों का अभिलक्षण है
(a) बिन्दु
(b) रेखाएँ
(c) बहुभुज
(d) उपर्युक्त सभी।
उत्तर:
(d) उपर्युक्त सभी।

UP Board Solutions for Class 12 Geography

Leave a Comment